यहां के डाक्टरों का दावा, HIV की दवा से निकला कोरोना वायरस का इलाज

इस वायरस से दुनिया भर में अब तक 17,387 लोग बीमार हो चुके हैं। इनमें से अकेले चीन में 17,205 लोग इस वायरस से संक्रमित हैं।

By: Mohit Saxena

Updated: 04 Feb 2020, 10:27 AM IST

बीजिंग। चीन में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर अपने चरम पर है। अचानक पनपी इस बीमारी को लेकर पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। चीन (China) के वुहान से शुरू हुआ कोरोना वायरस का संक्रमण दुनिया के कई देशों में फैल चुका है। इस वायरस से दुनिया भर में अब तक 17,387 लोग बीमार हो चुके हैं। इनमें से अकेले चीन में 17,205 लोग इस वायरस से संक्रमित हैं।

कोरोना वायरस: चीन में सामने आए 3235 नए मामले, 425 के पार पहुंची मरनेवालों की संख्या

इस दौरान दुनिया भर के डॉक्टर कोरोना वायरस का इलाज खोजने में लगे हुए हैं। इस बीच थाईलैंड (Thailand) के डॉक्टरों का दावा है कि उन्होंने कुछ दवाओं को मिलाकर एक नई दवा बनाई है,जो कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों को 48 घंटे में ठीक करने का दावा करती हैं।

थाईलैंड (Thailand) के डॉक्टर क्रिएनसाक अतिपॉर्नवानिच के अनुसार इस कोरोना वायरस से संक्रमित 71 साल की एक बुजुर्ग महिला को हमने अपनी नई दवा देकर 48 घंटे में ठीक कर दिया। उन्होंने दावा किया कि पीड़ित महिला दवा देने के 12 घंटे के अंदर ही बिस्तर से उठकर बैठ गई,जबकि उससे पहले वह हिल भी नहीं पा रही थी। 48 घंटे में महिला 90 प्रतिशत ठीक हो चुकी है। कुछ दिन बाद उसे छुट्टी दे दी जाएगी।

12 घंटे में मरीज उठकर खड़ा हुआ

डॉक्टर क्रिएनसाक के अनुसार लैब में भी उन्होंने इस दवा की जांच की तो इसके सकारात्मक नतीजे मिले। इस दवा ने 12 घंटे में ही मरीज को राहत पहुंचा दी। इस दवा से 48 घंटे में मरीज 90 फीसदी से ज्यादा ठीक हो गया। डॉक्टर ने बताया कि उन्होंने इस दवा को एंटी-फ्लू ड्रग ओसेल्टामिविर को लोपिनाविर और रिटोनाविर से मिलाकर तैयार किया। coronavirus में यह दवा बेहद कारगर साबित हुई है।

HIV की दवा से निकाला कोरोना वायरस का तोड़

थाईलैंड के डॉक्टर का कहना है कि इसे कारगर बनाने के लिए वह लैब में परीक्षण कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के इलाज के लिए वह एंटी-फ्लू ड्रग ओसेल्टामिविर को HIV के इलाज के लिए उपयोग में लाई जाने वाली लोपिनाविर और रिटोनाविर से मिलाकर नई दवा तैयार की है। गौरतलब है कि थाईलैंड में अब तक कोरोना वायरस के 19 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 8 मरीजों को 14 दिन के अंदर ठीक करके भेजा जा चुका है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned