यह महंगी चीजें बाट बनाया जा रहा स्मृति ईरानी की जीत का समीकरण, कांग्रेस बोली- एक दिन के खाने से नहीं बनता कोई पहलवान

Abhishek Gupta

Publish: Nov, 10 2018 06:39:39 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 06:39:40 PM (IST)

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

अमेठी. लोकसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा वैसे-वैसे केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की धड़कन बढ़ने लगी हैं। दिपावली से पूर्व बीजेपी वर्कर्स को उनके द्वारा लुभाने के लिए जहां 10 हजार साड़ियां उपहार की गई थीं, वहीं आज दिपावली के बाद उन्हें पत्रकारों की भी याद आई। आज अमेठी के डाक बंगलें में उनके द्वारा पत्रकारों को भेजा गया दिपावली गिफ्ट उनके प्रतिनिधि द्वारा बांटा गया। इस पर कांग्रेस की ओर से एमएलसी दीपक सिंह का बड़ा बयान आया, उन्होंने कहा कि अमेठी में कहावत है कि एक दिन के खाने से कोई पहलवान नहीं बनता।

2019 में स्मृति ईरानी को अमेठी से उम्मीदवार बनाये जानें की उठी मांग-

जानकारी के अनुसार अमेठी डाक बंगले के कमरा नम्बर 4 में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के प्रतिनिधि विजय गुप्ता ने पत्रकार वार्ता का आयोजन किया था। जहां उनके साथ स्मृति ईरानी के अत्यंत करीबी बीजेपी नेता राजेश मसाला और अमेठी विधायक गरिमा सिंह के प्रतिनिधि अनंत विक्रम सिंह मौजूद थे। इन सभी ने सैकड़ों से अधिक संख्या में मौजूद पत्रकारों को स्मृति ईरानी की तस्वीर लगी पैकेट्स में आई साड़ियां, रेमंड जैसी ब्रांडेड कम्पनी का सफारी सूट और रसगुल्ले गिफ्ट किए। खैर कुछ पत्रकार तो प्रेसवार्ता करके के ही लौट गए। पत्रकारों से वार्ता करते हुए अंनत विक्रम सिंह ने कहा कि राहुल गांधी ने अमेठी की जनता को धोखा दिया है, वोट लेकर संसद पहुंच गये पर यहां के विकास एवं लोगों के विषय में कभी सोचा तक नहीं। ऐसे सांसद को 2019 में अमेठी विदा करेगी और अमेठी के विकास और यहां के लोगों की चिंता करनी वाली स्मृति ईरानी को संसद भेजेगी। अंनत विक्रम सिंह ने कहा कि मैं भाजपा हाई कमान से मांग करता हूं कि 2019 में स्मृति ईरानी को अमेठी से उम्मीदवार बनाये।

बीजेपी वर्कर्स में बटवाई थी 10 हजार साड़ियां-

आपको बता दें कि इससे पूर्व दिपावली और धनतेरस की पूर्व संध्या पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की ओर से लगभग 10 हजार साड़ियां अमेठी में बीजेपी वर्कर्स के घरों की महिलाओं के लिए भेजा गई थीं। ये साड़ियां बूथ अध्यक्ष की महिलाओं, सेक्टर स्तर के पदाधिकारियों, मंडल स्तर के पदाधिकारियों, जिला स्तर के पदाधिकारियों के घर की महिलाओं में बांटा गया था।

इस बार नहीं बचेगी स्मृति ईरानी की जमानत, लड़ाई में दिखने के लिए ये कर रही हैं नौटंकी-

केंद्रीय मंत्री के इस क़दम पर कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह नें जोरदार पलटवार किया। उन्होंने कहा कि साड़ियां, रसगुल्ले से वोट नहीं मिलते, सेवा भाव से वोट मिलते हैं, जो राहुल गांधी करते हैं। सिंह नें कहा कि अमेठी में कहावत है कि एक दिन के खाने से कोई पहलवान नहीं बनता, उसे रोज उसकी खुराक चाहिए होती है। उन्होंने कहा राहुल गांधी सेवा भाव से अमेठी वासियों के हर सुख-दुःख में रोज खड़े रहते हैं। राहुल गांधी का कार्यक्रम सेवा भाव है, इनका कार्यक्रम चुनावी है। इस बार स्मृति ईरानी की जमानत नहीं बचेगी, इस छटपटाहट के कारण लड़ाई में दिखने के लिए ये नौटंकी कर रही हैं। उनके कार्यकर्ता तक उनके कंट्रोल से बाहर हैं। उन्हें लुभाने के लिए साड़ियां तक बांटी थीं।

Ad Block is Banned