scriptRoads made till the top of the hills for illegal mining | अवैध खनन के लिए पहाड़ो की चोटी तक बना दिए रास्ते | Patrika News

अवैध खनन के लिए पहाड़ो की चोटी तक बना दिए रास्ते

जिम्मेदारी की खामोशी के चलते हो रहा अवैध खनन
पहाड़ों में ब्लास्टिंग केेेेेे दौरान आती है मकानों में दरार

अलवर

Published: April 18, 2022 01:25:17 am

अलवर. रामगढ़़ विधानसभा क्षेत्र में खनन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं। रामगढ़ मुख्यालय से महज 3 से 4 किलोमीटर की दूरी में अवैध खनन माफिया ने पहाड़ों की चोटी तक रास्ते बना लिए हैं। खनन व वन विभाग के अधिकारी पहले की तुलना में अवैध खनन कम बता रहे हैं, लेकिन असलियत में अनेक जगह पर अवैध खनन अबाध गति से जारी है। आज भी रामगढ़ क्षेत्र के निकटवर्ती गांव मानकी, गुर्जर खुर्द, ओडेला, करौली, पूठी आदि क्षेत्र की पहाडिय़ों में अवैध खनन धड़ल्ले से हो रहा है। अवैध खनन रोकने की जिम्मेदारी खान, वन, पुलिस, प्रशासन व परिवहन विभाग की है, लेकिन कार्रवाई कागजी साबित हो रही है। यदि अवैध खनन इसी प्रकार चलता रहा तो पहाडिय़ां आंखों से ओझल हो जाएंगी।
अवैध खनन के लिए पहाड़ो की चोटी तक बना दिए रास्ते
अवैध खनन के लिए पहाड़ो की चोटी तक बना दिए रास्ते

गड़बड़ा जाएगा संतुलन
रामगढ़ क्षेत्र अरावली की पहाडिय़ों से घिरा है। पर्यावरण संतुलन में इन पहाडिय़ों का अहम योगदान है, लेकिन अवैध खनन से पर्यावरण संतुलन बिगड़ रहा है। प्रशासन पहाड़ों को बचाने के लिए कोई ध्यान नहीं दे रहा है।
पहाड़ सफाचट, नीचे खुदाई से बन गई झील
रामगढ़ क्षेत्र की पहाडिय़ों को खनन माफिया तेजी से साफ करने में लगे हैं। पट्टाधारक व ठेकेदार जमकर चांदी कूट रहे हैं। खनिज विभाग और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भी आंखें मूंदे बैठा है। अवैध खनन का लंबे अर्से से विरोध कर रहे वहां के रहवासी बताते हैं कि पहाड़ों को सफाचट करने के बाद पट्टाधारक पहाड़ों को 250-300 फीट की गहराई तक खोद दिया है जिससे पानी निकलने से झील बन गई है।

बीमारियों का डर
पत्थर खदानों और क्रेशर में काम करने और इसके आसपास रहने वाले लोग कई तरह की बीमारियों से जूझ रहे हैं। घर के पास से खदान से पत्थर ढोने वाले भारी वाहन दिन-रात कच्ची सडक़ से गुजरते हैं जिससे दिनभर धूल उड़ती रहती है। ये धूल सांस, पानी और भोजन के जरिए शरीर में पहुंचकर बीमार करती है।

पहाडिय़ों की सम्पदा
इन पहाडिय़ों में पत्थर, गिट्टी वाले पत्थर, मिट्टी आदि निकालने, सडक़ बनाने व मकान निर्माण के लिए इन पहाडिय़ों को काटने की होड मची हुई है। जो पहाड़ सुबह के समय ऊंचा दिखाई देता है, अगली सुबह तक तो मशीनें उसे निगल लेती हैं। अवैध खनन से पहाडिय़ों पर रहने वाले वन्यजीवों का पलायन हो रहा है। ग्रामीणों ने अवैध ब्लास्टिंग और खनन को रुकवाने के लिए एसडीएम, जिला कलक्टर और मंत्री को पत्र लिखकर गुहार की है।

चंद पैसों के लिए चली जाती है जान
पहाडिय़ों में ब्लास्टिंग के दौरान चट्टानों के ढह जाने से अनेक मजदूरों व पहाड़ों के इर्द-गिर्द रहने वालों की जान जा चुकी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

BJP राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: PM नरेंद्र मोदी ने दिया 'जीत का मंत्र', जानें प्रधानमंत्री के संबोधन की बड़ी बातेंबिहार में बारिश व वज्रपात से 37 लोगों की मौत, जानिए बिहार में क्यों गिरती है इतनी आकाशीय बिजली?Pegasus Spyware Case: सुप्रीम कोर्ट ने जांच समिति का कार्यकाल 4 हफ्ते बढ़ाया, अब जुलाई में होगी सुनवाईRaj Thackeray Ayodhya Visit: राज ठाकरे की अयोध्या यात्रा स्थगित, पांच जून को रामलला का दर्शन करने वाले थे मनसे प्रमुखRohit Joshi Rape Case: राजस्थान के मंत्री पुत्र ने अब युवती पर लगाया हनीट्रेप का आरोप, हाईकोर्ट में याचिकापाकिस्तानी विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो ने अमरीका में छेड़ा कश्मीर राग, आर्टिकल 370 का भी किया जिक्र, कहा शांति चाहता है पाकिस्तानलालू के ठिकानों पर CBI Raid; सामने आई RJD की पहली प्रतिक्रिया, मात्र 5 शब्द में पूरे सिस्टम को लपेटाअनिल बैजल के इस्तीफे के बाद कौन होगा दिल्ली का उपराज्यपाल? चर्चा में हैं ये 5 नाम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.