चुनाव के दौरान मतदाताओं को डराने धमकाने वालों व इन शस्त्र लाइसेंस धारियों पर डीएम सख्त, दिए यह निर्देश

सभी थानाध्यक्षों को निर्देश दिया है कि ऐसे व्यक्ति जो चुनाव के दौरान मतदाताओं को डराने-धमकाने का काम करते हैं और जिनकी पूर्व के निर्वाचनों में शिकायतें आई हैं, उनका रिकार्ड देखकर रिपोर्ट प्रस्तुत करें.

By: Abhishek Gupta

Published: 02 Mar 2019, 04:45 PM IST

श्रावस्ती. जिलाधिकारी ने आगामी लोकसभा सामान्य निर्वाचन को दृष्टिगत रखते हुए कमर कस ली है। उन्होंने सभी थानाध्यक्षों को निर्देश दिया है कि ऐसे व्यक्ति जो चुनाव के दौरान मतदाताओं को डराने-धमकाने का काम करते हैं और जिनकी पूर्व के निर्वाचनों में शिकायतें आई हैं, उनका रिकार्ड देखकर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। जिससे उनके खिलाफ कार्यवायी की जा सके। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि जनपद से जारी शस्त्र लाइसेन्सों के सीमा क्षेत्र का भी ब्योरा देखकर सूचीबद्ध करें। वहीं कोई ऐसा शस्त्र लाइसेन्स धारी जिसके द्वारा शस्त्र लाइसेन्स अधिनियम का सही ढंग से अनुपालन नहीं किया जा रहा है, उनकी भी रिपोर्ट भेजी जाए ताकि उनके शस्त्र लाइसेन्स को निरस्त करने की कार्यवाही की जा सके।

कोई लापरवाही न बरती जाए-

जिलाधिकारी ने पुलिस व राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि समाधान दिवस तथा थाना दिवस में आने वाले फरियादियों की समस्याओं का त्वरित निस्तारण मौके पर जाकर किया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि राजस्व निरीक्षक अपने-अपने क्षेत्रों में टीम बनाकर थाना दिवसों में प्राप्त शिकायतों का निस्तारण पुलिस के सहयोग से करें और इसमें कोई लापरवाही न बरती जाए।

पुुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारियों को दिए निर्देश-

इस दौरान पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने समस्त थाना प्रभारियों को निर्देश दिया कि थाना दिवसों में प्राप्त शिकायतों का निस्तारण राजस्व कर्मचारियों के साथ मिलकर प्राथमिकता के आधार पर करें। तथा निस्तारण रिपोर्ट भी समय से सभी थानाध्यक्ष प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर पुलिस क्षेत्राधिकारी डा0 जे0बी0 सिंह, थानाध्यक्ष, राजस्व निरीक्षक सहित लेखपाल मौजूद रहे।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned