वेनेजुएला की सेना व इंटेलिजेंस को अमरीका की चेतावनी, सरकार की मदद करने पर भुगतने पड़ेंगे परिणाम

  • वेनेजुएला में सरकार और विपक्ष के बीच सत्ता का संघर्ष जारी है।
  • अमरीका ने वेनेजुएला पर कई तरह के प्रतिंबध लगाए हैं।
  • वेनेजुएला से तेल खरीदने पर अमरीका ने क्यूबा को भी दी चेतावनी।

By: Anil Kumar

Updated: 11 May 2019, 10:48 AM IST

वाशिंगटन। अमरीका ( America ) ने वेनेजुएला की सेना और इंटेलिजेंस पर कुछ पाबंदी लगाते हुए धमकी दी है। दरअसल, अमरीका ने वेनेजुएला की दो कंपनियों जो कि काराकस और हवाना के बीच तेल व्यापार में शामिल है पर प्रतिबंध लगाया है। साथ ही वेनेजुएला की सुरक्षा बल पर भी राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ( Venezuela President Nicolas Maduro ) को समर्थन देने पर रोक लगा दी है। शुक्रवार को अमरीकी ट्रेजर्र ने कहा कि जिन दो कंपनियों पर प्रतिबंध लगा है वह मार्शल आइलैंड और लाइबेरिया में रजिस्टर्ड हैं, साथ ही यह प्रतिबंध दो तेल टैंकरों से भी संबंधित है। दो टैंकर जिसमें पनामा का झंडा लगा था, वेनेजुएला से क्यूबा को तेल ट्रांसपोर्ट करने के आरोप हैं। इस तरह से क्यूबा को तेल भेजना मादुरो को मदद करना है। ट्रेजर्री सचिव स्टीवन टी. मेनुचिन ने दावा किया है कि यदि क्यूबा आगे भी वेनेजुएला ( Venezuela ) की सेना को मदद करने के लिए तेल खरीदता रहता है तो कार्रवाई करेंगे। उन्होंने चेतावनी देते हुए आगे यह भी कहा कि वेनेजुएला की सेना और इंटेलिजेंस, साथ ही साथ जो भी कोई निकोलस मादुरो को मदद कर रहा है, उन्हें इसके लिए गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेगें।

अमरीका: जॉर्जिया में 6 सप्ताह के गर्भ का गर्भपात कराने पर प्रतिबंध, नए कानून को मिली मंजूरी

वेनेजुएला में सत्ता का संघर्ष

बता दें कि वेनेजुएला में सत्ता का संघर्ष चल रहा है। जहां एक ओर राष्ट्रपति निकोलस मादुरो खुद को जनता द्वारा चुने हुए प्रतिनिधि बता रहे हैं और शासन कर रहे हैं, वहीं इसी साल फरवरी में विपक्षी नेता जुआन गुइदो ( Juan Guaido ) ने खुद को वेनेजुएला का राष्ट्रपति घोषित कर दिया था। जुआन गुइदो को अमरीका का समर्थन प्राप्त है। गुइदो ने पिछले हफ्ते भी तख्तापलट ( coup ) करने की कोशिश की थी लेकिन न तो बड़े पैमाने पर सैन्य बलों का समर्थन मिला और न ही भारी संख्या में जनता को समर्थन। बहरहाल, वेनेजुएला में सत्ता का संघर्ष कई वर्षों से चल रहा है और अमरीका निकोलस मादुरो के खिलाफ कार्रवाई करने की रणनीति भी बना रहा है।

 

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned