Corona lock down: श्रमिक एक्सप्रेस से हुए बिहार रवाना, किया शुक्रिया अदा

ये लॉकडाउन के कारण अजमेर में अटके हुए थे।

By: raktim tiwari

Published: 10 May 2020, 03:21 PM IST

अजमेर. दरगाह बाजार और आसपास के इलाकों में रुके बिहार के जायरीन और श्रमिकों को रविवार को श्रमिक एक्सप्रेस से रवाना किया गया। ये लॉकडाउन के कारण अजमेर में अटके हुए थे।

दरगाह बाजार से जायरीन और श्रमिकों को बसों से रेलवे स्टेशन भेजा गया। यहां सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करते हुए उनकी जांच की गई। इसके बाद इन्हें एक-एक कर ट्रेन में बैठाया गया। अजमेर के एसपी कुंवर राष्ट्रदीप और प्रभारी सचिव भवानी सिंह देथा भी मौजूद रहे।

मीडिया को नहीं प्रवेश
स्टेशन परिसर में मीडिया कर्मियों को अंदर नहीं प्रवेश दिया गया। कोरोना संक्रमण का रेड जोन होने और सुरक्षा कारणा्ें से ऐसा किया गया। जायरीन ने रवाना होते वक्त शुक्रिया अदा किया।

Read More: राजस्थान के इस हॉटस्पॉट ने बढ़ाई टेंशन, बढ़ता ही जा रहा संक्रमण फैलने का दायरा

फीस माफ और अगली कक्षाओं में प्रमोट करने की मांग

अजमेर. राज्य में कोरोना संक्रमण बढऩे के कारण एनएसयूआई और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने राजभवन और सरकार को पत्र भेजा है। एनएसयूआई ने विद्यार्थियों को अगली कक्षाओं में प्रमोट करने और अभाविप ने फीस और कमरों का किराया माफ करने का आग्रह किया है। जिलाध्यक्ष नवीन सोनी ने बताया कि कोरोना संक्रमण से कई जिले रेड जोन में है। कोरोना संक्रमित केस लगातार बढ़ रहे हैं।

Read More: सैल्यूट: कोरोना संक्रमित गर्भवती महिला का सिजेरियन प्रसव कर नवजात की बचाई जान

कई कॉलेज और यूनिवर्सिटी में क्वॉरेंटीन सेंटर बने है। विद्यार्थियों की परीक्षाएं कराना आसान नहीं है। ऐसी स्थिति में विद्यार्थियों को बोनस अंक देकर अगली कक्षाओं में प्रमोट करना चाहिए। इसी तरह अभाविप के महानगर मंत्री आशुराम डूकिया ने बताया कि कई विद्यार्थी किराए के कमरों में रहते हैं। आर्थिक स्थिति के चलते वे किराया और फीस नहीं चुका सकते हैं। अभिभावकों की आर्थिक स्थिति भी प्रभावित है। सरकार और राजभवन को फीस और किराया माफ करने के आदेश जारी करने चाहिए।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned