इस दीपावली 2020 राशि के अनुसार पहने कपड़े, माता लक्ष्मी करेंगी विशेष कृपा

diwali 2020 : These colour cloths buy for deepawali 2020 laxmi puja

किस राशि के जातक को किस रंग के कपड़े पहनकर माता लक्ष्मी की दीपावली के दिन पूजा करनी चाहिए, और क्यों?

दीपावली पर माता लक्ष्मी की पूजा तो सभी लोग करते हैं, लेकिन लक्ष्मी की कृपा हर किसी पर नहीं होती। कुछ लोग लाखों-करोड़ों में खेलते हैं। तो कई को हजारों रूपए भी नसीब नहीं होते। आज हम आपको एक ऐसी बात बताने जा रहे हैं,जो बहुत ही साधारण है, लेकिल दीपावली होने के कारण ये बात बहुत मायने रखती है।

जानकारों के अनुसार हर रंग हमारे जीवन पर कोई न कोई असर जरूर डालता है। यह तो आप जानते ही होंगे कि सूर्य की रोशनी किसी चीज़ से टकराकर जब परावर्तित होती है तो ये परावर्तित किरणें ही हमारे दिमाग को रंगों की पहचान कराती हैं। इन रंगों का हमारे भाग्य और भावनाओँ पर बेहद असर पड़ता है।

भाग्य पर रंगों का असर
दुनिया में मुख्य रूप से दो ही शक्तियां काम करती हैं, 'रंग' और 'तरंग'... इन्हीं से ही सारी सृष्ट‍ि चलती है। हर व्यक्ति और वस्तु का अलग-अलग रंग होता है. उसी तरह हमारे शब्दों और हमारी भावनाओं का भी रंग होता है। रंग हमारे जीवन में प्रेम बढ़ाते भी हैं और दूरियां भी लाते हैं।

MUST READ : दीपावली 2020- में आपके घर भी बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा, बस इस बात का ध्यान रखें

https://www.patrika.com/festivals/diwali-2020-dates-choti-diwali-dhanteras-govardhan-puja-and-bhai-dooj-6506135/
IMAGE CREDIT: https://www.patrika.com/festivals/diwali-2020-dates-choti-diwali-dhanteras-govardhan-puja-and-bhai-d

किस राशि के जातक को किस रंग के कपड़े पहनकर माता लक्ष्मी की दीपावली के दिन पूजा करनी चाहिए, भले ही सुनने में यह थोड़ा अजीब लगे, लेकिन क्या अपको पता है कि इस बात के पीछे बहुत बड़ा रहस्य है। हर राशि के व्यक्ति के लिए एक खास कलर होता है। बस आपको उसी कलर के कपड़े पहन माता की पूजा करनी है और फिर देखियेगा इसका असर, माना जाता है कि ऐसा करने से लक्ष्मी माता आप पर जरुर प्रसन्न होंगी। जानिए किसके लिए कौन सा है कलर........

1. मेष राशि- इस राशि के लोग दिवाली पर सुनहरे कपड़े पहने और लक्ष्मी पूजन करें। सुनहरे कपड़ों का धारण मेष राशि वाले जातकों के लिए फायदेमंद माना गया है।

2. वृषभ राशि- वृषभ राशि वाले लोगों के लिए सफेद रंग फायदेमंद माना गया है। ऐसे में दिवाली के दिन वृषभ राशि वालों को सफेद कपड़े पहन कर माता लक्ष्मी की पूजी करनी चाहिए, साथ में सफेद रुमाल भी रखें।

3. मिथुन राशि- इस राशि के लोग सफेद और नीले कपड़े पहनें और लक्ष्मी पूजा करें। मान्यता है कि ऐसा करने से लक्ष्मी माता की विशेष कृपा होगी।

4. कर्क राशि- कर्क राशि के लोग नारंगी या लाल कपड़े पहनकर लक्ष्मी पूजा करें।

5. सिंह राशि- ये लोग राशि वाले पीले कपड़े पहनें और महालक्ष्मी की पूजा करें

6. कन्या राशि- इन लोगों को दिवाली पर नीले और सफेद कपड़े पहनना चाहिए। इन कपड़ों में ही लक्ष्मी पूजा करें।

7. तुला राशि- तुला राशि के लोग नीले या सफेद कपड़े पहनें और लक्ष्मी पूजा करें।

MUST READ : दीपावली पर डेकारेशन- वास्तु के अनुरूप करें सजावट, घर में ऐसे आएगी खुशहाली

https://www.patrika.com/dharma-karma/make-decorations-as-per-vastu-on-deepawali-2020-6503521/
IMAGE CREDIT: https://www.patrika.com/dharma-karma/make-decorations-as-per-vastu-on-deepawali-2020-6503521/

8. वृश्चिक राशि- ये लोग सफेद या पीले कपड़े पहनेंगे तो बहुत शुभ रहेगा। इन कपड़ों में ही लक्ष्मी पूजा करें।

9. धनु राशि- धनु राशि के लोगों को दिवाली पर लाल कपड़े पहनकर लक्ष्मी पूजा करनी चाहिए।

10. मकर राशि- इस राशि के लोग हल्का पीला यानी क्रीम और हरे रंग के कपड़ें पहनकर माता लक्ष्मी की पूजा करें।

11. कुंभ राशि- कुंभ राशि को हरे और सफेद कपड़े पहनकर लक्ष्मी पूजा करनी चाहिए।

12. मीन राशि- इस राशि के लोग लाल और सफेद कपड़े पहनकर लक्ष्मी पूजा करें।

रंगों का सेहत कनेक्शन...

: लाल रंग हर किसी का पसंदीदा होता है। शोध बताते हैं कि लाल रंग गुर्दे से जुड़ा होता है। ये गुर्दे और उससे जुड़े अंगो को प्रभावित करता है। ये न्यूरोन्स को भी उत्तेजित करता है। इसके अलावा लाल रंग ब्लड प्रेशर को बढ़ाता है। सांस लेने की दर को भी तेज करता है। ये ऊर्जा से जुड़ा रंग है जो आपके मेटाबॉलिजन को सही रखता है। वहीं इसके कुछ निगेटिव इफेक्ट भी हैं। ये गुस्सा और चिढ़ के लिए भी जिम्मेदार है।

लाल रंग अत्यंत ऊर्जा और शक्ति का रंग है। ज्योतिष में लाल रंग को मंगल और सूर्य का रंग माना जाता है। यह प्रेम की शुरुआत के लिए अच्छा होता है लेकिन उसे जारी रखने के लिए नहीं।

: हरा रंग जहां आंखों के लिए अच्छा एहसास लाता है वहीं शरीर की थकान को कम करने और तनाव को दूर करने में मदद करता है। आंखों की रोशनी को भी बढ़ाता है हरा रंग, साथ ही हीलिंग से और साफ-सफाई से जुड़ा रंग है ये।

हरा रंग अच्छे स्वास्थ्य और मूड से सीधा संबंध रखता है। ज्योतिष में इसे बुध का रंग माना जाता है। यह किसी भी दर्द और घाव को भरने में कारगर होता है। रोमांस में हरे रंग का प्रयोग करने से प्रेम के टूटने का खतरा नहीं होता।

: पीले रंग की बात करें तो ये शरीर में सेरोटॉनिन का बहाव तेज होता है जो मन को खुश रखने में मदद करता है। ये मेटाबॉलिजम को बढ़ाता है और आंनद के भाव को भी बढ़ाता है। लेकिन इसके साइड इफेक्ट भी हैं। पीला रंग छोटे बच्चों को चिढ़चिढ़ा बनाता है। ये शरीर को जल्दी थकान भी देता है।

पीला रंग शुभ चीज़ों और मंगल कार्यों से संबंध रखता है। ज्योतिष में इसे बृहस्पति का रंग माना जाता है। पीले रंग का संबंध दोस्ती से है, लेकिन रोमांस से नहीं। वैसे ज्योतिष कहता है कि दोस्ती को प्रेम में बदलने के लिए पीले रंग का प्रयोग लाभकारी है।

: नीला रंग मन को शांत करने मं मदद करता है। मेटाबॉलिजम को धीमा करता है और मन को शांत करता है। ये ज्यादा देर तक देखने से डिप्रेशन को हावी कर देता है साथ ही लेकिन कम समय तक नीला रंग देखा जाए तो सुकून भी देता है।

नीला रंग तीव्र अध्यात्म और भाग्य से संबंध रखता है। ज्योतिष में नीला रंग शुभ शनि का रंग माना जाता है और यह रोमांस में दर्शन पैदा करता है। नीला रंग प्रेमी को दार्शनिक बना देता है।

: बैंगनी रंग आध्यात्मिक और गहरे चिंतन से जुड़ा हुआ है। वहीं एक ओर सेक्सुअल ऐक्टिविटी को भी तेज करता है। ये उदासी और निराशा की भावना को भी बढ़ाता है।

बैंगनी रंग विलासिता और भोग का रंग है। इसके प्रयोग से 'काम' भाव मजबूत होता है। बैंगनी रंग व्यक्ति को रोमांस और प्रेम में शारीरिक आनंद की ओर ले जाता है। शादी के बाद बेडरूम में इस रंग का हर तरीके से प्रयोग कर सकते हैं।

: गुलाबी रंग का प्रभाव
गुलाबी रंग शुक्र, चन्द्र और मंगल का संयुक्त रंग माना जाता है। इसे प्रेम का सबसे बड़ा रंग भी माना जाता है। किसी के भी बेडरूम की दीवारों के लिए गुलाबी रंग सर्वोत्तम है, लेकिन यहां एक बात ध्यान देने वाली है कि पर्दों और चादरों में गहरे गुलाबी रंग का प्रयोग करना चाहिए।
हालांकि गुलाबी रंग किशोरावस्था में बुरी तरह भटकाव पैदा करता है, इसलिए उम्र के इस दौर में इससे बचना चाहिए।

: काला रंग जहां दुख को दिखाता है लेकिन एक तरह की गहराई को भी समझने पर मजबूर कर देता है।

: सफेद रंग सभी रंगों से अलग शांति का प्रतीक बनकर दिमाग को हमेशा ही शांत रखता है। ये एक नई शुरुआत को दर्शाता है इसलिए मानसिक तौर पर ताकतवर बनाता है। दिमाग पर इसका हमेशा अच्छा असर रहता है।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned