अलवर ईएसआइसी अस्पताल घोटाला: एसीबी की सुस्त जांच के कारण बचे हुए हैं कई भ्रष्टाचारी, सांसद के पीए पेश नहीं हुए

इस मामले में जयपुर एसीबी की जांच काफी सुस्त चल रही है। घोटाले का भंडाफोड़ होने के दौरान ही मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के कुछ अधिकारी/कर्मचारी और अन्य लोगों की संलिप्तता सामने आ गई थी, लेकिन एसीबी एक माह बाद भी इन लोगों के खिलाफ आरोप तय नहीं कर पा रही है।

By: Lubhavan

Published: 21 Jul 2021, 10:12 AM IST

अलवर. ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल अलवर में हुए संविदा भर्ती घोटाले में जयपुर एसीबी की जांच काफी सुस्त रफ्तार से चल रही है। प्रकरण में एक माह बाद भी एसीबी मेडिकल कॉलेज प्रबंधन व अन्य लोगों के खिलाफ आरोप तय नहीं कर पाई है। ऐसे में प्रकरण से जुड़े कई भ्रष्टाचारी गिरफ्तारी से बचे हुए हैं।

अलवर ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में संविदा पर मेडिकल स्टाफ के 108 पदों की भर्ती की जानी थी। जिसका ठेका गुजरात की एमजे सोलंकी कम्पनी को दिया गया। कम्पनी ने मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के साथ मिलीभगत कर 108 में से 80 पदों पर रिश्वत राशि लेकर भर्ती कर दी। जयपुर एसीबी टीम ने 17 जून की रात इस भ्रष्टाचार का भंडाफोड़ करते हुए प्लेसमेंट एजेन्सी एमजे सोलंकी के मालिक मंजल पटेल उर्फ मिनेष पटेल, फील्ड इंचार्ज भरत पूनिया, सुपरवाइजर कानाराम चौधरी और एम्स जोधपुर के सीनियर नर्सिंग ऑफिसर महिपाल यादव को 20 लाख रुपए से अधिक राशि के साथ गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद एसीबी टीम ने अलवर मेडिकल कॉलेज में सर्च ऑपरेशन चलाकर भर्ती से सम्बन्धित दस्तावेजों को जब्त किया। इस मामले में जयपुर एसीबी की जांच काफी सुस्त चल रही है। घोटाले का भंडाफोड़ होने के दौरान ही मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के कुछ अधिकारी/कर्मचारी और अन्य लोगों की संलिप्तता सामने आ गई थी, लेकिन एसीबी एक माह बाद भी इन लोगों के खिलाफ आरोप तय नहीं कर पा रही है।

कॉल डिटेल और बयानों में उलझी एसीबी

संविदा भर्ती घोटाले में एक माह से एसीबी टीम मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के अधिकारी/कर्मचारी और आरोपियों की कॉल डिटेल खंगालने और बयानों में उलझी हुई है। एसीबी की ओर से मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के कई अधिकारी/कर्मचारी और अभ्यर्थियों को जयपुर बुलाकर पूछताछ कर बयान दर्ज कर रही है।

सांसद के पीए कुलदीप को नोटिस भेजा

संविदा भर्ती घोटाले की जांच के लिए जयपुर एसीबी ने अलवर सांसद बालक नाथ के पीए कुलदीप यादव को भी पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है। जानकारी के अनुसार कुलदीप यादव को बयानों के लिए 19 जुलाई को जयपुर एसीबी के समक्ष पेश होना था, लेकिन वह पेश नहीं हुए। कुलदीप ने पेश होने के लिए एसीबी से कुछ समय मांगा है।

अनुसंधान चल रहा है

अलवर ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में हुए संविदा भर्ती घोटाले में अनुसंधान जारी है। आरोपियों और कॉलेज प्रबंधन के कई अधिकारी व कर्मचारियों की कॉल डिटेल खंगाली जा रही है। वहीं, मेडिकल कॉलेज स्टाफ और अभ्यर्थियों को बुलाकर पूछताछ की जा रही है। मामले में कुलदीप यादव को भी पूछताछ के लिए नोटिस भेजा गया है।
- राजपाल गोदारा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, एसीबी, जयपुर।

Show More
Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned