पाक आइएसआइ की मदद से अफगानिस्तान से भारत पहुंच रही हेरोइन!

- बाड़मेर वर्ष-1995 के बाद अब तक 131 किलोग्राम हेरोइन हुई बरामद, वर्ष 2015 के बाद 40 किलोग्राम हेरोइन खेप बरामद करने में पुलिस सफल

By: भवानी सिंह

Updated: 17 Jul 2021, 08:05 PM IST

बाड़मेर.
भारत-पाक पश्चिमी सरहद पर सीमा पार से आ रही हेरोइन की खेप अफगानिस्तान से भारत पहुंच रही है। यह हेरोइन (मादक ड्रग) पाकिस्तान इंटेलीजेंस एजेंसी आइएसआइ की मदद से कारोबार चल रहा है। साथ ही पाक आइएसआइ तस्करी के साथ-साथ भारतीय सुरक्षा से जुड़ी गतिविधियों की सामरिक महत्व सूचनाएं भी जुटा रही है। बाड़मेर जिले में वर्ष 1995 के बाद अब तक पश्चिमी सीमा पार से 131 किलोग्राम बरामद करने में पुलिस व सुरक्षा एजेंसियां सफल हुई है। इसके बावजूद लगातार हेरोइन की खेप पहुंच रही है। दरअसल, वर्ष 2015 के बाद भी 40 किलोग्राम हेरोइन की बरामदगी हुई है।


यों तैयार होती है हेरोइन
सूत्रों से मिली जानकारी में सामने आया है कि अफगानिस्तान में अफीम की खेती बड़े स्तर पर होती है। यहां अफीम के 10 किलोग्राम दूध से एक किलोग्राम हेरोइन मादक पदार्थ तैयार किया जाता है। अफीम में 12 फीसदी मार्फीन पाई जाती है, जिसको प्रसंस्कृत (प्रोसेस) करने हेरोइन मादक द्रब्य (ड्रग) तैयार किया जाता है। उसके बाद इसे अन्य देशों में सप्लाई की जा रही है।


पाक के रास्ते पहुंचती है भारत
अफगानिस्तान हेरोइन की सप्लाई आइएसआइ के जरिए पाक पहुंचती है, जहां आइएसआई पाक कूरियर के माध्यम बनकर यह सप्लाई भारत पहुंचाने में कामयाब हो जाता है। सीमा पार से आई हेरोइन की खेप पंजाब के तस्करों तक पहुंचती है। पंजाब व पाकिस्तान तस्करों के बीच लंबे समय से गठजोड़ है। यह भी जानकारी में सामने आया है कि पाक आइएसआइ अफगानिस्तान में हेरोइन खुद भी तैयार करवाती है।
---


बाड़मेर में अब तक बरामद हेरोइन
- वर्ष 2021 में दो सप्ताह पुलिस एटीएस ने कार्रवाई करते 23 किलोग्राम हेरोइन बरामद कर तस्करों को गिरफ्तार किया।
- वर्ष 2020 में अलग-अलग हुई दो कार्रवाई में पुलिस व एटीएस ने 9 किलो 740 ग्राम हेरोइन बरामद हुई।
- वर्ष 2017 में सदर पुलिस ने 4 किलो 440 हेरोइन बरामद की गई, लेकिन जांच में हेराइन नहीं पाई गई। इसी वर्ष बाखासर पुलिस ने 423 ग्राम हेरोइन बरामद की।
- वर्ष 2015 में बिजराड़ पुलिस ने अलग-अलग कार्रवाई में 2 किलो 800 ग्राम बरामद की।
- वर्ष 2009 में बाखासर पुलिस ने 15 किलोग्राम बरामद की।
- वर्ष 2005 में रामसर पुलिस ने 14 किलो 650 किलोग्राम बरामद की गई।
- वर्ष 2002 में बिजराड़ पुलिस थाना ने 27 किलोग्राम हेरोइन बरामद की।
- वर्ष 2000 में बाखासर पुलिस ने 17 किलो 700 ग्राम हेरोइन बरामद।
- वर्ष 1996 में गुड़ामलानी व गिराब पुलिस ने 9 किलोग्राम 840 ग्राम बरामद।
- वर्ष- 1995 में रामसर, गडरारोड व कोतवाली थाना पुलिस ने 7 किलो 120 ग्राम हेरोइन बरामद की। जांच में करीब 4 किलो हेरोइन की बजाय पाउडर निकला।
----

भवानी सिंह
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned