गुजरात में आज से खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, ज्यादातर अभिभावक असमंजस में

Gujarat, corona, School, college reopen, mask, Ahmedabad 10वीं, 12वीं और यूजी-पीजी फाइनल ईयर की शुरू होगी पढ़ाई

By: nagendra singh rathore

Published: 10 Jan 2021, 11:09 PM IST

अहमदाबाद. गुजरात में सोमवार से एक बार फिर स्कूल और कॉलेज खुलने जा रहे हैं। स्कूलों में जहां 10वीं और 12वीं के बोर्ड परीक्षार्थियों की ऑफ लाइन पढ़ाई शुरू कराई जाएगी वहीं दूसरी ओर कॉलेजों में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के फाइनल ईयर के छात्रों की कक्षाएं लगना शुरू होंगीं। सरकार ने बेशक स्कूल-कॉलेज खोलने के निर्देश दे दिए हों लेकिन बच्चों को स्कूल भेजने लेकर ज्यादातर अभिभावक असमंजस में हैं। वे बच्चों को स्कूल भेजें या नहीं उसकी चिंता उन्हें सता रही है। यही वजह है कि अभी तक ३० से ४० फीसदी अभिभावकों ने ही बच्चों को स्कूल भेजने की सहमति अब तक स्कूलों को दी है।
उधर दूसरी ओर स्कूल-कॉलेजों ने सरकार की ओर से दिए दिशा-निदेश और स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) को ध्यान में रखते हुए क्लासरूम को सेनेटाइज करना, बैंचों की साफ सफाई से लेकर कितने बच्चों को बुलाना है और कैसे बिठाना, पढ़ाना है उसकी तैयारी भी पूरी कर ली है।
कई स्कूलों ने बच्चों को मास्क, सेनेटाइजर देने की तैयारी की है तो कई स्कूलों ने एक बैंच पर एक ही छात्र को बिठाने की व्यवस्था शुरू की है। जिन स्कूलों में बच्चे ज्यादा हैं उनकी तैयारी है कि बारी-बारी से बच्चों को बुलाया जाएगा। ताकि सोशल डिस्टेंसिंग की पालना हो। ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रखी जाएगी,ताकि पढ़ाई ना बिगड़े। ऐसी ही तैयारी कॉलेजों की है।

बहुत कम लोगों की मिली है सहमति
सरकार के दिशा-निर्देशों के साथ सोमवार से स्कूल खोलने की पूरी तैयारी है लेकिन बहुत कम ही अभिभावकों ने अब तक लिखित में बच्चों को स्कूल भेजने की सहमति दी है। सोमवार को सही स्थिति का पता चल पाएगा। सेनेटाइजेशन, थर्मल गन से टैंम्परेचर मापने और सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क की पालना के साथ फिर से पढ़ाई शुरू कराई जाएगी। बच्चों के दिमाग से कोरोना का भय निकालना जरूरी है। सुरक्षा तो रखी ही जा रही है।
-एम डी यादव, प्राचार्य, रघुनाथ हिंदी हाईस्कूल, बापूनगर

बच्चों को देंगे मास्क, सेनेटाइटर
सोमवार से स्कूल शुरू करने की पूरी तैयारी है। बच्चों को स्कूल की ओर से ही मास्क और सेनेटाइजर दिया जाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए गोले बनाए गए हैं। टैंपरेचर गन से तापमान मापने के बाद प्रवेश दिया जाएगा। मेरे स्कूल के ज्यादातर बच्चों के अभिभावकों ने लिखित में मंजूरी दे दी है। उन्हें विश्वास है। उसी हिसाब से ही हमारी तैयारी भी है।
-महेन्द्र सिंह जांगिड़, न्यासी, तरवेणी इंग्लिश हाईस्कूल, राणिप


चल रही हैं परीक्षाएं 18 से खोलेंगे सीबीएसई स्कूल
सीबीएसई बोर्ड से संबद्ध स्कूलों में ज्यादातर में अभी परीक्षाएं चल रही हैं, जिससे हम 18 जनवरी से स्कूल शुरू करेंगे। 30 से ४० फीसदी अभिभावकों ने लिखित में मंजूरी भी दे दी है।
-मनन चौकसी, अध्यक्ष,एसोसिएशन ऑफ प्रोग्रेसिव स्कूल

पहले बीए फिर बीकॉ़म की लगेंगी क्लास
सरकार, गुजरात यूनिवर्सिटी के दिशा निर्देशों के साथ फिर से कॉलेज में सोमवार से पढ़ाई शुरू कराई जाएगी। फिलहाल बीए फाइनल ईयर के विद्यार्थियों को बुलाएंगे। अभी जीयू की परीक्षाएं चल रही हैं उनके खत्म होते ही बीकॉम फाइनल ईयर के विद्यार्थियों की भी पढ़ाई कराई जाएगी। एक बैंच पर एक ही विद्यार्थी को बिठाया जाएगा।
-डॉ संगीता घाटे, प्राचार्य, उमिया आट्र्स एंड कॉमर्स कॉलेज, सोला

जीयू परीक्षा के बाद खुलेगा कॉलेज
जीयू की परीक्षाएं अभी कॉलेज में चल रही हैं जिससे सोमवार से कॉलेज शुरू नहीं हो पाएगा। परीक्षाएं खत्म होने के बाद नियमों की पालना करते हुए फिर से यूजी पीजी के निर्णायक वर्ष के विद्यार्थियों के लिए कॉलेज शुरू की जाएगी। ऑनलाइन, ऑफलाइन दोनों ही तरह से पढ़ाई कराई जाएगी।
-डॉ.नीरजा अरुण, प्राचार्य, भवन्स, आरए आट्र्स एंड कॉमर्स कॉलेज, खानपुर

बच्चे को नहीं भेजना चाहती स्कूल
मेरा बेटा उत्कर्ष आनंद निकेतन स्कूल में दसवीं कक्षा में पढ़ता है। मैं अभी अपने बच्चे को स्कूल नहीं भेजना चाहती हूं। क्योंकि परिस्थितियां बिल्कुल विपरीत हैं। जब तक कोरोना संक्रमण समाप्त नहीं होता,तब तक स्कूल भेजना सुरक्षित नहीं है।
-रागिनी मिश्रा, चांदखेड़ा, अहमदाबाद

मैं स्कूल भेजने को तैयार
सरकार ने 10वीं और 12वीं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोल दिए हैं तो हमें भी सरकार के साथ एकजुट होकर पूरी सावधानियों के साथ इस फैसले से जुडऩा चाहिए। अभिभावक और अध्यापकों को भी पूरी सावधानियां बरतें हुए कार्य को निभाना चाहिए। लगातार बच्चों का हौसला बढ़ाना चाहिए। मेरी पुत्री सातवीं कक्षा की छात्रा है। अगर उसे भी स्कूल बुलाया जाता है तो मैं उसे स्कूल भेजने को तैयार हूं।
-सुमित्रा मौर्या, साबरमती हिंदी हाई स्कूल चांदखेड़ा


परिस्थिति नहीं अनुकूल
मेरा पुत्र केंद्रीय विद्यालय में पढ़ता है। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए मैं उसे विद्यालय भेजने के लिए तैयार नहीं हूं।
-वंदना शर्मा, न्यू सीजी रोड अहमदाबाद

सरकार का सही निर्णय
गुजरात सरकार की ओर से कॉलेज को अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए खोलने का निर्णय सही है। अभी सरकार की ओर से नीट, जेईई और अंतिम वर्ष की परीक्षा सुचारू रूप से ली गई है। इसके परिणाम भी अच्छे आए हैं। इसलिए मैं सोमवार से स्कूल और कॉलेज खोले जाने के निर्णय को उचित मानता हूं।
-प्रो.विमल सिंह, हिंदी,आरएचपटेल आर्ट्स एंड कॉमर्स कॉलेज नवा वाडज

गुजरात में आज से खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, ज्यादातर अभिभावक असमंजस में
nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned