ब्याज का विवाद, घर ले जाकर मौत के घाट उतारा, जानिए पूरी खबर

ब्याज का विवाद, घर ले जाकर मौत के घाट उतारा, जानिए पूरी खबर
Murder disclosure, arresting accused

bhawani singh | Updated: 19 Jul 2019, 05:56:58 PM (IST) Barmer, Barmer, Rajasthan, India

साइबर सेल की रही अहम भूमिका, मुख्य आरोपी गिरफ्तार, सहयोगी नाबालिग दस्तयाब, सनावड़ा ब्लाइंड मर्डर का 24 घंटों में खुलासा

 

बाड़मेर. सनावड़ा सरहद में युवक की हत्या कर शव कट्टे में बांध वाहन को आग के हवाले करने की वारदात का बाड़मेर पुलिस ने दूसरे दिन गुरुवार को पर्दाफाश किया। मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करने के साथ सहयोगी नाबालिग को दस्तयाब किया। आरोपियों ने लेनदेन के बाद ब्याज को लेकर विवाद के चलते साजिश रचकर युवक की हत्या की थी।

पुलिस अधीक्षक शिवराज मीना के अनुसार शिवकर निवासी वगताराम पुत्र भोपाराम की हत्या के मामले में पुलिस ने महज 24 घंटे में पर्दाफाश कर मुख्य आरोपी अजीज खान उर्फ लालू पुत्र अलीखान निवासी बामणोर व एक बाल अपचारी को नामजद किया। आरोपी ने पुलिस पूछताछ में कबूल किया है कि मृतक वगताराम का वाहन किराए के बहाने बामणोर लेकर गए। जहां रात में साथ में शराब पीने के बाद फावड़े (दंताणी) व चाकू से वार कर हत्या की वारदात को अंजाम दिया।

 

मृतक रोज आता था ब्याज मांगने
पुलिस जांच में सामने आया है कि मृतक व आरोपी के बीच लंबे समय से लेनदेन चल रहा था। वर्तमान में मृतक 15 हजार रुपए मांग रहा था। उसका ब्याज प्रतिदिन सौ रुपए के हिसाब लेने पहुंच जाता था। वारदात के पांच दिन पहले ब्याज को लेकर मृतक व आरोपी के बीच विवाद हो गया। आरोपियों ने हत्या की साजिश रची और युवक को साथ लेकर वाहन किराए के बहाने गांव ले पहुुंचे। जहां सहयोगी के साथ वारदात को अंजाम दिया। उसके बाद शव को मृतक की पिकअप में डालकर सनावड़ा सरहद में हाइवे पर खड़ा कर आग के हवाले कर दिया। दोनों आरोपी बाइक पर सवार होकर शिवकर पहुंच गए।

 

सूरत से पुलिस ने दबोचा
मुख्य आरोपी अजीज खान वारदात को अंजाम देने के बाद मृतक के गांव में संचालित अपने तबेले पर पहुंच गया। यहां कपड़े बदलकर रवाना हो गया। पुलिस का शक होने पर पहले बॉर्डर की तरफ गया। इसके बाद आरोपी को भनक लग गई कि पुलिस पीछा कर रही है। इसलिए रात को बस से सूरत के लिए रवाना हो गया। पुख्ता जानकारी पर आरोपी की तलाश में स्पेशल टीम प्रभारी प्रदीप डांगा व टीम सूरत रवाना हो गए। उन्होंने आरोपी के सूरत पहुंचते ही दबोच लिया।

 

इनका रहा विशेष योगदान
एसपी मीना ने बताया कि वारदात का खुलासा करने में एएसपी खींवसिंह भाटी के निर्देशन में सदर सीआइ किशनलाल, धोरीमन्ना एसआइ प्रदीप डांगा, लूणाराम, हनुमानराम, घमण्डाराम, तनसिंह, वीरमखान व साइबर सेल प्रभारी पन्नाराम प्रजापत, ओमप्रकाश, मेहाराम व प्रेमाराम की विशेष भूमिका रही।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned