RPSC: साक्षात्कार में बदला सवाल पूछने का तरीका, अब करना होगा गहन अध्ययन

raktim tiwari

Updated: 20 Oct 2019, 09:28:18 AM (IST)

Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

रक्तिम तिवारी/अजमेर.

राजस्थान में गिद्धों की मृत्यु की मूल वजह और उससे होने वाले आर्थिक नुकसान का आप कैसे आकलन करेंगे...., 1857 की क्रांति का स्वाधीनता संग्राम से ताल्लुक है, इसकी गांधी युग से तुलनात्मक विवेचन करें......यह राजस्थान लोक सेवा आयोग (rpsc ajmer) के नए साक्षात्कार पद्धति का नमूना है। आयोग ने अभ्यर्थियों का संपूर्ण ज्ञान और व्यक्तित्व परखने लिए प्रश्न पूछने के तरीके में बदलाव किया है। इसके चलते अभ्यर्थियों को अब गहन अध्ययन करना जरूरी होगा।

आयोग आरएएस एवं अधीनस्थ सेवा भर्ती परीक्षा सहित कॉलेज लेक्चरर, स्कूल व्याख्याता भर्ती परीक्षा, कृषि, कारागार, कनिष्ठ लेखाकार और अन्य भर्ती परीक्षाओं का आयोजन करता है। परीक्षाएं उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों को साक्षात्कार (interview) के लिए अजमेर बुलाया जाता है। अध्यक्ष और सदस्यों की अगुवाई में साक्षात्कार बोर्ड गठित होता। इसमें विषयवार विशेषज्ञ (experts) भी शामिल होते हैं।

read more: पावर हाउस की कमान महिला इंजीनियरों के हाथ

अब तक साक्षात्कार में सीधे पूछे जाते थे सवाल
...-इसरो ने पहला पीएसएलवी-जीएसएलवी कब लॉन्च किया, इससे भारत पर क्या फर्क पड़ेगा?-पंडित नेहरू को आधुनिक भारत का निर्माता क्यों कहा जाता है?
-देश में किस वर्ष में इंटरनेट की शुरुआत हुई, इससे क्या बदलाव हुए?-विश्व व्यापार संघटन से क्या अभिप्राय है, इसकी शुरुआत क्यों और कैसे हुई?

read more: RPSC: करें विभिन्न भर्तियों के फार्म में संशोधन

आयोग ने अपनाया यूपीएससी का मॉडल
राजस्थानल लोक सेवा आयोग ने साक्षात्कार प्रक्रिया को विश्लेषणात्मक और गहन अध्ययन परक बनाने का फैसला किया है। लिहाजा आयोग ने संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) (यूपीएससी) के मॉडल को अपनाया है। यूपीएससी में आईएएस (IAS)और अन्य भर्तियों में विशेषज्ञ और सदस्य विश्लेषण और तार्किक ज्ञान वाले सवाल (question) पूछते हैं। इसमें अभ्यर्थियों के संपूर्ण ज्ञान की जांच, विषय की समझबूझ, त्वरित समस्या समाधान, प्रशासनिक क्षमता जैसे गुण उजागर होते हैं। आयोग ने भी यही मॉडल अपनाया है।

read more: CBSE: परीक्षाओं के पेपर पैटर्न में हो सकता है बदलाव

अब यह होगा सवाल पूछने का नया तरीका....
-राजस्थान में लगने वाली पेट्रोलियम रिफाइनरी से क्या आर्थिक, सामाजिक लाभ होंगे, क्रूड ऑयल की खरीद-फरोख्त और शोधन के खर्चों और पर्यावरणीय प्रभाव को आप कैसे देखेंगे?
-प्रशासनिक नौकरी के दौरान जिले में आपकी भूमिका क्या वेतन लेने वाले अफसर तक सीमित होगी या संबंधित जिले की आर्थिक, भौगोलिक विकास में भी भागीदार बनेंगे, किसी तनावमुक्त स्थिति में कैसे निर्णय लेंगे?
-भारत में कंप्यूटरीकरण से डिजीटलयुग तक के तकनीकी में क्या अहम बदलाव हुए, भारत जहां मध्यमवर्ग सर्वाधिक है, इससे कितना प्रभावित है, खासतौर पर नौकरियों के परिपेक्ष्य में आप क्या समझते हैं...?

read more: पत्रिका मुद्दा : स्मार्टसिटी अजमेर को चाहिए एक चिल्ड्रन पार्क

साक्षात्कार अंक विभाजित
आयोग ने सौ अंकों के साक्षात्कार को पृथक-पृथक विभाजित किया है। संवीक्षा परीक्षा में प्राप्तांकों का चालीस प्रतिशत भरांक की गणना (40 अंक), अकादमिक के 20 अंक और साक्षात्कार के 40 अंक होंगे। अकादमिक के 20 अंकों का भी वर्गीकरण किया गया है। इसके तहत विशिष्ट योग्यता (75 प्रतिशत), प्रथम श्रेणी, द्वितीय श्रेणी और केवल उत्तीर्ण की श्रेणी शामिल की गई है। सहायक कृषि अधिकारी भर्ती के साक्षात्कार में इसकी शुरुआत हो चुकी है।

read more: Ajmer Dargah News : फूल प्याले के जुलूस में उमड़े आशिकाने हुसैन...देखें वीडियो


आयोग भविष्य के अधिकारी, कार्मिकों की चयनकर्ता संस्था है। साक्षात्कार में सीधे प्रश्न पूछने के बजाय अभ्यर्थी के ज्ञान की गहनता से पड़ताल और विश्लेषण जरूरी है। यूपीएससी में भी यह पैटर्न है। अब सभी साक्षात्कार में यही नवाचार अपनाया जाएगा।
दीपक उप्रेती, अध्यक्ष राजस्थान लोक सेवा आयोग

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned