कल्याण सिंह ने भाजपा ज्वाइन करने के बाद चुनावी मैदान में उतरने पर दिया बड़ा बयान

कल्याण सिंह ने भाजपा ज्वाइन करने के बाद चुनावी मैदान में उतरने पर दिया बड़ा बयान
Kalyan Singh

Abhishek Gupta | Updated: 09 Sep 2019, 04:43:05 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह ने सोमवार भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। लखनऊ में भाजापा कार्यालय में उनका भव्य स्वागत हुआ और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने सैंकड़ों समर्थकों, कार्यकर्ताओं, सांसदों व विधायकों की मौजूदगी में उन्हें पुनः पार्टी की सदस्यता दिलाई। इस दौरान कल्याण ने सभी का आभार व्यक्त किया व पार्टी के एक समान्य कार्यकर्ता के रूप में भाजपा को और मजबूती प्रदान करने की बात कही। पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने के बाद कल्याण सिंह अपने पौत्र एवं राज्यमंत्री संदीप सिंह के माल एवेन्यू स्थित आवास पहुंचे जहां उन्होंने कार्यकर्ताओं व मीडिया को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने राम मंदिर व खुद दोबारा चुनावी मैदान में उतरने जैसे सवालों का बेबाकी से जवाब भी दिया।

ये भी पड़ें- उपचुनाव से पहले अखिलेश का मायावती को बड़ा झटका, 17 नेता हुए सप में शामिल

भाजप विश्व की सबसे बड़ी पार्टी-
उन्होंने कहा कि मैं भले ही प्रत्यक्ष रूप से यूपी से दूर रहा, लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से सदा यहां के हर जिले की जानकारी लेता रहा। इस नाते से न मैं गया हूं और न आप गए हैं। मैं यहां से कभी अनभिज्ञ नहीं रहा। आज सीएम योगी, प्रदेश अध्यक्ष व संगठन के मुखिया स्वतंत्र देव सिंह और भाजपा के कुशल इंजीनियर सुनील बंसल के नेत्रत्व में भारतीय जनता पार्टी देश की नहीं बल्कि विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बन गई है।

ये भी पढ़ें- शिवपाल सिंह यादव की भाजपा को चेतावनी, 2022 चुनाव पर किया बहुत बड़ा ऐलान

Kalyan singh

सामान्य कार्यकर्ता के रूप में करूंगा काम-

कल्याण सिंह ने कहा कि मैं आज यहां खड़ा हूं, यह एक दिन की देन नहीं है। न जाने कितनी पीढ़ियां बीत गई, उसमें लोगों त्याग, उनके परिश्रम की वजह से हम यहां पहुंचे हैं। उन्होंने चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा कि मेरा चुनाव लड़ने का कोई इरादा नहीं। मैं बहुत चुनाव लड़ चुका हूं। मैं पार्टी के सहयोग के लिए यहां आया हूं। मैं एक सामान्य कार्यकर्ता के तौर यहां काम करूंगा। यह पार्टी सर्वग्रही बनेगी और सबका विकास होगा। मैं प्रदेश और केंद्र के काम में सहयोग करूंगा। उन्होंने कहा कि राजनीति लोंगों की सेवा का एक माध्यम है। मैं राजनीति को जनसेवा के लिए एक सशक्तत माध्यम के रूप में देखता हूं। जनसेवा के कार्य से खुद को कभी अलग नहीं करूंगा। जो कार्यकर्ता, विधायक व सांसद यहां आए हैं, यही मेरी पूंजी है।

सीएम योगी का कोई विकल्प नहीं-
यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र के नेत्रत्व का कोई विकल्प नहीं और उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ का भी कोई विकल्प नहीं है। उनकी कोई काट नहीं है। वे लगातार यूपी में विकास कर रहे हैं। ऐसे में हमारे कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी बढ़ जाती है कि वे अपने व्यवहार, अपनी वाणी पर संयम रखते हुए भाजपा को और आगे ले जाएं। मैं स्वयं एक कार्यकर्ता होने के नाते पार्टी को और मजबूत बनाने का प्रयास करूंगा। यह पार्टी सर्वव्यापी, सर्वग्राही बन जाए, उस दिशा में मुझे कोई भी कार्य दिया जाएगा, उसे जिम्मेदारी से निभाऊंगी।

kalyan singh

राम मंदिर बनना चाहिए-

अपने संबोधन में उन्होंने अयोध्या विवाद पर भी बयान दिया। उन्होंने कहा कि राम मंदिर करोड़ों लोगों की आस्था का विषय है। राम मंदिर जरूर बनना चाहिए। अयोध्या बड़ा पवित्र तीर्थ स्थल है। मैं इस पर राजनीति नहीं करता। उन्होंने कहा कि दूसरे दल भी मंदिर निर्माण पर अपनी स्थिति साफ कर दें।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned