#CORONAVIRUS: अस्पताल में भी कोरोना संदिग्ध से दूरी, फर्श पर लेटाए रखा


एंबुलेंस कर्मी भी स्ट्रेचर के लिए आधा घंटे करते रहे इंतजार

Preeti Bhatt

26 Mar 2020, 03:29 PM IST


अजमेर . कोरोना संदिग्ध के नाम से ही अस्पताल में चिकित्सक हों चाहे नर्सिंग कर्मी मरीज से दूरी बनाने का प्रयास करने लग गए हैं । जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में आर्थोपेडिक विभाग में बनाई आइसोलेशन की नई ओपीडी में बुधवार शाम करीब 3.30 बजे दो एंबुलेंस में कोरोना संदीप मरीज पहुंचे । इनमें से एक अजमेर के पंचशील नगर तथा दूसरा मसूदा क्षेत्र का निवासी था । मसूदा के युवक को तो तुरंत भर्ती कर लिया गया जबकि पंचशील से लाए गए मरीज को लेकर एंबुलेंस कर्मी अस्पताल के गेट पर खड़े हो गए । अंदर जाकर ट्रॉली व स्ट्रेचर लाने के लिए चिकित्सक व स्टाफ से कहा । लेकिन कोई वार्ड बॉय नहीं पहुंचा । करीब 25 मिनट बाद वे खुद एंबुलेंस की स्ट्रेचर पर मरीज को उठाकर अंदर ले गए । जहां तुरंत भर्ती नहीं करने पर उसे जमीन पर ही लेट आना पड़ा । चिकित्सकों ने भी जांच कर पर्ची पर दवा लिखी और आइसोलेट का परामर्श दिया ।


अव्यवस्थाएं जल्द हों दुरूस्त
आइसोलेशन वार्ड में मरीजों को लाने ले जाने के लिए अभी तक कोई व्यवस्था नहीं की गई है । स्ट्रेचर भी यहां नजर नहीं आई जबकि इन मरीजों को तत्काल चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने की जरूरत होती है। और उन संदिग्ध रोगियों को लाने ले जाने वाले वार्ड बॉय को भी किट उपलब्ध कराने की जरूरत है।

Preeti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned