इंडोनेशिया: मुस्लिम धर्मगुरू ने छिपाई कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट, चार साल की कैद

इंडोनेशिया (Indonesia) के एक प्रभावशाली धर्मगुरू मुहम्मद रिजिक शिहाब को सजा सुनाई गई। शिहाब बीते वर्ष 13 दिसंबर से हिरासत में हैं।

By: Mohit Saxena

Published: 25 Jun 2021, 01:24 AM IST

जकार्ता। कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने की बात छिपाने को लेकर इंडोनेशिया (Indonesia) के एक प्रभावशाली धर्मगुरू मुहम्मद रिजिक शिहाब को गुरुवार चार साल जेल की सजा सुनाई गई।

'ईस्ट जकार्ता डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के तीन जजों के एक पैनल के अनुसार शिहाब ने अपनी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट के संबंध में झूठ बोला था। इससे उनके संपर्क में आए लोगों की पहचान करने में परेशानी देखने को मिली। शिहाब बीते वर्ष 13 दिसंबर से हिरासत में हैं। जजों के पैनल के अनुसार वे जितना समय जेल में बिता चुके हैं, इस दौरान उनकी सजा को कम कर दिया जाएगा।

Read More: मुंबई हमले के आरोपी तहव्वुर राणा के प्रत्यर्पण पर कल होगी सुनवाई, भारतीय दल अमरीका पहुंचा

पुलिस बल और सेना के जवान तैनात किए

अदालत के बाहर फैसला सुनाने से पहले भारी पुलिस बल और सेना के जवानों को तैनात किया गया। शिहाब की रिहाई की मांग को लेकर उनके हजारों समर्थकों ने रैली निकालने की कोशिश करी। इस कारण अधिकारियों के कोर्ट आने वाले मार्ग को बंद करना पड़ गया। पुलिस ने उनके समर्थकों को हटाने को लेकर आंसू गैस के गोले दागे और पानी की बौछारें भी डालीं।

Read More: अफगानिस्तान से अमरीकी सेना की वापसी पर जताई चिंता, कहा- छह माह के अंदर होगा तालिबान का कब्जा

कई आपराधिक मामले चल रहे

गौरतलब है कि बीते साल नवंबर में सऊदी अरब में तीन साल के निर्वासन से लौटने के बाद से शिहाब पर कई आपराधिक मामले चल रहे हैं। कोर्ट ने बेटी की शादी और धार्मिक संगोष्ठियों में लोगों को एकत्र कर महामारी के दौरान स्वास्थ्य दिशा-निर्देशों के उल्लंघन को लेकर 27 मई को उन्हें आठ माह की सजा सुनाई थी। अस्पताल में उनका कोरोना का इलाज चला था। इस दौरान अस्पताल अधिकारियों ने स्वास्थ्य से जुड़ी उनकी जानकारियों को छिपाकर रखा।

coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned