मॉडल स्कू  ल के मास्टर बनने की चार माह से अटकी आस

- मॉडल स्कूलों में जाने के इच्छुक सैकड़ों शिक्षकों को साक्षात्कार के परिणाम का इंतजार
- मार्च में आयोजित हुआ साक्षात्कार, अब तक नहीं चयन सूची

By: Dilip dave

Published: 29 Jul 2021, 01:01 AM IST



बाड़मेर. प्रदेश में संचालित अंग्रेजी माध्यम के स्वामी विवेकानंद मॉडल स्कूलों के रिक्त पदों को राज्य सरकार के शिक्षा विभाग में कार्यरत शिक्षकों व अन्य कर्मचारियों से साक्षात्कार के माध्यम से प्रतिनियुक्ति से भरे जाते हैं। रिक्त होने वाले पदों को भरने के लिए साक्षात्कार का आयोजन किया जाता है, जिससे प्रतिनियुक्ति पर जाने के बाद न्यूनतम एक वर्ष व अधिकतम 4 वर्ष तक सेवा देने का प्रावधान है।

उसके बाद शिक्षकों को अपने इच्छित स्थान पर पदस्थापन का विकल्प भी मिलता है। इस बार भी मार्च में साक्षात्कार तो हो चुका है लेकिन अभी तक सूची जारी नहीं हुई है। इस पर शिक्षक मॉडल स्कू  ल में मास्टरजी बनने का इंतजार कर रहे हैं। प्रदेश के 134 मॉडल स्कूलों में रिक्त चल रहे अध्यापक, वरिष्ठ अध्यापक, व्याख्याता, प्रिंसिपल, प्रयोगशाला सहायक, पुस्तकालय अधीक्षक सहित विभिन्न प्रकार के पदों को भरने के लिए 15 से 24 मार्च तक साक्षात्कार आयोजित किया गया था। इसके बाद उम्मीद थी कि जल्द ही साक्षात्कार के बाद प्रतिनियुक्ति के लिए चयनित शिक्षकों की सूची जारी होगी लेकिन साक्षात्कार के 4 माह बीतने के बाद भी परिणाम व चयन सूची जारी नहीं की गई है। एक तरफ मॉडल स्कूलों में जाने के इच्छुक शिक्षक जो साक्षात्कार दे चुके हैं, उनको परिणाम का बेसब्री से इंतजार है तो दूसरी ओर मॉडल स्कूलों में कार्यरत शिक्षकों को पद भर जाने पर अपने इच्छित स्थान पर पदस्थापन का भी इंतजार है। घर के पास जाने का विकल्प- कुछ शिक्षकों को प्रतिबंधित जिलों में नियुक्ति पर स्थानांतरण नहीं होने के कारण घर के नजदीक जाने के लिए मॉडल स्कूलों में सेवा देने का विकल्प मिलता है। साथ ही एक बार मॉडल स्कूल में सेवा देने के बाद वापिस इच्छित स्थान पर पदस्थापन का मौका भी मिलता है। एेसे में ये शिक्षक प्रतिनियुक्ति पर जाने के लिए इच्छुक है। हर वर्ष ली जाती सहमति- मॉडल स्कूल में 1 वर्ष तक सेवा देने के बाद आगे लगातार सेवा जारी रखने के लिए प्रति वर्ष सहमति ली जाती है। यदि कोई असहमति देता है तो उनके स्थान पर नए स्टाफ की पोस्टिंग होने के बाद ही उसे कार्यमुक्त किया जाता है।

अधिकतम 4 वर्ष से ज्यादा किसी भी स्टाफ को प्रतिनियुक्ति पर नहीं रखा जाता है। ऐसे में असहमति दे चुके सैकड़ों वरिष्ठ अध्यापक व व्याख्याताओ को भी परिणाम का इंतजार है। क्योंकि उनकी जगह पोस्ट भरने के बाद ही उनको अन्यत्र पदस्थापन का मौका मिलेगा।

एक स्टेप ऊपर के पद पर भी नियुक्ति- मॉडल स्कूल में प्रतिनियुक्ति पर जाने के लिए अपने पद से एक स्टेप ऊपर के पद पर भी आवेदन किया जा सकता है। जैसे अध्यापक को वरिष्ठ अध्यापक व वरिष्ठ अध्यापक को व्याख्याता पद पर भी प्रतिनियुक्ति दी जा सकती है, बशर्ते उसके पास संबंधित विषय की योग्यता होनी चाहिए।

इन पदों के लिए हुए साक्षात्कार- प्रदेश में मॉडल स्कू  लों में प्रतिनियुक्ति को लेकर प्रधानाचार्य के 29, व्याख्याता के 424, वरिष्ठ अध्यापक के 364, प्रयोगशाला सहायक के 236, पुस्तकालय अधीक्षक के 59, वरिष्ठ सहायक के 80 तथा कनिष्ठ सहायक के 102 पदों के लिए साक्षात्कार मार्च २०२१ में हुए थे।

शीघ्र जारी हो पदस्थापन आदेश- प्रदेश के स्वामी विवेकानंद राजकीय मॉडल स्कूलों में साक्षात्कार के बाद चयनित शिक्षकों के परिणाम शीघ्र जारी किए जाएं जिससे कि इच्छुक शिक्षकों को पदस्थापन मिल सके। साथ ही रिक्त चल रहे पद भी समय पर भरे जा सके।- बसन्त कुमार जाणी, जिलाध्यक्ष, राजस्थान वरिष्ठ शिक्षक संघ, रेस्टा
जल्द ही सूची होगी जारी- मॉडल स्कू  ल में साक्षात्कार की सूची एक-दो दिन में जारी होने की उम्मीद है। हमारे यहां से सूची शिक्षा विभाग को भिजवाई जा चुकी है।-डॉ. भंवरलाल, राज्य परियोजना निदेशक समग्र शिक्षा

Dilip dave Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned