Students of Gujarat rise in IIT Gandhinagar आईआईटी गांधीनगर में बढ़ रहे हैं गुजरात के विद्यार्थी

Students of Gujarat rise in IIT Gandhinagar आईआईटी गांधीनगर में बढ़ रहे हैं गुजरात के विद्यार्थी

nagendra singh rathore | Updated: 13 Aug 2019, 07:51:53 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

जेईई एडवांस में सफलता के बाद गृह राज्य की आईआईटी का चयन

 

नगेन्द्र सिंह
अहमदाबाद. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआई) गांधीनगर में गुजरात राज्य के विद्यार्थियों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। बीते अगर तीन साल के आंकड़ों पर गौर करें तो यह संख्या लगातार बढ़ी है।
ये आंकड़ा ४० को पार कर गया है। जेईई एडवांस प्रवेश परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के बाद गुजराती विद्यार्थी गृह राज्य की आर्ईआईटी का चयन कर रहे हैं। इसकी वजह विद्यार्थी संस्थान में विद्यार्थियों को दी जा रही स्वतंत्रता, बेहतर माहौल है।
आईआईटी गांधीनगर में वर्ष २०१९-२३ में २०३ विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया है, जिसमें से ४२ विद्यार्थी गुजरात से हैं। वर्ष २०१८ की बात करें तो प्रवेश लेने वाले १८७ विद्यार्थियों में से ३७ गुजरात के थे। जबकि वर्ष २०१७ में १७४ विद्यार्थियों में गुजरात के विद्यार्थियों की संख्या ३४ थी।
सूत्रों का कहना है कि वर्ष २०१६ की तुलना में इस साल आईआईटी गांधीनगर में प्रवेश पाने में सफल होने वाले गुजरात के विद्यार्थियों की संख्या दो गुना तक बढ़ गई है। वर्ष २०१६ में १८२ विद्यार्थियों ने संस्थान में प्रवेश लिया था, जिसमें गुजरात के विद्यार्थियों की संख्या १८ ही थी।
आईआईटी गांधीनगर में प्रवेश पाने वाले विद्यार्थियों की प्रदेश के आधार पर तुलना की जाए तो पड़ोसी प्रदेश राजस्थान के विद्यार्थियों की संख्या दो सालों से सबसे ज्यादा है। वर्ष २०१९ में २० राज्यों से जबकि वर्ष २०१८ में 18 राज्यों के विद्यार्थियों ने संस्थान में प्रवेश पाया था।

गृह राज्य में मिले अवसर को भुना रहे गुजरात के विद्यार्थी
आईआईटी में देश के विभिन्न राज्यों के विद्यार्थियों की संख्या बढ़ रही है। इस वर्ष २०१९ में २० राज्यों के विद्यार्थियों ने आईआईटी गांधीनगर में प्रवेश लिया है। यदि बात करें गुजरात के विद्यार्थियों के बढऩे की तो बीते कुछ सालों से ये लगातार बढ़ रही है। वे अपने गृह राज्य में मिले बेहतर अवसर को भुनाने में लगे हैं। इस साल प्रवेश पाने वाले विद्यार्थियों में दूसरी सबसे ज्यादा संख्या गुजरात के विद्यार्थियों की है। पड़ोसी प्रदेश राजस्थान के विद्यार्थी इस साल भी सबसे ज्यादा हैं।
-प्रो.प्रतीक मूथा, डीन, अकादमिक, आईआईटी गांधीनगर

विद्यार्थियों को है ज्यादा स्वतंत्रता
उनकी पहली चॉइस आईआईटी गांधीनगर ही थी। क्योंकि संस्थान विद्यार्थी केन्द्रित है। यहां विद्यार्थियों को काफी स्वतंत्रता है, उन्हें अपनी ब्रांच भी बदलनी है तो उसमें भी विद्यार्थी के हित को तवज्जो दी जाती है। फिर वे अपने गृह प्रदेश में भी रह रहे हैं।
-निनाद शाह, प्रथम वर्ष बीटेक छात्र

बेहतर माहौल
आईआईटी गांधीनगर की बेहतर बात ये है कि यहां पर विद्यार्थियों को ज्यादा आजादी है। छात्र-छात्राओं को उनके मन के मुताबिक हुनर को निखारने का मौका दिया जाता है। संस्थान में शिक्षा का माहौल और होस्टल का वातावरण भी बेहतर है। कानून एवं व्यवस्था में भी गुजरात काफी अच्छा राज्य है।
-श्रुति कतपरा, द्वितीय वर्ष बीटेक छात्रा

वर्ष कुल छात्र गुजरात के छात्र
२०१९- २०३ ४२
२०१८-१८७ ३७
२०१७-१७४ ३४

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned