लोकल रूटों पर रोडवेज बसें नहीं मिलने से शिक्षक परेशान

अलवर आगार ने लक्ष्मणगढ़ रूट पर सुबह 6 बजे से चलाई शिक्षकों की डिमांड पर बस, अन्य कई रूटों पर भी बसों के संचालन की दरकार

By: Prem Pathak

Updated: 29 Jun 2020, 12:03 AM IST


अलवर. शिक्षा विभाग की ओर से स्कूलें खोल दी हैं। शिक्षक और स्टाफ आने लगा है, लेकिन कई लोकल रूटों पर स्कूलों के खुलने व बंद होने के समय रोडवेज बस सेवा नहीं होने से दैनिक यात्री शिक्षक परेशान हो रहे हैं। शिक्षकों की डिमांड को देखते हुए अलवर आगार ने अलवर से लक्ष्मणगढ़ रूट पर बस चलाई है, लेकिन अन्य कई रूटों पर भी शिक्षकों के लिए बसों के संचालन की दरकार है।

अलवर आगार के ट्रैफिक मैनेजर सुनील भगवती ने बताया कि जिले के शिक्षकों की डिमांड को देखते हुए सोमवार से सुबह 6 बजे अलवर से लक्ष्मणगढ़, सुबह 8.30 बजे लक्ष्मणगढ़ से अलवर, सुबह 11 बजे अलवर से लक्ष्मणगढ़ और दोपहर एक बजे लक्ष्मणगढ़ से अलवर के बीच बसों का संचालन शुरू किया गया है।
कई लोकल रूटों पर बसों की दरकार

अलवर जिले में हजारों शिक्षक, स्कूल स्टाफ और सरकारी व प्राइवेट नौकरीपेशा लोग ऐसे हैं जो कि अलवर से चिकानी, किशनगढ़बास, तिजारा, टपूकड़ा, भिवाड़ी, जिंदोली, ततारपुर, खैरथल, हरसौरा, सोड़ावास, बर्डोद, बहरोड़, मुण्डावर, बानसूर, मालाखेड़ा, राजगढ़, लक्ष्मणगढ़, कठूमर, खेरली, थानागाजी, एमआईए, रामगढ़, नौगांवा, बड़ौदामेव, गोविंदगढ़ आदि रूटों पर रोजाना यात्रा करते हैं। लेकिन उनके ड्यूटी जाने और आने के समय रोडवेज बसें नहीं होने के कारण उन्हें परेशान होना पड़ रहा है।

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned