scriptShock: Zuber's brother removed from election duty | झटका : जुबेर के भाई को चुनाव ड्यूटी से हटाया | Patrika News

झटका : जुबेर के भाई को चुनाव ड्यूटी से हटाया

locationअलवरPublished: Nov 18, 2023 11:34:41 am

Submitted by:

susheel kumar

जिला निर्वाचन विभाग की ओर से मेवात विकास बोर्ड अध्यक्ष एवं रामगढ़ से कांग्रेस प्रत्याशी जुबेर खान के भाई तैयब खान को चुनाव ड्यूटी से हटा दिया है। तैयब खान यूआईटी में अधीक्षण अभियंता के पद पर कार्यरत हैं। वह चुनाव में किसी प्रकार की दखलअंदाजी नहीं करेंगे। इसकी रिपोर्ट राज्य चुनाव आयोग को भेजी गई है। आगे की कार्रवाई आयोग के जरिए ही होगी। इन पर आरोप लगे थे कि ये चुनाव को प्रभावित कर सकते हैं।

झटका : जुबेर के भाई को चुनाव ड्यूटी से हटाया
झटका : जुबेर के भाई को चुनाव ड्यूटी से हटाया
- रामगढ़ से कांग्रेस प्रत्याशी जुबेर खान के भाई यूआईटी में हैं अधीक्षण अभियंता, दो माह पहले ही यहां ट्रांसफर होकर आए

- जिला प्रशासन ने नोट जब्ती आदि के लिए बनाए गए फ्लाइंग स्क्वाइड में लगाई थी ड्यूटी, राज्य चुनाव आयोग के पास पहुंची थी शिकायत
जिला निर्वाचन विभाग की ओर से मेवात विकास बोर्ड अध्यक्ष एवं रामगढ़ से कांग्रेस प्रत्याशी जुबेर खान के भाई तैयब खान को चुनाव ड्यूटी से हटा दिया है। तैयब खान यूआईटी में अधीक्षण अभियंता के पद पर कार्यरत हैं। वह चुनाव में किसी प्रकार की दखलअंदाजी नहीं करेंगे। इसकी रिपोर्ट राज्य चुनाव आयोग को भेजी गई है। आगे की कार्रवाई आयोग के जरिए ही होगी। इन पर आरोप लगे थे कि ये चुनाव को प्रभावित कर सकते हैं।
ये लगे थे आरोप
यूआईटी में अधीक्षण अभियंता का पद खाली होते ही करीब दो माह पहले तैयब खान यहां ट्रांसफर होकर आए थे। उसके बाद आचार संहिता लगी और चुनाव के लिए ड्यूटी लगाई गई। नोट जब्ती आदि के लिए फ्लाइंग स्क्वाइड बनाए गए थे। उसमें एक दल का प्रभारी अधीक्षण अभियंता को बनाया गया था। हाल ही में राज्य चुनाव आयोग को किसी व्यक्ति ने शिकायत की कि ये चुनाव को प्रभावित कर सकते हैं। इनके भाई रामगढ़ से कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ रहे हैं। वह प्रभाव भी रखते हैं। ऐसे में रामगढ़ क्षेत्र में नोट जब्ती आदि प्रभाव पड़ सकता है। चुनाव में भी वह लाभ पहुंचा सकते हैं।
चुनाव आयोग ने गंभीरता से ली शिकायत, जांच को भेजा यहां

आयोग ने शिकायत को गंभीरता से लिया और जिला निर्वाचन विभाग से इसकी रिपोर्ट मांगी। यहां अधिकारियों ने बिना देरी किए रिपोर्ट आयोग को भेज दी। साथ ही अधीक्षण अभियंता को फ्लाइंग स्क्वाइड की ड्यूटी से हटा भी दिया। आयोग से कहा है कि उनको किसी अन्य चुनाव ड्यूटी में नहीं लगाया जाएगा। आचार संहिता पालन अधिकारी अशोक कुमार योगी का कहना है कि आयोग को रिपोर्ट भेज दी गई है। वहां से जो आदेश आएंगे उसके मुताबिक आगे कार्रवाई होगी।

कुछ अधिकारी व कर्मचारी रडार पर
बताया जा रहा है कि चुनाव आयोग को कुछ और भी शिकायतें लोगों की ओर से सीधे भेजी गई हैं। उनमें एक-दो अधिकारी शामिल बताए जा रहे हैं। उन पर भी यही आरोप लग रहे हैं। वह सीधे चुनाव प्रक्रिया से नहीं जुड़े लेकिन काफी समय से जिले में ही तैनात हैं और अधिकारी अपना प्रभाव रखते हैं। एक अधिकारी पर तो पिछले चुनाव में गंभीर आरोप भी लगे थे, जिनके खिलाफ पत्र भी लिखा गया था। कुछ कर्मचारी भी हैं जो नेताओं को सपोर्ट करने के लिए लगे हैं। हालांकि अभी तक आयोग की ओर से ऐसी कार्रवाई के आदेश नहीं आए हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो