मेडिकल कॉलेज विस्तार के लिए कायड़ में आ रही है 24 हेक्टेयर चारागाह भूमि

मेडिकल कॉलेज विस्तार के लिए कायड़ में आ रही है 24 हेक्टेयर चारागाह भूमि

bhupendra singh | Updated: 12 Aug 2019, 06:02:02 AM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

क्षतिर्पूति के रूप में जिला प्रशासन को देनी होगी जमीन
एडीए ने तैयार किया प्रस्ताव

 

अजमेर. कायड़ क्षेत्र में प्रस्तावित मेडीसिटी बनाने/ जेएलएन मेडिकल कॉलेज विस्तार के लिए चिन्हित भूमि में से 24.8120 हेक्टेयर भूमि चारागाह (pasture land) आ रही है। अजमेर विकास प्राधिकरण ( ada) ने चारागाह खाते में दर्ज इस भूमि को हस्तांतरित करने तथा इस भूमि के बदले क्षतिपूर्ति के रूप में अन्य स्थान पर चारागाह के रूप में भूमि दिए जाने का प्रस्ताव तैयार किया है। जल्द ही यह प्रस्ताव जिला कलक्टर(district collector) को भेजा जाएगा। ग्राम कायड़ के खसरा नम्बर 3876 की 6.4248 हेक्टेयर भूमि, खसरा नम्बर 3878/5087 की 1.4600 हेक्टेयर भूमि, 5446/3876 की 1.9500 हेक्टर भूमि, खसरा नम्बर 4002 की 9.2100 हेक्टरयर, 4003 की 0.2900 हेक्टेयर, 4010/4778 की 0.7000 तथा खसरा नम्बर 5452/5087 खसरा नम्बर की 4.7572 हेक्टेयर भूमि किश्म बारानी दर्ज है। प्राधिकरण ने कायड़ के 33 खसरों की भूमि चारागाह के बदले क्षतिपूर्ति के रूप में प्रस्तावित की है। तीन खसरों की भूमि एनएच 89 में आवाप्त (पुष्कर मार्ग बाईपास) है। pasture land turns hurdle in medical college extension

अतिरिक्त जिला कलक्टर ने एडीए के प्रस्ताव पर उसकी अनापत्ति, सभी खसरों की खसरावार मौका रिपोर्ट, यदि निकट भविष्य में कोई योजना प्रस्तावित है तो उसका विवरण,प्रस्तावित खसरों का मास्टर प्लान में उपयोग की जानकारी मांगी है। इसके लिए एडीए को पत्र लिखा गया है।
मेडिकल कॉलेज (medical college) ने मांगी 50 हजार स्कवायर मीटर जमीन

जेएलएन मेडिकल कॉलेज ने एडीए से मेडीसिटी के लिए 50 हजार स्क्वायर मीटर जमीन मांगी है। मेडिसिटी के निर्माण पर 300 करोड़ रुपए खर्च होंगे। चिकित्सा शिक्षा (ग्रुप-1) इसके लिए प्रशासनिक स्वीकृति जारी कर चुका है। मेडिकल कॉलेज के अनुसार वर्तमान में संचालित जेएलएन मेडिकल कॉलेज का स्थान परिवर्तन करने से जेएलएन अस्पताल का विस्तार मेडिकल कॉलेज परिसर में किया जा सकेगा जिससे आजमन को चिकित्सा सुविधाओं में लाभ प्राप्त होगा। वर्तमान में संचालित मेडिकल कॉलेज में 150 छात्र-छात्राओं का प्रतिवर्ष प्रवेश किया जा रहा है जिसकों अब रा’य सरकार से मान्यता प्राप्त होने के बाद 150 से 250 छात्र- छात्राओं का प्रवेश किया जाना प्रस्तावित है।
यह होगा निर्माण

मेडिसिटी में एडमिनिस्टे्रटिव ब्लॉक,कॉलेज बिल्डिंग, कॉलेज कॉउंसिल हॉल, 4 लेक्चर थिएटर, सेंट्रल लाइब्रेरी, 2 एक्जामिनेशन हॉल,ऑडिटोरियम, यूजी बॉय व गल्र्स के लिए हॉस्टल,इन्टर्न बॉय व गल्र्स हॉस्टल, प्रिंसिपल के लिए बंगला, गेस्ट हाउस,बैंक, टेक्नीकल व नॉन टेक्नीकल स्टाफ के लिए क्वार्टर्स, सेंट्रल लैब, सेंट्रल फोटोग्राफिक सेक्शन, सेंट्रल वर्कशाप, सेंट्रल इनसिनेटर प्लांट,मेडिकल एजुकेशन यूनिट/ टे्रनिंग सेंटर, सेंट्रल रिसर्च लैब,आईटी सेल,प्ले ग्राउंड, स्वीमिंग पूल, जिम, वर्कशाप व इलेक्ट्रिक रूम, एसटीपी/ईटीपी,पम्प रूम, एनिमल हाउस,डिपार्टमेंट ऑफ ऑडियो विडियो एआईडी, एनाटोमी, फिजियोलॉजी, बॉयो केमेस्ट्री, पैथोलॉजी, माइक्रो बायोलॉजी, फार्मोकॉलोजी, फॉरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सीकॉलोजी, कम्यूनिटी मेडिसिन, ब्लड बैंक तथा सुविधाओं का निर्माण किया जाएगा।

read more: शहर में 17 अति जर्जर भवन, कभी भी हो सकता है हादसा

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned