तालाब में मकान. . .चरागाह में प्लॉटिंग!

माकड़वाली तालाब में बेखौफ कब्जा

By: bhupendra singh

Published: 12 Feb 2021, 08:34 PM IST


भूपेन्द्र सिंह

अजमेर. अजमेर विकास प्राधिकरण ada व नगर निगम nagar nigam की जमीन पर बेखौफ कब्जा कर रहे भू-माफिया अब चारागाह भूमि तथा तालाब को भी नही बख्श रहे। इन पर लगातार कब्जे हो रहे हैं। नारेली, गुवारणी, हाथीखेड़ा, जनाना अस्पताल के आसपास, कायड़ व घूघरा मे ंसरकारी जमीन पर कब्जा कर अवैध निर्माण किया जा रहा है। अतिक्रमण का ताजा मामला सामने आया है माकड़वाली ग्राम makadvali पंचायत से लगती चारागाह भूमि व माकड़वाली तालाब की भूमि पर। बेखौफ भू-माफिया यहां अवैध रूप से कॉलोनी काट रहा है। इसके साथ ही यहां धड़ल्ले से अवैध निर्माण जारी है। कोई चारदीवारी बना रहा है तो कोई मकान निर्माण में जुटा है। यह जमीन अजमेर विकास प्राधिकरण की ई-ब्लॉक योजना से लगती हुई है।

अवैध निर्माण कर तालाब का बहाव ही रोका

पंचशील, माकड़वाली सहित आसपास के गांव व कॉलोनियों का पानी तथा बारसाती पानी माकड़वाली तालाब में एकत्रित होता है। यह पानी ओवर फ्लो होकर बहते हुए कायड़ तालाब में जाता है। बखौफ अतिक्रमियों ने तालाब के बहाव क्षेत्र में ही मकान निर्माण शुरु कर दिए हैं। पास ही एक बिल्डर फर्म ने ऑफिसर्स कॉलोनों के नाम प्लॉटिंग कर रखी है।चारागाह के रूप में दर्ज है भूमि ग्राम माकड़वाली क खसरा नम्बर 3224 क्षेत्रफल 11.49 हेक्टेयर, खसरा नम्बर 3226/4740 क्षेत्रफल 0.85 हेक्टेयर तथा खसरा नम्बर 3266/4491 क्षेत्रफल 0.33 हेक्टेयर, खसरा नम्बर 3226/4746 क्षेत्रफल 2.10 हेक्टयर है। जमाबंदी के अनुसार यह राजस्व रिकॉर्ड में चारागाह के रूप में दर्ज है। इस भूमि पर तहसील के राजस्व कर्मियों और पंचायत के अधिकारियों की मिलीभगत से कॉलोनी काटने का काम जारी है।

कलक्टर ने दिए जांच के निर्देश

माकड़वाली में चारागाह व तालाब की भूमि पर अतिक्रमण के मामले को जिला कलक्टर प्रकाश पुरोहित ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने तहसीलदार अजमेर प्रीति चौहान को अतिक्रमण हटाने व तहसील के संलिप्त कर्मचारियों की जांच करने के निर्देश दिए है।

read more: बिल नहीं चुकाया, काटे 35 हजार कनेक्शन

bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned