औद्योगिकरण की आस से पिनान के विकास को लगेंगे पंख

पिनान में होगा दिल्ली-वडोदरा सुपर एक्सप्रेस-वे का उतार चढ़ाव

By: Shyam

Updated: 26 Nov 2020, 06:12 PM IST


अलवर.राजस्थान के कई जिलों से निकलने वाले आठ लेन दिल्ली-वडोदरा एक्सेल कंट्रोल इण्डस्ट्रीयल कोरीडोर सुपर एक्सप्रेस हाइवे (एनएच-१४८ एन) पिनान क्षेत्र के लोगों के लिए नई उम्मीद जगाने लगा है। अलवर जिले की रामगढ़,लक्ष्मणगढ़ व रैणी तहसील होकर निकल रहे इस मार्ग से जहां किसान अपनी जमीन को लेकर चिंतित बने हुए थे वहीं निर्माण की प्रगति से निखरती हाइवे की दशा से लोगों में विकास की आस बनने लगी है।
मिली जानकारी के मुताबिक जिले के पिनान कस्बा सहित रैणी क्षेत्र के करीब बीस गांवों से होकर गुजर रहे आठ लेन एक्सप्रेस की अधिग्रहण जमीन का करीब ८० करोड़ का मुआवजा किसानों को अभी दिया जा चुका है। महानगर से महानगर के औद्योगिकरण को जोडऩे के उददेश्य एवं समय की बचत के उददेश्य से बने एक्सप्रेस से राजस्थान के कई जिलों में औद्योग स्थापित होने की संभावना बनी हुई है। भारतमाला परियोजना प्रेजेक्ट को लेकर एक्सप्रेस निर्माण में जुटी केसीसी बिल्डकॉन कम्पनी के मुताबिक इस मार्ग पर सुरक्षा की दृष्टी से करीब साठ से सत्तर किलोमीटर की दूरी या हाइवे रोड़ क्रोस पॉइन्ट पर उतार चढ़ाव की योजना बनाई गई है। साथ ही पार्किंग,पेट्रोल पंप, टोलप्लाजा, रेस्टोरेन्ट, चिकित्सा सुविधा, एम्बुलेंस आदि की सुविधा रहेगी। सरकार की मनसा के मुताबिक ट्रंासपोर्ट,समय एवं कई जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों के किसानों को इस मार्ग का फायदा होगा। पिनान में उतार चढ़ाव होने के कारण क्षेत्रवासियों को अब पिनान उपतहसील होने की आस जगने लगी है। लोगों का मानना है कि पिनान से होकर निकल रहे अलवर करोली स्टेट हाइवे के साथ जुड़ा एक्सप्रेस हाइवे का क्रांसिंग पॉइन्ट यहां के विकास को दर्शाने लगा है। इससे क्षेत्र के युवाओं को नये रोजगार अवसर मिल सकेंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned