शिक्षक संघ शेखावत की प्रान्तीय बैठक में चर्चा कर आन्दोलन का किया एेलान

- आठ चरणों में होगा आंदोलन

By: Dilip dave

Published: 27 Jun 2021, 11:45 PM IST

बाड़मेर. राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत की प्रान्तीय कार्यकारिणी, जिलाध्यक्ष एवं जिलामंत्री की संयुक्त बैठक प्रदेशाध्यक्ष महावीर सिहाग की अध्यक्षता तथा महामंत्री उपेन्द्र शर्मा के सानिध्य में हुई। बैठक में शिक्षकों की ज्वलंत मांगों को लेकर स्थायी समिति की बैठक में आन्दोलन के लिए गए निर्णय को धरातल पर लागू करने की रणनीति पर चर्चा हुई।

जिला प्रवक्ता भवानी शंकर गोदारा ने बताया कि जिलाध्यक्ष भगवानाराम जाखड़ एवं जिलामंत्री विनोद पूनियां सहित बैठक में शामिल सभी सदस्यों ने आन्दोलन को मजबूती से धरातल पर लागू करने का निर्णय लिया।

जिला मंत्री विनोद पूनियां ने बताया कि प्रदेश की वर्तमान सरकार के कार्यकाल को ढाई वर्ष से अधिक समय हो गया है। संगठन ने समय-समय पर धरना-प्रदर्शन एवं ज्ञापन के माध्यम से सरकार का ध्यान शिक्षकों की वाजिब मांगों की ओर आकर्षित किया है लेकिन सरकार ने शिक्षकों की मांगों की ओर कोई ध्यान नही दिया है, जिससे प्रदेश के शिक्षकों में सरकार के खिलाफ रोष है।

इसलिए संगठन की प्रान्तीय बैठक में शिक्षकों की 16 सूत्रीय मांगों को लेकर आन्दोलन का का ऐलान किया गया है। वरिष्ठ उपाध्यक्ष भोमाराम गोयल ने बताया आन्दोलन के प्रथम चरण में एक जुलाई को जिला कलक्टर के माध्यम से आंदोलन का नोटिस दिया जाएगा। द्वितीय चरण में तीन से पांच जुलाई तक ट्विटर अभियान चलाया जाएगा। उपाध्यक्ष अशोक वासु ने बताया कि आन्दोलन के तृतीय चरण में ९ जुलाई को सीबीईओ के माध्यम से आंदोलन का नोटिस दिया जाएगा। उपाध्यक्ष अनिल परमार ने बताया आन्दोलन के चतुर्थ चरण में 10 से 18 जुलाई को विधायकों को ज्ञापन दिए जाएंगे। धोरीमन्ना अध्यक्ष मणिराज सिंह चारण ने बताया कि आन्दोलन के पांचवे चरण में 15 जुलाई को विद्यालय स्तर पर भोजनावकाश समय में मांगों के प्लेकार्ड, पोस्टर तथा बैनर के साथ विद्यालय द्वार पर संक्षिप्त विरोध सभा की जाएगी तथा साथ ही अखिल भारतीय राज्य सरकारी कर्मचारी संयुक्त महासंघ के राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत महासंघ के मुद्दों को भी उठाया जाएगा।

गडरारोड मंत्री शंकर लाल बालाच ने बताया कि आन्दोलन के छठेें चरण में 26 जुलाई को प्रदेश के ब्लॉक मुख्यालयों पर धरना/प्रदर्शन कर ज्ञापन दिए जाएंगे। आन्दोलन के सातवे चरण में ३ अगस्त को जिला मुख्यालयों पर धरना/ विरोध प्रदर्शन कर ज्ञापन दिए जाएंगे। आठवें चरण में अगस्त के द्वितीय पखवाड़ा या सितंबर के प्रारंभ में राज्य स्तरीय रैली की जाएगी।

कल्याणपुर अध्यक्ष हीरालाल पन्नू ने बताया कि आंदोलन के लिए लगातार संभागीय बैठक आयोजित की जा रही हैं, उसके बाद जिला कार्यकारिणी एवं उप शाखाओं की बैठक आयोजित कर आन्दोलन को जमीनी स्तर पर अमलीजामा पहनाने की रणनीति तैयार की जाएगी।

Dilip dave Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned