तलाक पीड़िताओं ने प्रधानमंत्री से की ऐसी मांग कि मौलवियों और मुस्लिमों के होश उड़ जाएंगे

jitendra verma | Publish: Jun, 01 2019 01:22:05 PM (IST) Bareilly, Bareilly, Uttar Pradesh, India

मेरा हक़ फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिख कर मेहर की रकम के साथ ही दहेज वापस दिलाने और तलाक पीड़ित महिला के बच्चों को उनका हक दिलाने एवं बहु विवाह जैसी प्रथा पर रोक लगाने की मांग की है।

बरेली। केंद्र में एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद तलाक पीड़िताओं में उम्मीद की एक नई किरण जली है। तलाक पीड़ित महिलाओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मेहर की रकम वापस दिलाने की मांग की है। मेरा हक़ फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिख कर मेहर की रकम के साथ ही दहेज वापस दिलाने और तलाक पीड़ित महिला के बच्चों को उनका हक दिलाने एवं बहु विवाह जैसी प्रथा पर रोक लगाने की मांग की है।

ये भी पढ़ें

तलाक पीड़ित महिलाओं ने राहुल गांधी को भेजी चूड़ियां

मेहर की रकम हो वापस

मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी का कहना है कि पीएम मोदी ने तीन तलाक पर बिल लाकर तलाक पीड़ित महिलाओं को बड़ी राहत दी थी। उनका कहना है कि मोदी सरकार लाने में मेरा हक फाउंडेशन से देश भर में जुड़ी तमाम मुस्लिम महिलाओं ने अहम भूमिका निभाई है। ऐसे में हमारा संगठन जो तलाक, हलाला, बहु विवाह और महिला उत्पीड़न के मामलों को उठाता रहा है और उनके हक के लिए लड़ता रहा है। उन्होंने कहा कि वो और उनसे जुडी तमाम पीड़ित महिलाएं पीएम मोदी से आशा करती हैं कि तीन तलाक बिल के साथ साथ महिलाओं को मेहर ( जो रकम शादी के वक्त तय की जाती है ) और दहेज का समान वापस दिलाया जाए इसके साथ ही पीड़ित महिला और उसके बच्चे की परवरिश के लिए पति और ससुराल द्वारा रकम तय की जाए जिससे कि पीड़ित महिला अपने बच्चे की अच्छी तरह से परवरिश कर सके।

ये भी पढ़ें

तीन तलाक पीड़िता ने हिन्दू धर्म अपनाकर मंदिर में की शादी

इन मुद्दों को भी शामिल करें सरकार

फरहत नकवी का कहना है कि सरकार से उन्हें उम्मीद है कि वो तीन तलाक बिल को मजबूत करने के लिए इन मुद्दों को भी शामिल करेगी। उन्होंने कहा कि तमाम मुस्लिम महिलाएं पीएम के साथ है और शरीयत क़ानून का सम्मान करती हैं। हम लोग ऐसे धर्म के ठेकेदारों का विरोध करती हैं जो कि इस्लाम की गलत तस्वीर पेश कर इस्लाम को बदनाम कर रहे हैं और मुस्लिम महिलाओं पर जुल्म कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें

बुजुर्ग बोला हलाला के लिए नहीं किया था निकाह, बीवी को तलाक देकर नहीं करूंगा गुनाह

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned