अलवर ठेके में आग का मामला: मृतक के परिजनों ने हत्या का मामला दर्ज कराने के अगले दिन लिखा- ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई नहीं चाहते

अलवर के खैरथल में शराब ठेके पर आग लगने के मामले में पीड़ित पक्ष ने लिखित में दिया कि ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई नहीं चाहते।

By: Lubhavan

Published: 27 Oct 2020, 09:22 PM IST

अलवर. खैरथल थाना इलाके के कूमपुर गांव स्थित शराब में ठेके में आग लगने से सेल्समेन की जिन्दा जलकर हुई मौत के मामले में मंगलवार को नया मोड़ आ गया। मृतक के भाई रूपसिंह ने मामले में रविवार को शराब ठेकेदारों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया था वही अगले ही दिन सोमवार को जांच अधिकारी को लिखित में दिया कि वे इस केस में कोई कार्रवाई नहीं चाहते।

मामले में जांच अधिकारी सीओ किशनगढ़ बास को सोमवार शाम मृतक के भाई रूप सिंह ने दी लिखित रिपोर्ट दी कि उसका भाई कमल किशोर कूमपुर स्थित शराब के ठेके पर काम करता था। शनिवार रात कमलकिशोर रात में ठेके के अंदर से ताला लगाकर सो गया। जहां आग लगने से वह जलकर मर गया था। रविवार सुबह शटर तोड़ा तो अंदर ही ताला लगा हुआ था। रविवार को ठेकेदार राकेश व सुभाष मौके पर नहीं आए। इस कारण रिपोर्ट में ठेकेदारों के नाम लिखवा दी। वह इस केस में ठेकेदार सुभाष व राकेश के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं चाहते। वहीं, मामले में अभी पुलिस की जांच जारी है अभी तक मृतक की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट भी नहीं आई है और इससे पहले ही परिजनों ने मामले में राजीनामे के लिए लिखित रिपोर्ट पुलिस को दे दी।

उधर, जांच अधिकारी सीओ किशनगढ़बास ताराचंद का कहना है कि कि मृतक के भाई ने लिखित रिपोर्ट दी है कि वे इस मामले में दोनों ठेकेदार के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं चाहते। पुलिस ने मृतक के परिजनों की ओर से दी गई कार्रवाई नहीं चाहने संबंधी रिपोर्ट को फाइल में शामिल कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned