बायतु में खेमाबाबा मंदिर के जीर्णोद्धार का कार्य शुरू

मारवाड़ के लोक देवता सिद्ध श्री खेमा बाबा के भव्य मंदिर का 3 करोड़ 9 लाख रुपए की लागत से जीर्णोद्धार का कार्य शुरू हो गया है। बायतु मुख्यालय पर बने खेमा बाबा के मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए राजस्व मंत्री हरीश चौधरी की अनुशंसा पर राज्य सरकार ने कुल 3.50 करोड़ रुपए की स्वीकृति जारी की थी जिनकी डिजाईन बनने के बाद कुल लागत 3 करोड़ 9 लाख रुपए निर्धारित की गई जिसका सरकार ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के माध्यम से टेंडर निकाल कर वर्क ऑर्डर भी जारी कर दिया।

By: Ratan Singh Dave

Published: 26 Oct 2020, 12:14 PM IST

बायतु- मारवाड़ के लोक देवता सिद्ध श्री खेमा बाबा के भव्य मंदिर का 3 करोड़ 9 लाख रुपए की लागत से जीर्णोद्धार का कार्य शुरू हो गया है। बायतु मुख्यालय पर बने खेमा बाबा के मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए राजस्व मंत्री हरीश चौधरी की अनुशंसा पर राज्य सरकार ने कुल 3.50 करोड़ रुपए की स्वीकृति जारी की थी जिनकी डिजाईन बनने के बाद कुल लागत 3 करोड़ 9 लाख रुपए निर्धारित की गई जिसका सरकार ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के माध्यम से टेंडर निकाल कर वर्क ऑर्डर भी जारी कर दिया। खेमा बाबा मंदिर के जीर्णोद्धार के निर्माण कार्य के लिए वर्क ऑर्डर जारी होने के बाद रविवार से धरातल पर कार्य की गतिविधियां भी शुरू हो गई।

56 फीट तक होगी ऊंचाई- खेमा बाबा मंदिर की धरातल से कलश शिखर तक कुल ऊंचाई 56 फीट तक की होगी वहीं मन्दिर की कुल लंबाई एक सौ फीट व चौड़ाई 64 फीट की होगी जिसमें गर्भ गृह, रंग मंडप व तीन चौकियों का निर्माण होगा। मन्दिर निर्माण में विशेष बात यह रहेगी कि रंग मंडप का निर्माण पश्चिमी भारतीय शैली का बनेगा जो देखने में बहुत ही आकर्षक होगा।

मुख्य द्वार के अलावा दो अन्य गेट बनेंगे- खेमा बाबा मंदिर के जीर्णोद्धार के दौरान एक मुख्य द्वार बनेगा जिस पर बड़ी प्रोल बनेगी वहीं उसके अलावा दो अन्य आजू बाजू में गेट भी बनेंगे वहीं गर्भ गृह की वर्तमान साईज को भी बढाकर बड़ा बनाया जाएगा। श्रद्धालुओं के लिए गर्भ गृह की परिक्रमा के लिए पांच फीट की गेलेरी बनेगी मगर उसके बाद एक ओर बड़ी परिक्रमा गेलेरी भी बनेगी ताकि मेले के दौरान या कभी भी ज्यादा भीड़ होने की स्थिति में उसका उपयोग किया जा सके।

अस्सी मीटर की दीवार रोकेगी धोरे की मिट्टी को- मन्दिर के ठीक पीछे रेतीला बड़ा धोरा होने के कारण मिट्टी का खिसक कर हर साल मन्दिर के पिछले हिस्से पर आ जाती हैं मगर अब मन्दिर के जीरणोद्धार के दौरान मन्दिर के गर्भ गृह से पंद्रह फीट पीछे करीब अस्सी मीटर लंबी चौदह फीट ऊंची व डेढ़ फीट मोटी प्रोटेक्शन दीवार का निर्माण होगा जो मन्दिर के पीछे धोरे की मिट्टी की बढ़त को रोकेगी। इस दीवार के बन जाने के बाद आंधियों से मिट्टी की बढ़त पूरी तरह से रुक जाएगी।

53 साल पहले चढाया था कलश- खेमा बाबा के वर्तमान में बना मन्दिर का कलश करीब 53 साल पूर्व 8 फ़रवरी 1968 को चढाया था उसके बाद लगातार पूरे मारवाड़ ही नहीं अपितु देश - प्रदेश भर से श्रद्धालु पूजा के लिए यहां आते हैं।

सुजाना राम अधिशाषी अभियंता पीडब्लयूडी खंड बायतु- दो साल में निर्माण कार्य होगा पूरा- खेमा बाबा मंदिर का जीर्णोद्धार कार्य के लिए टेंडर निकाल कर वर्क ऑर्डर जारी हो गया जिसके बाद अब इसका निर्माण कार्य का काम शुरू कर दिया है। करीब दो साल की समयावधि में यह बनकर तैयार हो जायेगा।


चेनाराम कड़वासरा अध्यक्ष खेमा बाबा मंदिर कमेटी- मारवाड़ के लोक देवता सिद्ध श्री खेमा बाबा मंदिर का जीर्णोद्धार होने के बाद यह भव्य मंदिर बनेगा जो यहां आने वाले हर श्रद्धालु को अपनी ओर आकर्षित करेगा। राज्य सरकार द्वारा बजट जारी करने के बाद अब कार्य की प्रक्रिया शुरू हो गई है।


आसूराम बेरड़ पूर्व सरपंच बायतु भेापजी- बायतु मुख्यालय पर बने खेमा बाबा के मंदिर के भव्य निर्माण के लिए लंबे समय से आवश्यकता थी जिसको राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने अनुशंसा कर स्वीकृत करवा कर काम शुरू करवाया जो बहुत ही सराहनीय कार्य है।


डूंगर राम काकड़ सचिव खेमा बाबा मंदिर कमेटी- खेमा बाबा मंदिर के जीरणोद्धार के लिए कार्य शुरू हो गया है। अब बायतु मुख्यालय पर खेमा बाबा का भव्य मंदिर बनेगा वहीं इसके बाद मास्टर प्लान बनाकर मन्दिर परिसर के आसपास पर्यटन स्थल के रूप में भी विकसित किया जायेगा।

Ratan Singh Dave
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned