बांसवाड़ा के महात्मा गांधी अस्पताल परिसर से 19 दिन का बच्चा चोरी, मचा हड़कम्प

Banswara Latest Hindi News : फर्जी नर्स ने टीका लगवाने के बड़लिया से बुलवाकर किया धोखा, मंत्री के गांव के हमनाम का बेटा गायब होने पर दौड़ी पुलिस

By: Varun Bhatt

Published: 28 Feb 2021, 10:01 PM IST

बांसवाड़ा. जिला मुख्यालय के एमजी अस्पताल परिसर से रविवार को चौंकाने वाले घटनाक्रम में धोखे से नवजात चोरी हो गया। टीकाकरण करवाने के नाम पर बुलवाए गए बच्चे को लेकर फर्जी नर्स फरार होने की जानकारी पर जिलेभर में पुलिस ने नाकाबंदी करवाई। शाम तक बच्चे का पता नहीं चला। मौके पर कोतवाली सीआई मोतीराम सारण ने बताया कि घटना सुबह 11 बजे हुई, जिसकी सूचना 2 बजे देने पर पुलिस जांच में जुटी। वाकया मलवासा निवासी अनिता पत्नी अर्जुन बामनिया के साथ हुआ। उसका 9 फरवरी को तलवाड़ा पीएचसी में प्रसव हुआ था। नॉर्मल डिलेवरी होने पर 11 फरवरी को छुट्टी मिली तो बड़लिया में पीहर के लोग अपने यहां ले गए। इसके बाद शनिवार को एक महिला उनके घर आई और नवजात के टीकाकरण के लिए रविवार को बांसवाड़ा लाने की बात की। इस पर अनिता ने सहमति जताई। फिर रविवार सुबह अनिता अपनी मां और नवजात को लेकर बांसवाड़ा आई। यहां एमजी अस्पताल के पास गेट रुके ही थे कि फर्जी नर्स ने इन्हें कॉल किया। पहुंचने की तस्दीक हुई, तो कुछ देर में कथित नर्स अस्पताल आ गई। फिर तीनों बच्चे को लेकर अस्पताल केंटीन तक आए। यहां कोविड प्रोटोकॉल की बात कर कथित नर्स ने मां-बेटी को केंटीन के पास रुकने को कहा और ममता कार्ड और अन्य कागजात के साथ बच्चा गोद से लेकर खुद ही टीका लगवाकर आने की बात की और एमसीएच विंग की तरफ बढ़ गई। फिर वह: मोर्चरी के पास से होते हुए एएनएम नर्सिंग सेंटर वाले गेट से भाग निकली। इधर, काफी देर तक उसकी वापसी नहीं हुई तो बच्चे की मां और नानी ने अस्पताल के भीतर जाकर पूछताछ की। कुछ पता नहीं चलने पर दोनों घबरा गई। फिर शोर मचा, तो अस्पताल के स्टाफ, डॉक्टर चेते। इत्तला पर एमजी चौकी पुलिस में छानबीन शुरू कर उच्चाधिकारियों को बताया तो डीएसपी गजेंद्र सिंह राव और इधर थाने का जाब्ता भी पहुंचा। अस्पताल के पीएमओ डॉ. रवि उपाध्याय के साथ तत्काल करीबी सीसीटीवी कैमरा चेक किया तो संदिग्ध नर्स बच्चा गोद मे लिए पीछे की तरफ जाती दिखी। पुलिस ने नाकाबंदी करवाकर आरोपी और बच्चे की तलाश शुरू की है।

सब्जीवाले के फोन के किया था कॉल
पुलिस ने अनिता के नम्बर पर जिस नम्बर से कॉल कथित नर्स का कॉल आया, उसका पता लगाया। मालूम हुआ कि वह नम्बर पाला रॉड पर सब्जी बेचने वाले का है। शातिर महिला ने जब फ़ोनकीय, वो पाला रोड पर थी। उसने अपना बेलेंस खत्म होना बताकर सब्जी वाले से अर्जेंट कॉल की जरूरत बताकर फोन मांगा और उससे कॉल किया। फिर फोन लौटाकर अस्पताल आई और बच्चा लेकर चंपत हो गई।

Show More
Varun Bhatt
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned