चीन ने तिब्बत में दौड़ाई पहली बुलेट ट्रेन, भारतीय सीमा के करीब है ये रेलवे लाइन

इस ट्रेन के जरिए प्रांतीय राजधानी ल्हासा और न्यिंगची को जोड़ने का प्रयास किया गया।

By: Mohit Saxena

Published: 27 Jun 2021, 12:28 AM IST

नई दिल्ली। चीन ने शुक्रवार को तिब्बत के सुदूर हिमालयी क्षेत्र में अपनी पहली बुलेट ट्रेन (Bullet Train) सेवा की शुरूआत कर दी। इस ट्रेन के जरिए प्रांतीय राजधानी ल्हासा और न्यिंगची को जोड़ने का प्रयास किया गया।

Read More: पाकिस्तान के PM इमरान खान ने अमरीका से भारत जैसी दोस्ती की उम्मीद जताई, कहा-बराबरी वाले रिश्ते की है चाहत

ल्हासा-न्यिंगची सेक्शन का उद्घाटन

ये अरुणाचल प्रदेश के करीब तिब्बती सीमावर्ती शहर है। एक जुलाई को सत्तारूढ़ चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (CPC) के शताब्दी समारोह से पहले सिचुआन-तिब्बत रेलवे के 435.5 किलोमीटर लंबे ल्हासा-न्यिंगची सेक्शन का उद्घाटन किया गया।

तिब्बत में दूसरा रेलवे का सेक्शन

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, तिब्बत क्षेत्र में पहली बार इलेक्ट्रिफाइड रेलवे शुक्रवार से खुला। ये ल्हासा को निंगची से जोड़ने वाली बुलेट ट्रेन के रूप में पठारी क्षेत्र में शुरू हुई। किंघई-तिब्बत रेलवे के बाद सिचुआन-तिब्बत रेलवे तिब्बत में दूसरा रेलवे का सेक्शन बनेगा। यह किंघई-तिब्बत पठार के दक्षिण-पूर्व से होकर गुजरेगा। यह भूगर्भीय रूप से दुनिया के सबसे सक्रिय क्षेत्रों में से एक है।

Read More: पूरे बांग्लादेश में लॉकडाउन का ऐलान, वायरस का घातक डेल्टा स्वरूप ढाका में फैला

निर्माण में तेजी लाने का आदेश

नवंबर में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अधिकारियों को तिब्बत में सिचुआन प्रांत और निंगची को जोड़ने वाली नई रेलवे परियोजना के निर्माण में तेजी लाने का आदेश दिया था। उन्होंने कहा था कि नई रेल लाइन सीमा स्थिरता की सुरक्षा में खास भूमिका निभाएगी।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned