Navratri 2020: नवरात्रि में इन रंगों का है विशेष महत्व, जानें किस दिन, कौन सा रंग माना जाता है शुभ

  • 17 अक्टूबर 2020 से इस नवरात्र की शुरूआत होने वाली है
  • नवरात्रि के दौरान कौन से रंग के कपड़ों को बताया गया है शुभ

 

By: Pratibha Tripathi

Updated: 15 Oct 2020, 12:40 PM IST

नई दिल्ली। Navratri 2020: नवरात्रि का त्यौहार आते ही लोग मां दुर्गा को खुश करने के लिए तरह तरह की तैयारियां करने में लग जाते है। क्योंकि इस नौ देवी में वो शक्ति है जो अलग-अलग रूपों को साथ हमे पूरे नौ दिन मिलती है। 17 अक्टूबर 2020 से इस नवरात्र की शुरूआत होने वाली है जो 25 अक्टूबर 2020 तक रहेगी। 26 अक्टूबर 2020 के दिन पूरे देश में दशहरे की धूम देखने को मिलेगी। नवरात्र का बारे में कुछ बाते ऐसी भी है जिसका उन नौ दिनों में विशेष महत्व होता है जिसके बारे में बहुत कम लोग ही जानते होंगे। इस दिन मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए यदि आप उनके पसंदीदा रंगों का चयन रोज नौ दिन करते है तो निश्चय ही आपकी झोली खुशियों से भरी रहेगी। क्योंकि नवरात्रि का प्रत्येक दिन नौ विभिन्न देवियों को समर्पित है. इसलिए हम यहां आपको बताने जा रहे हैं, कि नवरात्रि के दौरान कौन से रंग के कपड़े पहनने चाहिए...

नवरात्रि का पहला दिन- ग्रे

नवरात्रि का पहला दिन मां शैलपुत्री का आता है। शैलपुत्री देवी पार्वती का पहला स्वरूप हैं। इस रूप में वह पहाड़ों की बेटी हैं। इस दिन भक्तों को ग्रे रंग के कपड़े पहनने चाहिए।

नवरात्रि का दूसरा दिन- नारंगी

नवरात्रि का दूसरा दिन देवी ब्रह्मचारिणी को समर्पित है। कहा जाता है कि देवी पार्वती ने भगवान शिव को अपने पति के रूप में पाने के घने जंगलो के बीच कठिन तपस्या की थी। और तपस्या के दौरान नारंगी रंग के कपड़ों का उपयोग किया था इसलिए इस दिन भक्तों को नारंगी रंग की पोशाक पहननी चाहिए। नारंगी रंग शांति, ज्ञान, तपस्या और चमक का प्रतीक है और इसलिए यह रंग देवी दुर्गा के ब्रह्मचारिणी रूप से जुड़ा हुआ है।

नवरात्रि का तीसरा दिन- सफेद

नवरात्रि का तीसरा दिन मां चंद्रघंटा को समर्पित है। यह देवी का रूप सबसे शांत है। इसलिए भक्तों को उसी के प्रतीक के लिए सफेद कपड़े पहनने चाहिए।

नवरात्रि का चौथा दिन- हरे रंग

नवरात्रि के चौथे दिन कूष्मांडा स्वरूप की पूजा करते हैं. कुष्मांडा को ब्रह्मांडीय ऊर्जा का स्रोत माना जाता है। इन्होंने सृष्टि की रचना की है इसलिए भक्तों को इस दिन हरे रंग के कपड़े पहनने चाहिए।यह रंग इन्होंने सृष्टि की रचना की थी देवी कूष्मांडा प्रकृति की भी देवी हैं इसलिए यह रंग पहनना भक्तों की सुख समृद्धि में वृद्धि करने वाला है।

नवरात्रि का पांचवा दिन-नीला

नवरात्रि के पांचवें दिन लोग स्कंदमाता की पूजा करते हैं. इस रूप में देवी को उनके पुत्र स्कंद के साथ देखा जाता है, जिन्हें कार्तिकेय के नाम से भी जाना जाता है. वह अपने भक्तों को संतान, स्नेह, समृद्धि और मोक्ष का आशीर्वाद देती है. इस दिन नीले रंग के कपड़े पहनने चाहिए. यह रंग समृद्धि, प्रेम, स्नेह आदि से जुड़ा है।

नवरात्रि का छठा दिन-पीला

नवरात्रि के छठा दिन कात्यायनी रूप को समर्पित है। इस रूप में मां दुर्गा ने राक्षस महिषासुर का वध करने के लिए इस रीप को ग्रहण किया था। इसलिए वह भद्रकाली और चंडिका के रूप में भी जानी जाती है. चूँकि, उनके कात्यायनी रूप में उन्होंने दानव को मारा और ब्रह्मांड में आनंद और जयकार फैलाया, इसलिए भक्तों को इस दिन पीले रंग के कपड़े पहनने चाहिए।

नवरात्रि का सातवां दिन- 23 अक्टूबर 2020- बैंगनी रंग

नवरात्रि में सातवां दिन कालरात्रि रूप को समर्पित है. इस रूप में, देवी भयंकर और विनाशकारी दिखती हैं. वह दानवों, नकारात्मक ऊर्जाओं, आत्माओं, भूतों आदि के साथ लालच, वासना आदि सभी बुराई को नष्ट करने के लिए जाना जाता है. कालरात्रि की पूजा करने के लिए बैंगनी रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है।

नवरात्रि का आठवां दिन- 24 अक्टूबर 2020- संतरी या लाल वस्त्र

नवरात्रि के आठवें दिन भक्त महागौरी रूप की पूजा करते हैं. हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, वर्षों से तपस्या कर रही पार्वती को भगवान शिव ने अपने महागौरी रूप में स्वीकार किया था। ऐसा माना जाता है कि महागौरी अपने भक्तों की मनोकामना पूरी करती हैं और उन्हें पवित्रता का आशीर्वाद देती हैं. इसलिए इस दिन संतरी या लाल वस्त्र के कपड़े पहनना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned