scriptGovernor Satya Pal Malik opposed the army recruitment scheme Agneepath | Agneepath scheme : मेघालय के राज्यपाल बोले,'सेना में चार साल नौकरी के बाद घर लौटे युवक का नहीं होगा ब्याह' | Patrika News

Agneepath scheme : मेघालय के राज्यपाल बोले,'सेना में चार साल नौकरी के बाद घर लौटे युवक का नहीं होगा ब्याह'

Agneepath scheme मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने आज जाटों के गढ़ बागपत में पहुंचकर केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर हुंकार भरी। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने केंद्र सरकार द्वारा सेना में भर्ती की योजना अग्निपथ का विरोध किया। उन्होंने कहा कि युवा जब चार साल सेना में नौकरी करके वापस लौटेगा तो उसकी शादी कौन करेंगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को इस भर्ती योजना को वापस लेना चाहिए और सेना में पुरानी भर्ती नीति को ही लागू करना चाहिए।

बागपत

Published: June 26, 2022 03:06:32 pm

Agneepath scheme केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ अक्सर बेबाक टिप्पणी करने वाले मेघालय राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने अब सेना भर्ती के लिए सरकार की अग्निपथ योजना का विरोध किया। उन्होंने कहा कि भर्ती योजना अग्निपथ सेना और जवानों के खिलाफ है। यह सेना और जवानों की उम्मीदों के साथ धोखा है। उन्होंने कहा छह माह जवान ट्रेनिंग करेगा और छह महीने की छुट्टी, तीन साल नौकरी करने के बाद जब जवान घर लौटेगा तो उसकी शादी भी नहीं होगी।
Agneepath scheme :  मेघालय के राज्यपाल बोले,' जब चार साल बाद सेना से वापस लौटेगा युवक तो उससे शादी कौन करेगा'
Agneepath scheme : मेघालय के राज्यपाल बोले,' जब चार साल बाद सेना से वापस लौटेगा युवक तो उससे शादी कौन करेगा'

सरकार को अग्निपथ भर्ती योजना पर पुनर्विचार करना चाहिए। पुरानी पद्धति पर सेना में भर्ती होनी चाहिए। ये देश और इसकी युवा पीढ़ी के लिए ठीक होगा। बागपत पहुंचे सत्यपाल मलिक ने रिटायरमेंट के बाद सक्रिय राजनीति की इच्छा पर सत्यपाल मालिक ने कहा कि उनकी इच्छा कतई राजनीति करने या चुनाव लड़ने की नहीं। वे बोले, पदमुक्त होने के बाद उन्होंने कश्मीर पर किताब लिखने की इच्छा जताई है। उन्होंने कहा कि किसानों, जवानों के लिए वो जहाँ जरूरी होगा, संघर्ष करेंगे।
यह भी पढ़े : Mukhyamantri samuhik vivah yojana : मंत्रोच्चारण के बीच लिए फेरे, काजी ने कबूल करवाया निकाह


रिटायरमेंट के बाद सरकार के खिलाफ आंदोलनों की अगुवाई पर उनका कहना था कि ये सरकार के खिलाफ की बात नहीं है। वो जो कह रहे हैं मुद्दा उठा रहे हैं। वह अगर मान लिया जाए तो यह सरकार के पक्ष की बात होगी। पहले ऐसे किसानों के मुद्दे पर सही बात रखी, अब जवानों की बात कर रहा हूं। बता दें कि राज्यपाल सत्यपाल मलिक पहले भी कई मौकों पर केंद्र सरकार के खिलाफ अपनी बात रखते रहे हैं। इससे पहले तीन कृषि बिल को उन्होंने किसानों के लिए घातक बताया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली सीएम पद की शपथ, तेजस्वी बने डिप्टी CM, कैबिनेट विस्तार बाद मेंशपथ ग्रहण से पहले नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद यादव से की बातचीत, जानिए क्या बोले राजद सुप्रीमोबीजेपी का 'इतिहास' है, जिस राज्य में बढ़ाया कद उस राज्य में सहयोगी दल ने किया किनाराड्रग केस में फंसे अकाली नेता बिक्रम मजीठिया को बड़ी राहत , पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट से मिली जमानतफिनलैंड, स्वीडन NATO में शामिल, US President जो बाइडन ने किए इंस्ट्रूमेंट ऑफ रेटिफिकेशन पर हस्ताक्षर: अब क्या करेगा रूस?कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव को पड़ा दिल का दौरा, दिल्ली के एम्स में कराया गया भर्तीनीतीश के NDA छोड़ने के बाद पी चिदंबरम ने बीजेपी पर किया हमला, ट्वीट करके कही ये 6 बातेंदिल्ली में हर दिन 6 रेप, इस साल के पहले 6 महीने में दर्ज हुए 1,100 से अधिक मामले
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.