Fire in Ajmer: कृषि उपज मंडी में धधकी बारदाना की दुकानें

80 लाख रुपए की बोरियां-कट्टे और बारदाना जलकर खाक हो गया।

By: raktim tiwari

Updated: 24 May 2020, 07:59 AM IST

अजमेर.

ब्यावर रोड कृषि उपज मंडी में रविवार सुबह बारदाना की दुकानें धधक उठी। आग पर काबू पाने के लिए नगर निगम की 10 से ज्यादा दमकलकर्मियों और सिविल डिफेंस टीम को काफी मशक्कत करनी पड़ी। करीब 6 से ज्यादा दुकानों में लगी आग से 80 लाख रुपए की बोरियां-कट्टे और बारदाना जलकर खाक हो गया। प्रारंभिक तौर पर आगजनी शॉर्ट सर्किट से होना सामने आई।

ब्यावर रोड कृषि उपज मंडी में गेहूं की दुकानें और गोदाम हैं। यहां गेहूं की बोरियां, जूट का बारदाना, प्लास्टिक के कट्टे रखे हैं। रविवार सुबह 5.30 बजे पल्लेदारों और व्यापारियों को अचानक दुकानों में आग और धुआं उठता दिखा। आग नेकरीब 6 दुकानों को चपेट में ले लिया। आसपास के दुकानदारा और पल्लेदार बचाव मे जुटे, लेकिन आग की तेज लपटों के चलते प्रयास सफल नहीं हुए।

लगातार मंगवानी पड़ीं फायर ब्रिगेड
सूचना मिलने पर तत्कालफायर ब्रिगेड मौके पर पहुंची। फायर ऑफिसर गौरव तंवर और अन्य अग्निमशन कार्मिकों ने तेज रफ्तार से पानी फेंककर आग बुझाया। बारदाना और गेहूं को बोरियों के लगातार सुलगने से दस से ज्यादा दमकल मंगवानी पड़ीं। सिविल डिफेंस की टीम ने भी मोर्चा संभाल लिया। रामगंज पुलिस थानाधिकारी नरपत सिंह चारण और अतिरिक्त जाप्ता भी डटा रहा। हवा चलने से बारदाने और बोरियों में लगी आग बुझाने में फायर ब्रिगेड को जूझना पड़ा।

तप उठे गोदाम-दुकानें
आगजनी से कृषि उपज मंडी की गोदाम और दुकानें भट्टी की तरह तप उठी। दुकानदार, पल्लेदार, श्रमिक इससे सहमे दिखे। आग बुझने के बाद भी दुकानों से काला गुबार उठता रहा। भीषण आग के चलते तपन और गर्माहट भी हो गई। पुलिसकर्मी लोगों को दुकान के आसपास से दूर रहने की हिदायत देते रहे। आगजनी की घटना पर लोग तरह-तरह के कयास लगाते रहे।

मौके पर पहुंचे दुकानदार
कृषि उपज मंडी के दुकानदार और उनके रिश्तेदार तत्काल मौके पर पहुंच गए। व्यापारियों ने करीब 90 लाख रुपए का नुकसान बताया है। वास्तविक आकलन नहीं किया गया है। आग का प्रारंभिक कारण शॉट सर्किट होना सामने आया। प्रशासनिक जांच में ही वास्तविक कारण सामने आएंगे।

लगी थी ऑयल फैक्ट्री में आग
बीते साल 1 जून को ब्यावर रोड अनाज मंडी में तेल गोदाम धधक उठा था। इससे लाखों रुपए के तेल के पीपे जलकर खाक हो गए। इसमें 40 से ज्यादा दमकलों को कड़ी मशक्कत के बाद आग बुझाने में कामयाबी मिल पाई थी। अनाज मंडी में तेल गोदाम होने को लेकर कई सवाल भी उठे थे। मालूम हो कि ऐसी मंडी में कोई ज्वलनशील पदार्थ नहीं रखे जाते हैं। इससे पहले एक निजी कार कंपनी के टायर प्लांट में भी आग लग गई थी।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned