अजान के लाउडस्पीकर की ध्वनि से परेशानी, थाना प्रभारी ने सिटी मजिस्ट्रेट को लिखा पत्र

ध्वनि प्रदूषण की जांच के लिए सिटी मजिस्ट्रेट को लिखा पत्र, जांच के दिए निर्देश

By:

Published: 13 Mar 2018, 10:19 AM IST

आगरा। यूपी सरकार ने हाईकोर्ट के फैसले के चलते धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटवा दिए। उन्हीं स्थलों पर लाउडस्पीकर लगे हैं, जिन्होंने इजाजत ले रखी है। आगरा में थाना मंटोला क्षेत्र के सदर भट्टी में अजान का लाउडस्पीकर लोगों को परेशान कर रहा है। इसकी ध्वनि की जांच के लिए थाना प्रभारी ने शिकायती पत्र जिला मजिस्ट्रेट को लिखा है। सिटी मजिस्ट्रेट ने इसके लिए जांच के आदेश जारी किए हैं।

 

 

मामला सदर भट्टी क्षेत्र का

मामला सदर भट्टी क्षेत्र का है। यहां अजान के समय लाउडस्पीकर की ध्वनि मानक से अधिक होने से न आस पास के लोगों को परेशानी होती है। वहीं ध्वनि अधिक होने से प्रदूषण भी बढ़ने का खतरा है। कुछ ऐसा ही पत्र लिखा है मंटोला थाना के प्रभारी निरीक्षक का। उन्होंने कार्रवाई करने के लिए सिटी मजिस्ट्रेट दिलीप कुमार त्रिगुणायात को पत्र लिखा है। गौरतलब है कि धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए यूपी सरकार ने हाईकोर्ट के फैसले का पालन किया था, जिसमें 15 जनवरी तक धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने के निर्देश दिए गए थे।

पहली बार आया ऐसा मामला
आगरा शहर में ऐसा पहला मामला है जब किसी ने लाउडस्पीकर के लिए आपत्ति दर्ज कराई है। थाना मंटोला के प्रभारी निरीक्षक ने विगत 25 फरवरी को सिटी मजिस्ट्रेट को एक पत्र लिखकर कहा था कि डाकखाने वाली मजिस्द, सदर भट्टी थाना मंटोला के सामने अजान के समय लाउडस्पीकर की ध्वनि मानक से काफी अधिक रहती है। इससे ध्वनि प्रदूषण बढ़ता है और यहां के रहने वाले लोगों को परेशानी होती है। इस संबंध में उन्होंने सिटी मजिस्ट्रेट से कार्रवाई का अनुरोध किया। सिटी मजिस्ट्रेट ने यूपीपीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी को उच्च न्यायालय के निर्देशों के अनुपालन में जारी शासनादेश को ध्यान में रखते हुए ध्वनि प्रदूषण की जांच करने को कहा है। इस संबंध में एडीएम सिटी और सीओ छत्ता को भी अवगत कराया गया है। ध्वनि प्रदूषण मानकों से अधिक पाए जाने पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा सकती है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned