हामिद करजई का बड़ा बयान, भारत-पाक की लड़ाई में अफगानिस्तान को उठाना पड़ रहा नुकसान

  • भारत-पाकिस्तान ( India-Pakistan Reletion ) की बीच लड़ाई का सबसे बुरा असर अफगानिस्तान ( Afghanistan ) पर पड़ रहा है: करजई
  • हामिद करजई ( Hamid Karzai ) राजधानी दिल्ली में आयोजित एक वैश्विक सम्मेलन के दौरान ये बात कही

Anil Kumar

17 Jan 2020, 09:07 PM IST

काबुल। पाकिस्तान और भारत ( Pakistan-Indian Relation ) के बीच दशकों से तनावपूर्ण रिश्ते रहे हैं, जबकि पड़ोसी देश अफगानिस्तान ( Afghanistan ) से भारत के रिश्ते अच्छे रहे हैं। लेकिन अब अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई ( former afghan president hamid karzai ) की ओर से एक बड़ा बयान सामने आया है।

करजई ने दावा किया है कि भारत-पाकिस्तान की बीच लड़ाई का सबसे बुरा असर अफगानिस्तान पर पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। भारत-पाकिस्तान के बीच संतुलन बनाने के लिए अफगानिस्तान के बीच भयंकर चुनौती है।

भारत-अफगानिस्‍तान के बेहतर रिश्‍ते पाकिस्‍तान को खटकते हैं: करजई

आपको बता दें कि हामिद करजई राजधानी दिल्ली में आयोजित एक वैश्विक सम्मेलन के दौरान कहा कि भारत के साथ हमारे रिश्ते काफी अच्छे हैं लेकिन इसके कारण पाकिस्तान के साथ हमारे संबंध में कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

करजई ने कहा कि पाकिस्तान हमारा भाई और दोस्त है। अब ये बात समझाना बहुत मुश्किल है कि इस बात को कैसे आगे बढ़ाया जाए, लेकिन हमें ऐसा ही करना होगा।

आतंक को बढ़ावा दे रहा पाकिस्तान

हामिद करजई ने कहा कि भारत अफगानिस्तान का सबसे अच्छा दोस्त है। अफगानिस्तान के विकास में भारत ने अपार योगदान दिया है। लेकिन पाकिस्तान के साथ तनावपूर्ण रिश्ते की वजह से अफगानिस्तान पर इसका बुरा असर पड़ रहा है।

उन्होंने कहा कि भारत हमारा सर्वश्रेष्ठ मित्र है, लेकिन इस के बावजूद भी पाकिस्तान को उनके भाई और दोस्त बनने से हमें कोई नहीं रोक सकता है।

अफगान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई भारत में बने पिता

इशारों-इशारों में करजई ने पाकिस्तान को बता दिया कि वह आतंकवाद को बढ़ावा देता है। उन्होंने कहा कि सोवियत इनवेशन के बाद जब हम (अफगािस्तान) रिफ्यूजी हुए तो पाकिस्तान के लोगों ने हमें खुले दिल से गले लगाया, लेकिन पाकिस्तान सरकार और वहां पल रहे आतंकी संगठन चरमपंथ (आतंकवाद) को बढ़ावा देते हैं।

करजई ने कहा कि मेरा निजी विचार है कि हमें शांति प्रक्रिया बहाल करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए, क्योंकि इसके अलावा हमारे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned