scriptMDSU: Area shorten in Division, savings Increase rapid | MDSU: दायरा सिमटा अजमेर संभाग तक, बचत में है सबसे आगे | Patrika News

MDSU: दायरा सिमटा अजमेर संभाग तक, बचत में है सबसे आगे

मदस विश्वविद्यालय का दायरा अब अजमेर, टोंक, भीलवाड़ा और नागौर जिले तक सिमट गया है।

अजमेर

Published: July 18, 2021 09:07:00 am

अजमेर.

कभी राज्य के सर्वाधिक जिलों की परीक्षाएं कराने वाले महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय का दायरा अब संभाग तक सिमट गया है, लेकिन यह बचत के मामले में राज्य के के दूसरे विश्वविद्यलायों से कहीं आगे है। प्री.बीएड, बीएसटीसी, आरपीएमटी, पीसी-पीएमटी और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के सफल आयोजन और कम खर्चे में कामकाज के चलते यह संभव हुआ है।
savings increase
savings increase
साल 1987 में स्थापित मदस विश्वविद्यालय (तब अजमेर यूनिवर्सिटी) की राज्य में अहमियत रही है। कभी इसका दायरा अजमेर संभाग सहित श्रीगंगानगर, बाडमेर, पाली, जोधपुर, सिरोही, जालौर, बीकानेर, हनुमानगढ़ तक फैला हुआ था। दूरस्थ जिलों की सालाना परीक्षाओं का उत्तरदायित्व इसके जिम्मे था।
अलग हुए बीकानेर-कोटा
राज्य सरकार ने साल 2003 में बीकानेर और कोटा में विश्वविद्यालय अस्तित्व में आए।दस साल पहले जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय का दायरा कैंपस तक सिमटा था। बाद में इसे पाली, जालौर, सिरोही और अन्य जिलों के कॉलेज आवंटित कर दिए गए। इसके बाद मदस विश्वविद्यालय का दायरा अब अजमेर, टोंक, भीलवाड़ा और नागौर जिले तक सिमट गया है।
परीक्षाओं से बनाई साख
मदस विश्वविद्यालय ने साल 1993 से 96, 1997 से 99 और 2004 से 2008 और 2015, 2018 में पीटीईटी सहित बीएसटीसी परीक्षा कराई। इसके अलावा 2006 में पीएमटी, 2016-17 में पीसीपीएमटी परीक्षा का आयोजन किया। इन परीक्षाओं के सफल आयोजन से विश्वविद्यालय की राज्य में साख बनी।
कम खर्चे, बचत पर फोकस
विश्वविद्यालय ने प्रतियोगी परीक्षाओं में कम खर्चे और बचत पर फोकस किया। प्रश्न पत्रों के मुद्रण में पन्नों का बेहतर उपयोग, काउंसलिंग के कम खर्चे और बैंक में समय पर निवेश से विश्वविद्यालय को फायदा हुआ। 2007 में विवि की बचत 100 करोड़ रुपए थी। 14 साल में यह आंकड़ा करीब 450 करोड़ से ज्यादा पहुंच गया है।
फैक्ट फाइल
1987 में हुई थी स्थापना
300 कॉलेज हैं सम्बद्ध
3.50 लाख विद्यार्थियों की कराता है परीक्षाएं
04 जिले जुड़े हैं विवि से

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Azadi Ka Amrit Mahotsav में बोले पीएम मोदी- ये ज्ञान, शोध और इनोवेशन का वक्तपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCorona cases in India: कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए केस, मौत का आंकड़ा 450 के पारराजस्थान में कोरोना को लेकर नई गाइडलाइन जारी,विवाह समारोह में 100 लोगों के शामिल होने की अनुमतिश्रीलंकाई नौसेना जहाज की भारतीय मछुआरों के नौका से टक्कर, सात मछुआरे बाल बाल बचेटीआई-लेडी कॉन्स्टेबल की लव स्टोरी से विभाग में हड़कंप, दो बच्चों का पिता है टीआई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.