sri nimbarkteerth: सलेमाबाद अब कहलाएगा श्री निम्बार्कतीर्थ

sri nimbarkteerth: सलेमाबाद अब कहलाएगा श्री निम्बार्कतीर्थ

raktim tiwari | Publish: Aug, 15 2019 09:24:01 AM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

बाड़मेर के मिया का बाड़ा का नाम बदलकर महेशनगर रखा गया है, इसी तर्ज भी सलेमाबाद का नाम भी अब निम्बार्क तीर्थ रखा गया है।

अजमेर. जिले के किशनगढ़ तहसील के ग्राम सलेमाबाद (salemabad )का नाम परिवर्तन कर निम्बार्कतीर्थ करने की कवायद पूरी हो गई है। अखिल भारतीय निम्बाकाचार्य की प्रमुख पीठ स्थापित होने से बरसों से गांव की सरकार की प्रमुख मांग पर राजस्थान सरकार (rajasthan govt) के राजस्व विभाग की सिफारिश पर भारत सरकार ने गजट प्रकाशित कर दिया है। बाड़मेर के मिया का बाड़ा का नाम बदलकर महेशनगर रखा गया है, इसी तर्ज भी सलेमाबाद का नाम भी अब निम्बार्क तीर्थ रखा गया है।


भारत सरकार ने राजस्थान सरकार के राजस्व विभाग की सिफारिश पर 15 गांवों के नाम बदलने की प्रक्रिया शुरू की गई है। राज्य सरकार का राजस्व विभाग गांव के नए नाम को गजट प्रकाशित कर रहा है। गजट प्रकाशित होने के साथ सलेमाबाद को निम्बार्क तीर्थ (nimabark teerth) के रूप में दस्तावेजी नाम मिल जाएगा। ग्रामीणों ने बताया कि यहां के रहने वाले जागीरदार सलीम खान (salim khan) के नाम पर गांव का नाम सलेमाबाद पड़ा था। लेकिन बरसों पूर्व ग्रामीणों की ओर से इस नाम परिवर्तन की आवाज उठाई जारी रही है। वर्ष 1995 में भी इस मांग ने जोर पकड़ा था।
read more: Raksha bandhan: भाईयों की कलाई पर सजने लगी राखी

फरवरी 2017 में ग्रामसभा में सलेमाबाद की जगह श्री निम्बार्कतीर्थ (nimbarka teerth) नाम रखने का ध्वनिमत से प्रस्ताव पारित कर राज्य सरकार को भिजवाया गया। फरवरी 2018 से यह मामला विचाराधीन है। विधानसभा चुनाव से पूर्व भाजपा का बड़ा पेंतरा विधानसभा चुनाव से पूर्व भाजपा (bjp) की ओर से गांवों के नाम परिवर्तन का बड़ा दांव (पेंतरा) माना जा रहा है। प्रदेश के तीन गांवों का नाम परिवर्तन हो चुका है, जबकि 15 के प्रस्ताव हैं।

read more: Kashmir Issue : दरगाह दीवान को पाकिस्तानियों से मिली धमकी, एक ने कहा अब अमरीका सोच समझकर आना


एक मुस्लिम परिवार है गांव में
ग्रामीणों के अनुसार गांव में वर्तमान में एक ही मुस्लिम (muslim) परिवार है। जबकि हिन्दू धर्म की प्रमुख पीठ यहां स्थित है। गांव के पूर्व सरपंच ने बताया कि भारत में यही विडम्बना है कि अखिल भारतीय निम्बार्काचार्य की पीठ एवं हिन्दू (hindu cuumunity) धर्मावलम्बियों का प्रमुख केन्द्र होने के बावजूद बरसों पूर्व रखे सलेमाबाद नाम को परिवर्तन नहीं किया जा रहा है। सरकार को जल्द निम्बार्क तीर्थ नाम रखना चाहिए।

शिक्षा राज्यमंत्री ने भी उठाया था मुद्दा
शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने भी निम्बार्काचार्य श्रीजी महाराज (shriji maharaj) के देवलोकगमन के बाद आयोजित आचार्य पदाभिषेक समारोह में सलेमाबाद की जगह निम्बार्कतीर्थ नाम परिवर्तन का मुद्दा उठाया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned