राजस्थान के लाल प्याज पर देश की निगाह, कई राज्यों से खरीददार आए, दाम बढ़ने से किसानों को होगा फायदा

देशभर में राजस्थान के लाल प्याज की डिमांड बढ़ रही है। भाव बढ़ने से किसानों को फायदे की उम्मीद है।

By: Lubhavan

Published: 20 Oct 2020, 10:44 AM IST

अलवर. अलवर जिले के कई भागों से प्याज का अलवर पहुंचना शुरू हो गया है। सोमवार को अलवर मंडी में प्याज के 1500 कट्टों की आवक हुई जबकि इसके भाव कम होने की बजाए बढ़ गए हैं। प्याज के भाव 30 रुपए से 50 रुपए प्रति किलो रहे।

इस बार प्याज गुणवत्ता में अन्य सालों की अपेक्षा में अच्छा बताया जा रहा है। सोमवार को अलवर में अगेती लगाई प्याज आई जिसके चलते इसके भाव भी खूब रहे। आगामी दिनों में यहां प्याज की आवक 30 हजार कट्टों तक पहुंच जाएगी, इसको देखते हुए कृषि उपज मंडी समिति और आढ़ती एसोसिएशन इंतजाम कर रही है।

कई राज्यों के आढ़ती आए अलवर-

अलवर मंडी में अधिक प्याज की आवक कुछ ही दिनों में शुरू होने की संभावना को देखते हुए कई राज्यों के प्याज के बड़े आढ़ती अलवर आ गए हैं। इनमें आसाम, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश के हैं। इस समय यहां का प्याज अलवर की स्थानीय मांग की पूर्ति कर रहा है। एक सप्ताह में अलवर मंडी में प्याज की आवक 15 हजार कट्टों को पार कर जाएगी जिसके बाद अलवर का प्याज बाहर जाने लगेगा। आढ़ती यहां के बाजार का अध्ययन कर रहे हैं जो यहां रुके हुए हैं। बाहर से आए आढ़तियों ने बताया कि इस बार देश के कई राज्यों में प्याज की पैदावार खराब हो गई है, जिसके चलते अब निगाह अलवर के प्याज पर ही है। पिछले साल अलवर में प्याज के थोक भाव 100 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गए थे, इस बार भी इसके भाव कम होने की संभावना कम बताई जा रही है।

पैदावार व गुणवत्ता अच्छी-

कृषि उप निदेशक पीसी मीणा का कहना है कि इस बार अलवर

Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned