अमरीका ने उत्तर कोरिया के मालवाहक जहाज को किया जब्त, दोनों देशों में तनाव बढ़ने की आशंका

  • अमरीका और उत्तर कोरिया के बीच तनाव बढ़ने की संभावना है।
  • अमरीका ने उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार और मिसाइल परीक्षणों के चलते उस पर कई तरह के अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध लगा रखे हैं।
  • अमरीकी प्रतिबंधों को खत्म करने को लेकर दो बार किम जोंग उन डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात कर चुके हैं।

By: Anil Kumar

Updated: 10 May 2019, 11:24 AM IST

वाशिंगटन। अमरीका और उत्तर कोरिया ( North Korea ) के बीच एक बार फिर से तनाव बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। दरअसल, अमरीका ने गुरुवार को उत्तर कोरिया के एक मालवाहक समुद्री जहाज को पकड़ लिया। अमरीका ने आरोप लगाए हैं कि इस जहाज ने अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंधों का उल्लंघन किया है। जिस जहाज को अमरीका ने जब्त किया है उसका नाम 'द वाइस ऑनेस्ट' है। अमरीका के अटॉर्नी जिओफ्री एस बर्मन ने कहा 'पता चला है कि उत्तर कोरिया भारी मात्रा में कोयला विदेशी खरीददारों तक पहुंचाता है। उन्होंने कहा कि इस तरह से उत्तर कोरिया अपने उपर लगे प्रतिबंधों को तोड़ रहा है, साथ ही भारी मशीनों को आयात करने के लिए 'द वाइस ऑनेस्ट' का इस्तेमाल कर रहा है। यह भी आरोप है कि 'द वाइस ऑनेस्ट' के रखरखाव का खर्चा अमरीकी डॉलर में ही किया जाता था। लिहाजा अब अमरीकी अधिकारियों को सिविल कानून के तहत इस जहाज को जब्त करने का मौका मिला है। बता दें कि अमरीका ( America ) ने उत्तर कोरिया पर कई तरह के प्रतिबंध लगाए हैं।

यह भी पढ़ें: अमरीका ने अफगान शांति प्रक्रिया में भारत के योगदान को सराहा, विशेष दूत खलीलज़ाद ने की तारीफ

इससे पहले भी जब्त हो चुका है यह जहाज

अमरीका के न्यायिक विभाग ने बताया है कि इस मालवाहक जहाज में कोयला जे जाया जा रहा था। जबकि संयुक्त राष्ट्र ( united nation ) ने उत्तर कोरिया पर कोयले के निर्यात पर प्रतिबंध लगा रखा है। उत्तर कोरिया कोयले का सबसे बड़ा निर्यातक देश है। यह पहला अवसर नहीं है जब इस मालवाहक जहाज को जब्त किया गया है। इससे पहले बीते वर्ष 2018 के अप्रैल में इस जहाज को इंडोनेशिया ( Indonesia ) में जब्त किया गया था। तब जहाज में 30 लाख डॉलर का कोयला था। इसके अलावे भी अमरीकी प्रतिबंधों के उल्लंघन के आरोप में उत्तर कोरिया के किसी जहाज को पहले भी जब्त किया जा चुका है। अब इस घटना के बाद से अमरीका और उत्तर कोरिया के बीच फिर से तनाव बढ़ने की पूरी संभावना है।

यह भी पढ़ें: किम जोंग उन की अमरीका को चुनौती, प्रतिबंधों से जल्द उबर जाएगा उत्तर कोरिया

अमरीका और उत्तर कोरिया के बीच तनाव

बता दें कि अमरीका और उत्तर कोरिया के बीच पहले से ही तनाव का माहौल है। अमरीका ने उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार और मिसाइल परीक्षणों के चलते उस पर कई तरह के अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध लगा रखे हैं। लिहाजा अब किम जोंग उन ( Kim jong un ) उन प्रतिबंधों खत्म करने के लिए प्रयास कर रहे हैं। इस सिलसिले में अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( President Donald Trump ) से दो बार मुलाकात भी कर चुके हैं, लेकिन दोनों के बीच वार्ता सफल नहीं रही है। अमरीका चाहता है कि उत्तर कोरिया पहले अपने परमाणु कार्यक्रमों को बंद करे, जबकि उत्तर कोरिया प्रतिबंधों को हटाने की मांग कर रहा है। इनसबके बीच उत्तर कोरिया ने बीते पांच दिन में पांच मिसाइल परीक्षण ( missile test ) कए हैं। उत्तर कोरिया इन परीक्षणों के जरिए अमरीका पर दबाव बनाना चाहता है। हालांकि अब हालिया घटनाक्रम से ऐसी आशंका है कि एक बार फिर से अमरीका और उत्तर कोरिया के बीच तनाव बढ़ने की पूरी संभावना है।

 

 

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Donald Trump
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned