डेढ़ करोड़ से हो रहा अंतरराज्यीय प्रतीक्षा बस स्टैंड का कांक्रीटीकरण, यह देख भाजपा ने दी आंदोलन की चेतावनी

Bus stand: भाजपा मंडल अध्यक्ष व निगम पार्षद ने टेंडर (Tender) की शर्तों के आधार पर कार्य न होने का लगाया आरोप, निगम आयुक्त (Nigam Commissioner) से की शिकायत

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 16 Apr 2021, 11:32 PM IST

अंबिकापुर. अंतरराज्यीय प्रतीक्षा बस स्टैंड (Inter state bus stand) में डेढ़ करोड़ से भी अधिक की लागत से परिसर के कांक्रीटीकरण का काम हो रहा है। लेकिन ठेका कंपनी (Contract Company) द्वारा टेंडर की शर्तों का उल्लंघन कर काम कराया जा रहा है। इससे कार्य की गुणवत्ता पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

इसी मामले को लेकर भाजपा मंडल अध्यक्ष व पार्षद मधुसूदन शुक्ला ने निगम आयुक्त (Ambikapur Nagar Nigam) को ज्ञापन सौंपा है। उन्होंने निर्माण कार्य मापदंड के अनुरूप कराने की मांग की है। ऐसा नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

Read More: निगम के पूर्व के बजट पर महालेखाकार ने जताई आपत्ति, इस सवाल पर बगले झांकने लगे अधिकारी


गौरतलब है कि प्रतीक्षा बस स्टैंड के जर्जर परिसर के कारण पूरे साल भर यात्रियों व बस कर्मचारियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। सबसे बुरा हाल तो बारिश के दिनों में होता था। यहां गड्ढों में पानी भरने से यात्रियों व बस कर्मचारियों को आवागमन में दिक्कत होती थी।

लंबे समय से परिसर के जीर्णोद्धार की मांग की जा रही थी। कुछ माह पूर्व ही निगम (Nagar Nigam) द्वारा बस स्टैंड परिसर के कांक्रीटीकरण हेतु 186.48 लाख की निविदा जारी करने के बाद ठेका कंपनी (Contract company) द्वारा काम भी शुरू कर दिया गया है। लेकिन डेढ़ करोड़ से अधिक की लागत से हो रहे इस कार्य में भी गुणवत्ता के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

ठेका कंपनी द्वारा कार्य में खुली मनमानी की जा रही है व जिम्मेदार मौन हैं। अब इसी मामले को लेकर भाजपा के नगर मंडल अध्यक्ष व पार्षद मधुसूदन शुक्ला ने सवाल खड़े करते हुए निगम आयुक्त को ज्ञापन सौंपा है।

Read More: किराए पर शहर के 3 भवन लेकर नहीं चुकाए 1 करोड़ 10 लाख, निगम ने 7 दिन का दिया समय


टेंडर की ये थी शर्तें
भाजपा पार्षद मधुसूदन शुक्ला ने बताया कि बस स्टैंड परिसर के कांक्रीटीकरण हेतु जिस भी कंपनी को ठेका दिया जाना था, उसके लिए आवश्यक शर्तें निर्धारित की गईं थीं। इसके अनुसार ठेका कंपनी के पास कांक्रीट बैचिंग प्लांट, इलेक्ट्रॉनिक सेंसर पेवर, स्प्रेडर, कन्सॉलिडेटर, कांक्रीट शॉ, फिनिशर, ग्रेडर व अन्य उपकरण अनिवार्य रूप से होने थे।


रात में हो रहा काम, सेंसर पेवर का उपयोग नहीं
शुक्ला ने बताया कि विगत दो माह से बस स्टैंड परिसर (Pratiksha Bus stand) के कांक्रीटीकरण का काम बंद था। लेकिन वर्तमान में लॉकडाउन के दौरान देर रात में कांक्रीटीकरण का काम नियम विरूद्ध हो रहा है। इसमें सेंसर पेवर का उपयोग ही नहीं किया जा रहा है। सत्ता के संरक्षण में निगम के अधिकारी भ्रष्टाचार कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि अगर निर्धारित मापदंड के अनुरूप कार्य नहीं कराया जाएगा तो भाजपा आंदोलन करेगी। ठेकेदार का भुगतान तत्काल रोका जाना चाहिए।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned