America: करारी हार के बाद अब बढ़ सकती हैं ट्रंप की मुश्किलें! राष्ट्रपति पद छोड़ते ही जा सकते हैं जेल

HIGHLIGHTS

  • US Presidential Election Result: कई विशेषज्ञों का कहना है कि ट्रंप के कार्यकाल में हुए कथित घोटालों की जांच से पता चलता है राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देने के बाद ट्रंप पर आपराधिक कार्यवाही की जा सकती है।
  • प्रोफेसर बैनेट गर्शमैन ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप पर बैंक धोखाधड़ी, कर धोखाधड़ी, मंडी लॉन्ड्रिंग, चुनावी धोखाधड़ी जैसे मामलों में आरोप तय किए जा सकते हैं।

By: Anil Kumar

Updated: 12 Nov 2020, 12:10 AM IST

वाशिंगटन। अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव ( US Presidential Election Result 2020 ) भले ही संपन्न हो चुका हो, लेकिन सियासी घमासान लगातार तेज होता जा रहा है। एक ओर डोनाल्ड ट्रंप ( Donald Trump ) अपनी हार स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं और दूसरी तरफ नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन ( Joe Biden ) शपथ लेने की तैयारी कर रहे हैं।

इन सबके बीच अमरीका से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। कहा जा रहा है कि डोनाल्ड ट्रंप के इस्तीफा देने के साथ ही उनकी गिरफ्तारी संभव है। विशेषज्ञों का कहना है कि ट्रंप के खिलाफ कई ऐसे मामले हैं, जिसमें उन्हें पद से इस्तीफा देते ही जेल जाना पड़ सकता है।

आखिर चुनाव हारने के बाद भी पद क्यों नही छोड़ रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप? जानें इसके पीछे की बड़ी वजह

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, कई विशेषज्ञों का कहना है कि ट्रंप के कार्यकाल में हुए कथित घोटालों की जांच से पता चलता है राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देने के बाद ट्रंप पर आपराधिक कार्यवाही की जा सकती है। साथ ही वित्तीय मामलों को लेकर पर मुश्किलें बढ़ सकती है।

अमरीकी कानून के तहत पद पर रहते हुए राष्ट्रपति के खिलाफ मुकदमा नहीं चलाया जा सकता है। ऐसे में ट्रंप के खिलाफ आधिकारिक कार्यों के लिए अभी मुकदमा नहीं चलाया जा सकेगा। यही कारण है कि वे इस कानून का फायदा उठाकर अब तक इन मुश्किलों से बचते रहे हैं।

वित्तीय घाटे का करना पड़ सकता है सामना

अमरीकी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यदि किसी तरह से ट्रंप जेल जाने से बच जाएं तो उन्हें भारी वित्तीय घाटा का सामना करना पड़ सकता है। न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि अगले चार वर्षों में ट्रंप को 30 करोड़ डॉलर से अधिक का कर्ज़ चुकाना है।

डोनाल्ड ट्रंप के आलोचकों का कहना है कि राष्ट्रपति पद पर होने की वजह से वे कानूनी और वित्तीय समस्याओं की कार्रवाई से बचते रहे हैं। अब जब वे राष्ट्रपति नहीं रहेंगे तो उनके मुश्किल के दिन आ सकते हैं। इससे पहले तक ट्रंप के दावा करते आ रहे हैं कि वे अपने विरोधियों और दुश्मनों की साजिशों का शिकार हुए हैं। ट्रंप ने स्पष्ट रूप से अपने खिलाफ लगे तमाम आरोपों से इनकार किया है।

ट्रंप पर चल सकता है आपराधिक मामला

आपको बता दें कि राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देने के बाद ट्रंप पर आपराधिक मामला चलाया जा सकता है। पेस यूनिवर्सिटी में कॉनस्टीच्यूशनल लॉ के प्रोफेसर बैनेट गर्शमैन का कहना है कि इस बात की पूरी संभावना है कहा कि ट्रंप के खिलाफ आपराधिक मामले चलाए जाएंगे।

America: लगातार दूसरी बार राष्ट्रपति बनने के 28 साल का रिकॉर्ड तोड़ सत्ता के शिखर तक पहुंचे जो बिडेन

न्यूयॉर्क में एक दशक तक अभियोक्ता के तौर पर अपनी सेवाएं देने वाले प्रोफेसर बैनेट गर्शमैन ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप पर बैंक धोखाधड़ी, कर धोखाधड़ी, मंडी लॉन्ड्रिंग, चुनावी धोखाधड़ी जैसे मामलों में आरोप तय किए जा सकते हैं।

अब तक ट्रंप प्रशासन पर लगे घोटालों के आरोपों की न्यायिक जांच और महाभियोग से बरी उनके राष्ट्रपति पद पर रहते हुआ। चूंकि न्यायिक विभाग बार-बार ये कहता रहा है कि पद पर रहते हुए ट्रंप पर आपराधिक मुकदमा नहीं चलाया जा सकता है। लेकिन अब संभावना अधिक है कि राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देने के साथ ही ट्रंप की गिरफ्तारी की उलटी गिनती शुरू हो जाएगी।

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned