Article 370 की समाप्ती के एक साल पूरा होने पर फिर दिखी China की बेचैनी, India के फैसले को बताया अवैध और अमान्य

HIGHLIGHTS

  • चीन ( China ) ने अनुच्छेद 370 ( Article 370 ) की समाप्ती और लद्दाख ( Ladakh ) को अलग केंद्रशासित प्रदेश बनाने के भारत सरकार ( Indian Government ) के फैसले की आलोचना की है।
  • चीन ने जम्मू-कश्मीर ( Jammu And Kashmir ) को दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के फैसले को भी अवैध और अमान्य करार दिया है।

By: Anil Kumar

Updated: 05 Aug 2020, 09:55 PM IST

बीजिंग। आज का दिन यानी 5 अगस्त ( 5 August ) भारत के लिए दो घटनाओं के लिए हमेशा याद किया जाएगा। पहला- आज ही के दिन एक साल पहले मोदी सरकार ( Modi Government ) ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 ( Article 370 Scrapped ) को खत्म कर उसे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के रूप में दो केंद्र शासित प्रदेश में विभाजित कर दिया था और दूसरी घटना ये है कि आज यानी 5 अगस्त 2020 को सदियों से इंतजार हो रहे भव्य राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन ( Ayodhya Ram Mandir Bhoomi Poojan ) किया गया।

इन सबके बीच आर्टिकल 370 को हटाने के एक साल पूरा होने पर पड़ोसी देश चीन और पाकिस्तान ( Pakistan ) में फिर से बेचैनी दिखी। वास्तविक नियंत्रण रेखा ( LAC ) पर चीनी सैनिकों की नापाक हरकत को लेकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी किरकिरी करा चुके चीन ने एक बार फिर से अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर प्रतिक्रिया दी है।

Article 370 Abrogation : कहां गए पत्थरबाज, जनिए एक साल में Jammu-kashmir में कितना आया बदलाव

चीन ने अनुच्छेद 370 की समाप्ती और लद्दाख को अलग केंद्रशासित प्रदेश बनाने के भारत सरकार के फैसले की आलोचना की है। बुधवार को चीन ने कहा कि भारत सरकार का फैसला एकतरफा है। चीन ने जम्मू-कश्मीर को दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के फैसले को भी अवैध और अमान्य करार दिया है। चीन ने एक बार फिर से भारत और पाकिस्तान से बातचीत और परामर्श के जरिए कश्मीर विवाद को हल करने का आह्वान किया है।

BJP ने मनाया जश्न

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ( Chinese Foreign Ministry spokesman Wang Wenbin ) ने कहा, कि चीन कश्मीर क्षेत्र में स्थिति का बारीकी से पालन करता है। उन्होंने कहा कि कश्मीर मुद्दे पर चीन की स्थिति स्पष्ट और सुसंगत है। कश्मीर विवाद भारत-पाकिस्तान ( India Pakistan Tension ) के बीच इतिहास से जुड़ा मामला है।

वेनबिन ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र चार्टर ( United Nation Chartered ), संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों और भारत-पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय समझौतों के तहत एक उद्देश्यपूर्ण तथ्य है। उन्होंने कहा कि यथास्थिति में कोई भी एकतरफा बदलाव अवैध और अमान्य है। इसका समाधान शांतिपूर्वक तरीके से किया जाना चाहिए।

Jammu Kashmir: Article 370 हटने की पहली बरसी पर Shiv Sena ने सरकार से किए कई सवाल, मांगा एक साल का रिपोर्ट कार्ड

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के खत्म होने के एक साल पूरा होने के इस मौके पर जम्मू-कश्मीर में भाजपा कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाया। बीते साल 5 अगस्त को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ( Home Minister Amit Shah ) ने सदन में आर्टिल 370 हटाने का बिल पास कराकर इसे खत्म कर दिया। इसके बाद से सियासी घमासान जारी है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned