विधायक बलजीत यादव ने अलवर सांसद महंत बालकनाथ को बताया फर्जी साधू, सांसद बोले- ऐसे व्यक्ति समाज के हित में नहीं

बलजीत यादव में कहा कि सांसद दिमाग से बालक है। बलजीत ने भाजपा के पूर्व मंत्री डॉ. जसवंत यादव को खुली चुनौती देते हुए कहा कि वे बहरोड़ के ग्राउंड मे आजाएं, दो मिनट में बेहोश नहीं कर दिया तो राजनीति छोड़ दूंगा।

By: Lubhavan

Updated: 24 Dec 2020, 07:59 AM IST

अलवर/बहरोड़. नगर पालिका चुनाव में बहरोड़ की राजनीती को लेकर शुरू हुई जुबानी जंग परिणाम के बाद भी जारी है। बहरोड़ विधायक बलजीत यादव का जनता को सम्बोधित करते हुए एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वे सांसद बालकनाथ को फर्जी साधू बताते हुए मैदान में दौड़ लगाने की चुनौती दे रहे हैं। पता लग जाएगा कौन फर्जी है कौन योगी है। दौड़ में पीछे नहीं हटूंगा, चक्कर खिला के पटक दूंगा।

बलजीत यादव में कहा कि सांसद दिमाग से बालक है। बलजीत ने भाजपा के पूर्व मंत्री डॉ. जसवंत यादव को खुली चुनौती देते हुए कहा कि वे बहरोड़ के ग्राउंड मे आजाएं, दो मिनट में बेहोश नहीं कर दिया तो राजनीति छोड़ दूंगा। गौरतलब है कि पालिका चुनाव के दौरान पूर्व मंत्री जसवंत यादव ने विधायक बलजीत यादव को जेबकतरा और लुटेरा बताया था। उन्होंने कहा था कि लठ लेकर आजाए, मैं तो बूढा आदमी हूं, फिर भी दो मिनट में धराशाई करके दिखा दूंगा।


ऐसे व्यक्ति को जवाब देकर जुबान खराब नहीं करूँगा

विधायक के बयान पर सांसद ने कहा कि ऐसे आचरण वाले व्यक्ति पर मै कमेंट नहीं करना चाहता।जैसी उनकी शैली है, वैसे ही उनके विचार हैं। इनके बारे में बोलना तो क्या मैं सोचना भी नहीं चाहता। मेरे पास सारा लेखा-जोखा है कि मैं कहां जाता हूं। हमारी जनता के प्रति जवाबदेही है, जनता पूछेगी तो एक-एक चीज का हिसाब दिया जाएगा। ऐसे व्यक्ति ना तो समाज के हित में हैं। मैं अपनी क्या जुबान खराब करूं, यह भाषा जवाब देने योग्य नहीं है। यह व्यक्ति बोलने के लायक नहीं है। जनता को जवाब देना चाहिए।

मोहित यादव ने विधायक को बताया निम्न स्तर का व्यक्ति

पूर्व मंत्री जसवंत यादव के पुत्र मोहित यादव ने सोशल मीडिया पर विधायक बलजीत यादव पर पलटवार करते हुए उन्हें निम्न स्तर का व्यक्ति बताया। मोहित ने विधायक पर हफ्ता वसूली का आरोप लगाया। मोहित ने कहा कि विधायक ने मेरे परिवार को राजनीती में घसीटने की कोशिश की। मैं भी चाहूं तो आपके परिवार के खिलाफ अपशब्द कह सकता हूं। लेकिन मेरे अंदर मर्यादा है। हिम्मत है तो काम की चिंता कर। तुम्हारे जैसे कई लोग आए और चले गए। तुम जिस पद पर हो, उस पद पर डॉ जसवंत यादव 35 साल पहले पहुंच गए थे। खुली चेतावनी देता हूं, जो हथियार इस्तेमाल करना है, बता दे, तुम्हें समझा दूंगा।

Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned