script पुष्कर मेड़ता रेलवे लाइन परियोजना : राजस्थान का भारत के इन 4 राज्यों से होगा सीधा सम्पर्क! बढ़ेगा व्यापार, पर्यटन और रोजगार | Pushkar-Merta railway line project will be built soon | Patrika News

पुष्कर मेड़ता रेलवे लाइन परियोजना : राजस्थान का भारत के इन 4 राज्यों से होगा सीधा सम्पर्क! बढ़ेगा व्यापार, पर्यटन और रोजगार

locationअजमेरPublished: Feb 03, 2024 12:55:22 pm

Submitted by:

Ashish sharma

Indian Railway : पश्चिमी राजस्थान को जोड़ने के लिए पुष्कर-मेड़ता रेलवे लाइन प्रोजेक्ट कारगर साबित होगी। पुष्कर एवं मेड़ता के मध्य रेलवे लाइन प्रोजेक्ट से मेवाड़ एवं मारवाड़ की दूरियां भी घट जाएंगी। जिसका सीधा फायदा आम जनता और सरकार को होगा। पुष्कर-मेड़ता रेलवे लाइन प्रोजेक्ट कंप्लिट होने पर पंजाब, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, गुजरात तक सीधा सम्पर्क हो पाएगा। रोजगार और पर्यटन में भी फायदा होगा। इतना ही नहीं पुष्कर रेलवे लाइन के बनने से व्यापार-उद्योग बढ़ेगा।

pushkar-merta_railway_line_project.jpg

पश्चिमी राजस्थान को जोड़ने के लिए पुष्कर-मेड़ता रेलवे लाइन प्रोजेक्ट कारगर साबित होगी। बरसों से पुष्कर से मेड़ता लाइन जोड़ने की मांग के बाद रेलवे की ओर से तकमीना भी बना और मंजूरी भी मिल गई, लेकिन अभी तक इसका कार्य तेजी से आगे नहीं बढ़ पाया है। पुष्कर एवं मेड़ता के मध्य रेलवे लाइन प्रोजेक्ट से मेवाड़ एवं मारवाड़ की दूरियां भी घट जाएंगी।

धार्मिक नगरी पुष्कर रेलवे स्टेशन से मेड़ता लाइन प्रोजेक्ट शुरू होने से धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है, वहीं बिजनेस भी बढ़ेगा। इस लाइन के बनने के बाद समय एवं धन की बचत होगी। आवागमन के साथ मालभाड़े के रूप में भी व्यापारियों, किसानों को राहत मिल सकती है।

पुष्कर मेड़ता रेलवे लाइन परियोजना से बड़े धार्मिक स्थल जुड़ेंगे

पुष्कर मेड़ता रेलवे लाइन परियोजना द्वारा अजमेर के धार्मिक स्थलों के साथ पुष्कर- मीरां नगरी मेड़ता, जोधपुर, नागौर, देशनोक बीकानेर, बाड़मेर का किराड़ू, जैसलमेर का रामदेवरा भी इससे जुड़ जाएगा। यही नहीं खाटूश्याम जी व अन्य धार्मिक स्थल भी इससे जुड़ सकेंगे। इससे धार्मिक पर्यटन को भी बढ़ावा मिल सकेगा। यही नहीं पंजाब, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, गुजरात से सीधा सम्पर्क हो जाएगा।

पुष्कर मेड़ता रेलवे लाइन परियोजना से बढ़ेगा व्यापार-उद्योग

पुष्कर मेड़ता रेलवे लाइन परियोजना से व्यापार-उद्योग बढ़ेगा। खनिज एवं कृषि संबंधी उद्योग का कच्चा माल एक-दूसरे क्षेत्रों में पहुंचाने में मदद मिलेगी। इससे लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

ट्रेंडिंग वीडियो