अमरीका: सीमा सुरक्षा प्रमुख का इस्तीफा, मार्क मॉर्गन होंगे नए चीफ

अमरीका: सीमा सुरक्षा प्रमुख का इस्तीफा, मार्क मॉर्गन होंगे नए चीफ

Mohit Saxena | Publish: Jun, 26 2019 08:58:21 AM (IST) | Updated: Jun, 26 2019 11:26:58 AM (IST) अमरीका

  • Border Security Chief resigns: एक माह पहले ही सैडर्स को ये पद दिया गया था
  • अचानक आए इस इस्तीफे को लेकर ट्रंप प्रशासन भी हैरान

वाशिंगटन। अमरीका के सीमा शुल्क और सीमा सुरक्षा के कार्यवाहक प्रमुख ने मंगलवार को इस्तीफा दे दिया। कार्यवाहक आयुक्त जॉन सैंडर्स ने अमरीकी राष्ट्रपति के कठोर आव्रजन प्रथामिकताओं को लागू करने में अहम भूमिका निभाई थी । अब उनकी जगह मार्क मॉर्गन को लाया जा रहा है।

जॉन सैंडर्स को बीते महीने ही अमरीकी आप्रवासन और सीमा शुल्क प्रवर्तन का कार्यवाहक निदेशक नामित किया गया था। जॉन सैंडर्स ने अपनी विदाई के समय अपने करियर को लेकरपुरानी यादों को ताजा किया। उन्होंने कहा कि मेरी सफलता में सभी का योगदान रहा है। आगे मुझे जो भी जिम्मेदारी मिलेगी, वह उसे ईमानदारी के साथ निभाता रहूंगा।

अमरीका-ईरान तनाव से पैदा हुआ न्यूक्लियर वॉर का खतरा, तबाही के मुहाने पर बैठी है दुनिया

आपातकालीन धन विधेयक को पारित करने का आह्वान

गौरतलब है कि अचानक आए इस फैसले को लेकर ट्रंप प्रशासन भी हैरान है। उनकी जगह मार्क मॉर्गन को लाए जाने की घोषणा दो अधिकारियों ने मीडिया में आकर दी है। मगर इसके कारण को उजागर नहीं किया। पिछले हफ्ते एक साक्षात्कार में, सैंडर्स ने पैसे की कमी का हवाला देते हुए कई योजनाओं के पूरा न होने की समस्या को सामने रखा था। उन्होंने कांग्रेस को संकट को दूर करने के लिए 4.5 बिलियन डॉलर के आपातकालीन धन विधेयक को पारित करने का आह्वान किया था।

 

trump

सीमा-कानून की स्थिति बेहद खराब

उधर वाइट हाउस मे ट्रंप ने कहा कि उन्होंने सैंडर्स के इस्तीफे के लिए नहीं कहा। ट्रंप ने अमरीकी सीमा अधिकारियों का बचाव करते हुए कहा कि कानून की स्थिति बहुत बुरी है और शरण नियम और कानून इतने खराब हैं कि हमारी सीमा पर गश्ती दल के लोग,जो इतने अविश्वसनीय हैं कि उन्हें अपना काम करने की अनुमति नहीं है।

G20 सम्मलेन: अमरीका व चीन समेत 10 देशों के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे पीएम मोदी

ट्रंप प्रशासन को हाल के दिनों में सीमा पर बढ़ रही असुविधाओं को लेकर आलोचनाएं झेलनी पड़ रही हैं। यहां पर लोगों के लिए भोजन व्यवस्था और जरूरी सुविधा का अभाव है। ह्यूमन राइट वॉच का कहना है कि अमरीका यहां पर आ रहे शरणार्थियों को उचित सुविधा नहीं दे रहा है। हाल में एक भारतीय बच्ची की मौत पानी नहीं मिलने के कारण हो गई थी। इसकी मीडिया में जमकर आलोचना हुई।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned