scriptMuslim families tell goddess mother's chunari | यूपी का ये है ऐसा कस्बा जहां मुस्लिम परिवार बताते हैं देवी मां की चुनरी, जानिए वजह | Patrika News

यूपी का ये है ऐसा कस्बा जहां मुस्लिम परिवार बताते हैं देवी मां की चुनरी, जानिए वजह

नवरात्रि की शुरुआत शनिवार से हो जाएगा। देवी मां की मंदिरों में पूरे नौ दिन बढ़े ही धूम-धाम और श्रद्धाभाव से पूजा अर्चना होगी। प्रयागराज जनपद में एक ऐसा कस्बा है जहां पर आज भी मुस्लिम परिवार देवी मां की चुनरी बनाते हैं। प्रयागराज जिला मुख्यालय से लगभग 55 किलोमीटर दूर लखनऊ मार्ग पर स्थित लालगोपालगंज कस्बा जरूर चर्चा में आ जाता है।

इलाहाबाद

Published: April 01, 2022 01:02:42 pm

प्रयागराज: नवरात्रि की शुरुआत शनिवार से हो जाएगा। देवी मां की मंदिरों में पूरे नौ दिन बढ़े ही धूम-धाम और श्रद्धाभाव से पूजा अर्चना होगी। प्रयागराज जनपद में एक ऐसा कस्बा है जहां पर आज भी मुस्लिम परिवार देवी मां की चुनरी बनाते हैं। प्रयागराज जिला मुख्यालय से लगभग 55 किलोमीटर दूर लखनऊ मार्ग पर स्थित लालगोपालगंज कस्बा जरूर चर्चा में आ जाता है। यहां हिंदू-मुस्लिम एकता का बेहतरीन नमूना नजर आता है। यहां पर रहने वाले देवी के प्रसाद में चढ़ने वाला कलावा और चुनरी को बनाते हैं।
यूपी का ये है ऐसा कस्बा जहां मुस्लिम परिवार बताते हैं देवी मां की चुनरी, जानिए वजह
यूपी का ये है ऐसा कस्बा जहां मुस्लिम परिवार बताते हैं देवी मां की चुनरी, जानिए वजह
तीन दर्जन से अधिक मुस्लिम परिवार

इस गांव में रहने वाले मुस्लिम परिवार पीढ़ियों से यही काम करते आ रहे हैं। यहां के तीन दर्जन से अधिक मुस्लिम परिवारों की रोजी-रोटी का साधन चुनरी और कलावा है। यहां बनाई गई चुनरी मीरजापुर स्थित मां विंध्यवासिनी, मैहर स्थित शीतला माता, हिमाचल में मां ज्वालादेवी, हरियाणा में मंशा देवी और गुवाहाटी में कामाख्या देवी को चढ़ती है। इसके साथ ही देश के अन्य कोनो में जाती है।
यह भी पढ़ें

उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पूछे गए गजब के सवाल, क्या आप को पता है? पेड़ और 60 का विलोम

इस तरह बनती है चुनरी

आस्था का पर्व नवरात्र को लेकर घरों में तैयारी पूरी कर ली गई है। सुबह से ही मंदिरों में भक्तों का तांता लगा रहेगा। लेकिन आप बता दें कि पूजा की थाली में रखी चुनरी शक्ति का प्रतीक मानी जाती है। लेकिन इन चुनरी को किसने बनाया और वह किस धर्म से होगा इसपर किसी का ध्यान नहीं जाता है। इसीलिए आप बता दें कि लालगोपालगंज में लाल कपड़े को रंगीन सितारों और गोटे से सजाकर चुनरी बनाने वाले हाथ मुस्लिमों की सब्बाग बिरादरी के हैं। चुनरी व कलावा ने यहां तीन दर्जन परिवारों को रोजगार दिया है।
ब्रिटिश काल से बनती है चुनरी

आप को बता दें कि खानजहानपुर, अहलादगंज और इब्राहीमपुर मोहल्लों में चुनरी कलावा बनाने का काम ब्रिटिश भारत में शुरू हुआ था। यह काम आज भी जारी है। चुनरी का ढेर देखकर आप का मन प्रसन्न जरूर हो जाएगा। भोर में चार बजे से रंग चढ़ाने का कार्य होता है और सूरज निकलने से पहले चुनरी सुखाने के लिए धूप में रखी जाती हैैं। परिवार के बच्चों के अलावा महिलाएं भी हाथ बंटाती हैं। महाराष्ट्र से आता है कच्चा सूत और कपड़ा आता है। चुनरी व्यपारी ने कहा कि इस बार 15 दिन पहले से ही डिमांड अधिक है।
यह भी पढ़ें

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 6800 अतिरिक्त सहायक शिक्षकों की नियुक्ति पर रोक लगाने का फैसला सही

700 रुपये तक बेची जाती है चुनरी

छोटा सा कस्बा लालगोपालगंज में 21 से लेकर 700 रुपये तक कीमती चुनरी बनाई जाती है। चुनरी में डिजाइन का काम अधिक होने, कपड़े की क्वालिटी और साइज बढऩे पर दाम बढ़ता है। दूसरे प्रदेशों के व्यपारी नवरात्र से छह माह पहले से ही ऑडर दे देते हैं। ऐसे में सालाना कारोबार एक करोड़ से अधिक होता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

QUAD Summit: अमरीकी राष्ट्रपति ने उठाया रूस-यूक्रेन युद्ध का मुद्धा, मोदी बोले- कम समय में प्रभावी हुआ क्वाड, लोकतांत्रिक शक्तियों को मिल रही ऊर्जाWeather Update: दिल्ली में आज भी बारिश के आसार, इन राज्यों में आंधी-तूफान की संभावनाटाइम मैगजीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट, जेलेंस्की, पुतिन के साथ 3 भारतीय भी शामिलHaj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाआ गया प्लास्टिक कचरे का सफाया करने वाला नया एंजाइमWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हराया‘सिंधिया जिस दिन कांग्रेस छोडक़र गए थे, उसी दिन से उनका बुढ़ापा शुरू हो गया था’गुजरात: निवेशकों से डेढ अरब की धोखाधड़ी कर फरार हुआ कम्पनी मालिक पत्नी सहित गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.