हांगकांग में प्रदर्शनकारियों का हिंसक प्रदर्शन, विधान परिषद में घुसकर की तोड़-फोड़

  • Hong Kong Protest: चीन को हांगकांग सौंपने की 22वीं वर्षगांठ के मौके पर प्रदर्शनकारियों ने हिंसक प्रदर्शन किया।
  • प्रदर्शनकारियों ने विधान परिषद में घुसतक तोड़फोड़ की

By: Anil Kumar

Updated: 02 Jul 2019, 07:28 AM IST

हांगकांग। स्वायत्तशासी हांगकांग ( Hong Kong ) में प्रस्तावित प्रत्यर्पण कानून के खिलाफ शुरु हुआ विरोध प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार की सुबह हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी संड़कों पर उतर आए और फिर से अपना विरोध जताया। लेकिन समय बढ़ने के साथ ही यह प्रदर्शन हिंसक होता चला गया।

प्रदर्शकारी हांगकांग विधान परिषद के अंदर घुसने का प्रयास करने लगे। दोपहर के बाद पूरा विरोध प्रदर्शन प्रत्यर्पन बिल के बजाए हांगकांग को चीन को सौंपे जाने के विरोध में बदल गया। प्रदर्शनकारियों ने सरकार के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन करते हुए विधान परिषद के अंदर घुस गए।

Hong Kong extradition Bill: प्रदर्शन कर रहे लोगों से चीफ एग्जीक्यूटिव Carrie Lam ने माफी मांगी

गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने लोहे की ट्रॉली से खिड़की तोड़कर विधायी परिषद में घुस गए और जमकर उत्पात मचाई। बता दें कि प्रदर्शनकारियों का यह गुस्सा चीन को हांगकांग सौंपने की 22वीं वर्षगांठ के मौके पर देखने को मिला है।

1 जुलाई 1997 को ब्रिटेन ने चीन को हांगकांग सौंप दिया था। तब से लेकर अब तक हर साल एक जुलाई के दिन हजारों की संख्या में लोग विरोध प्रदर्शन करते हुए सड़क पर उतर आते हैं और अपना विरोध दर्ज कराते हैं।

प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की सख्ती

विधान परिषद के अंदर घुसने का प्रयास कर रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने सख्ती दिखाई है और उन्हें रोकने के लिए मिर्च पाउडर का इस्तेमाल किया। प्रदर्शनकारी इतने में भी नहीं माने और विरोध जारी रखा। प्रदर्शनकारी पुलिस की सख्ती से बचने के लिए सर पर टोपी पहने हुए थे और चेहरे को कपड़े से ढक रखे थे।

ब्रिटेन ने चीन को इस शर्त पर सौंपा था हांगकांग

गौरतलब है कि 1 जुलाई 1997 को ब्रिटेन ने हांगकांग चीन को सौंप दिया था। उस समय यह शर्त रखी गई थी कि चीन हांगकांग की स्वायत्तता को बरकरार रखेगा। लेकिन अब प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि चीन सरकार उनकी स्वायत्तता में दखल दे रही है। जिसमें से एक प्रत्यर्पण कानून है।

हांगकांग प्रत्यर्पण बिल: प्रदर्शनकारियों का विरोध जारी, शहर के नेता को पद से हटाने की मांग

विरोध प्रदर्शन के बीच चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने सोमवार को बीजिंग में कहा कि हांगकांग को लेकर ब्रिटेन की कोई जिम्मेदारी नहीं है। गेंग शुआंग ने यह बयान ब्रिटेन के विदेश मंत्री जेरमी हंट की एक टिप्पणी पर आया है।

जेरमी हंट ने अपने एक बयान में कहा था कि ब्रिटेन हांगकांग को सौंपे जाने की शर्तों को लेकर चीन पर दबाव बनाना जारी रखेगा।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned