scriptजर्जर जीएलआर में जलापूर्ति, हर वक्त हादसे के डर के बीच पानी भरने को मजबूर ग्रामीण | Patrika News
बाड़मेर

जर्जर जीएलआर में जलापूर्ति, हर वक्त हादसे के डर के बीच पानी भरने को मजबूर ग्रामीण

शिव क्षेत्र के उपतहसील भिेयाड के कोटड़ियों की ढाणी स्थित क्षतिग्रस्त व जर्जर जीएलआर में पेयजल आपूर्ति होने से कभी भी हादसा हो रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में वर्षों पृर्व जलदाय विभाग की ओर से जीएलआर का निर्माण करवाया था।चार-पांच माह पूर्व छत भड़भड़ाकर गिर गई।

बाड़मेरJun 24, 2024 / 12:08 am

Dilip dave

को​टडि़यों की ढाणी ​भिंयाड़ का मामला

शिव क्षेत्र के उपतहसील भिेयाड के कोटड़ियों की ढाणी स्थित क्षतिग्रस्त व जर्जर जीएलआर में पेयजल आपूर्ति होने से कभी भी हादसा हो रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में वर्षों पृर्व जलदाय विभाग की ओर से जीएलआर का निर्माण करवाया था।चार-पांच माह पूर्व छत भड़भड़ाकर गिर गई।

जीएलआर का नहीं किया निस्तारण

उसके बाद विभागीय अधिकारियों को अवगत करवाकर क्षतिग्रस्त जीएलआर के निस्तारण की मांग की थी। मांग के बावजूद भी विभाग की ओर से क्षतिग्रस्त जीएलआर का निस्तारण नहीं किया वहीं उसमें पेयजल आपूर्ति की जा रही है। जिससे कभी भी हादसा हो सकता है।

अ​धिकारी बोले- प्रस्ताव भेजा हुआ

”क्षतिग्रस्त जीएलआर को नाकारा घोषित करने के साथ ही नया जीएलआर बनाने का प्रस्ताव भेजा हुआ है। गांव में दूसरा स्त्रोत नहीं होने से जलापूर्ति की जा रही है। जलापूर्ति के दिन कार्मिक को वहां उपस्थित रहने के लिए पाबंद किया जाता है।” महेन्द्र कुमार, कनिष्ठ अभियंता भिंयाड़

Hindi News/ Barmer / जर्जर जीएलआर में जलापूर्ति, हर वक्त हादसे के डर के बीच पानी भरने को मजबूर ग्रामीण

ट्रेंडिंग वीडियो