6 सितम्बर 2019: जब एके-47 की गोलियों से दहला था बहरोड़ थाना, पढ़िए पपला गुर्जर के फरार होने की पूरी कहानी

Papla Gurjar Case Full Story: बहरोड़ थाने से पपला गुर्जर 6 सितम्बर की सुबह फरार हुआ था। बदमाशों ने फिल्मी स्टाइल में एके-47 से ताबड़तोड़ फायरिंग कर उसे लॉकअप से छुड़ा लिया था।

By: Lubhavan

Published: 28 Jan 2021, 04:47 PM IST

अलवर. Papla Gurjar Case Full Story राजस्थान-हरियाणा के मोस्ट वांटेड अपराधी पपला गुर्जर ( Papla Gurjar Arrested ) को आख़िरकार पुलिस ने गिरफ्तार कर ही लिया।पुलिस ने विक्रम उर्फ पपला गुर्जर को 16 माह 22 दिन में गिरफ्तार कर लिया। पपला गुर्जर को कौन नहीं जानता होगा! वही पपला गुर्जर जिसने 6 सितम्बर 2019 के सुबह करीब 8 बजे बहरोड़ पुलिस स्टेशन पर एके-47 से ताबड़तोड़ फायरिंग करवाकर फरार हो गया था।

पपला गुर्जर को बहरोड़ पुलिस ने 5 सितम्बर की देर रात गिरफ्तार किया था, लेकिन 5 घंटे 30 मिनट बाद ही पपला के एक दर्जन साथी बहरोड़ थाने में दाखिल हुए और एके-47 से ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। पुलिसकर्मी इस फायरिंग से सहमकर छुप गए। कई पुलिसकर्मी टेबल के नीचे छिप गए, वहीं एसएचओ पिछले गेट से भाग खड़े हुए। बदमाशों ने फायरिंग कर लॉकअप का ताला तोडा और पपला गुर्जर को लेकर वहां से फरार हो गए।

राजस्थान का मोस्ट वांटेड अपराधी पपला गुर्जर गिरफ्तार, बहरोड़ थाने पर हमला करवा हुआ था फरार

बदमाशों ने कुल 80 राउंड फायर किए थे

पपला गुर्जर को 5 सितम्बर रात साढ़े तीन बजे के करीब बहरोड़ पुलिस ने गिरफ्तार किया। इसके पांच घंटे बाद तीन गाड़ियों में सवार होकर आए एक दर्जन से ज्यादा बदमाशों ने बहरोड़ थाने पर 80 राउंड फायर कर पपला को छुड़ा लिया था। उन्होंने सात मिनट तक फायरिंग की और पपला को लेकर फरार हो गए।

मुंडावर में पहले पिकअप और फिर स्कार्पियो लूटी

बदमाश पपला को छुड़वाने के बाद वहां से मुंडावर की ओर भागे। वहां उनकी कार टकराकर क्षतिग्रस्त हो गई। इसके बाद उन्होंने हथियारों की नोंक पर पिकअप लूटी। 300 मीटर के बाद आगे से स्कार्पियो आती दिखी, तो उन्होंने फिल्मी स्टाइल में स्कार्पियो लूटी और फरार हो गए।

Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned