Rbse:प्रायोगिक परीक्षा को लेकर प्रदेश के सभी केन्द्रों पर पैनी निगाह रखेगा बोर्ड-चौधरी

विशेष उडऩदस्तों के संयोजकों की बैठक, राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर

अजमेर. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की सचिव मेघना चौधरी ने कहा कि राजस्थान बोर्ड परीक्षाओं में पवित्रता और अनुचित साधनों से विहिन बनाने के लिए कटिबद्ध है। बोर्ड दृढ़ प्रतिज्ञ है कि प्रायोगिक परीक्षा को लेकर कोई भी विद्यालय या परीक्षक परीक्षार्थियों पर अनुचित दबाव न बनाए। प्रायोगिक परीक्षाओं के लिए बोर्ड पूरे राज्य के परीक्षा केन्द्रों पर अपनी पैनी निगाह रखेगा। बोर्ड के उडऩदस्ते प्रायोगिक परीक्षाओं के दौरान प्रयोगशालाओं का निरीक्षण कर यह भी सुनिश्चित करेंगे कि इन परीक्षाओं का आयोजन निर्धारित मानकों के अनुरूप हो।

चौधरी मंगलवार को बोर्ड के सभाकक्ष में प्रायोगिक परीक्षाओं के लिए बनाए विशेष उडऩदस्तों के संयोजकों को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों से बोर्ड की ओर से प्रायोगिक परीक्षा के लिए विशेष उडऩदस्ते जिले की प्रत्येक तहसील में विद्यालयों में चल रही प्रायोगिक परीक्षाओं का औचक निरीक्षण कर उसकी रिपोर्ट से उसी दिन बोर्ड को अवगत कराएंगे। निरीक्षण दल के साथ विडियोग्राफ र भी रहेगा जो सम्पन्न हो रही परीक्षा की विडियोग्राफ ी भी करेगा।
बोर्ड के विशेषाधिकारी (परीक्षा) अरविन्द सेंगवा ने विशेष उडऩदस्तों के संयोजकों से कहा कि उनकी भूमिका परीक्षाओं में वहीं है जो चुनाव के दौरान पर्यवेक्षकों की होती है। उडऩदस्ते परीक्षा आयोजन से जुड़ी छोटी से छोटी व्यवस्था की जांंच कर निष्पक्ष होकर अपने कार्य को अंजाम दे। उन्होंने कहा कि सीनियर सैकण्डरी के सूचना प्रौद्योगिकी एवं प्रोग्राम और गृहविज्ञान के प्रायोगिक परीक्षाएं जिला शिक्षा अधिकारियों (माध्यमिक) की ओर से बाह्य परीक्षक नियुक्त कर सम्पन्न कराई जाएगी। शेष अन्य विषयों में बोर्ड स्तर पर परीक्षकों की नियुक्ति की जा चुकी है।

बोर्ड के निदेशक (गोपनीय) जी.के. माथुर ने कहा कि ये उडऩदस्ते के सदस्य फ ील्ड में बोर्ड की आंख, नाक, और कान है। इनकी जिम्मेदारी है कि सैद्धांतिक परीक्षा के समान प्रयोगिक परीक्षाओं की विश्वसनीयता बनी रहे। बोर्ड की नियमित परीक्षार्थियों के लिए प्रायोगिक परीक्षाएं 14 फ रवरी तक पूरे राज्य में सम्पन्न होंगी। प्रायोगिक परीक्षा के दौरान विद्यालय में नियत तिथि को अनुपस्थित रहने वाले परीक्षार्थी की परीक्षा उसी परीक्षक की ओर से उसी विद्यालय में लिए जा रहे अन्य बैच में शाला प्रधान की विशेष अनुमति से कराई जा सकेगी। बोर्ड कार्यालय में नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। प्रयोगिक परीक्षा कन्ट्रोल रूम में दूरभाष नम्बर 0145-2620739 और 2623646 है। यह नियंत्रण कक्ष परीक्षा समाप्ति तक कार्यरत रहेगा। बैठक में वित्तीय सलाहकार आनन्द आशुतोष और उप निदेशक राजेन्द्र गुप्ता भी उपस्थित थे।

CP Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned