गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा अमेठी, दिनदहाड़े घर में घुसकर युवक को मारी गोली, महिला पर भी हमला

त्तर प्रदेश के अमेठी स्थित अढंनपुर थाना क्षेत्र रविवार को गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा। दिनदहाड़े तीन हमलावरों ने घर में घुसकर 45 साल के युवक पर एक के बाद एक अंधाधुध फायरिंग कर दी।

By: Karishma Lalwani

Published: 11 Jan 2021, 11:35 AM IST

अमेठी. उत्तर प्रदेश के अमेठी स्थित अढंनपुर थाना क्षेत्र रविवार को गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा। दिनदहाड़े तीन हमलावरों ने घर में घुसकर 45 साल के युवक पर एक के बाद एक अंधाधुध फायरिंग कर दी। वहीं, घर में मौजूद परिवार की महिला तक को नहीं बक्‍शा। इसके बाद घर के सामने खड़ी कार के शीशे तोड़कर असलहा लहराते फरार हो गए। मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वहीं हादसे में 45 वर्षीय युवक की मौत हो गई। जबकि परिवार के अन्य सदस्यों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस के मुताबिक, युवक के सिर, जाघ व पैर में गोली लगने से उसकी मौत हुई है।

गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा अमेठी, दिनदहाड़े घर में घुसकर युवक को मारी गोली, महिला पर भी हमला

तू-तकरार के बाद असलहे से दागी गोलियां

अढ़नपुर गांव निवासी सुरेंद्र पांडेय (45) रविवार दोपहर घर के सामने अपनी कार की धुलाई कर रहे थे। इसी बीच तेज रफ्तार बाइक से तीन युवक गुजरे। सुरेंद्र ने उन्हें गली में बाइक धीरे चलाने की सलाह दी। यह बात उन्‍हें नागवार गुजरी और इसी पर दोनों पक्षों के बीच तू-तू मैं-मैं हो गई। सुरेंद्र पांडेय ने बीच बचाव किया तो आरोपी युवकों ने असलहे से उन पर गोलियां दाग दीं। असलहे से लैस हमलावर गोलियां बरसाते हुए घर में घुस गए और जमकर उत्पात मचाया। घर के सामने खड़ी कार के शीशे तोड़ दिए। घर की खिड़की-दरवाजे के शीशे व बाइक भी क्षतिग्रस्त कर दिया।

करीब आधा दर्जन हमलावर सुरेंद्र पांडेय के घर पर असलहे लहराते हुए काफी समय तक तांडव करते रहे। गोली लगने से सुरेंद्र पांडेय, उनकी पत्नी इंद्रावती, भाई सत्येंद्र पांडेय, पुत्र आराध्य पांडेय, अभिषेक पांडेय घायल हो गए। ग्रामीणों की मदद से सभी घायलों को सीएचसी पहुंचाया गया। जहां चिकित्सकों ने सुरेंद्र को मृत घोषित कर दिया। वहीं, सत्येंद्र व आराध्य पांडेय, अभिषेक व इंद्रावती का इलाज चल रहा है।

जमीन कब्जे को लेकर शुरू से था विवाद

मृतक के भतीजे धीरेंद्र पाण्डेय ने बताया कि पड़ोस के रघू का बेटा पहले चाचा से उलझा। फिर घर वालों को लेकर आया और गोली मार दी जिससे कि उनकी मौत हो गई। धीरेंद्र ने बताया कि आरोपियों ने पूर्व में उनकी जमीन पर कब्जा कर उस पर चार कमरे बना रखे हैं। वहीं मुसाफिरखाना सीएचसी के चिकित्सक केके वर्मा ने बताया कि सुरेंद्र को दो गोलियां लगी थीं एक उसकी बाईं तरफ और दूसरे उसके पैर में वो मृत अवस्था में यहां लाया गया था। उन्होंने ये भी बताया कि मृतक के भाई सतेंद्र पाण्डेय हैं उनको भी घायल अवस्था में लाया गया है। उनके सिर में चोट आई है जिनका इलाज किया जा रहा है।

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned