टीईटी परीक्षाः मनमानी करने पर स्टैटिक मजिस्ट्रेट पर कार्यवाई, डिवाइस के साथ पकड़ायी अभ्यर्थी

अपने स्थान पर दूसरे कर्मचारी को कर दिया था तैनात, काशी नरेश राजकीय महाविद्यालय में प्रथम पाली में दे रही थी परीक्षा

भदोही. शिक्षक पात्रता परीक्षा में ड्यूटी को लेकर मनमानी करना भूमि संरक्षण अधिकारी कमलजीत सिंह को भारी पड़ गया। जिलाधिकारी विशाख जी ने निरीक्षण के दौरान गड़बड़ी मिलने पर अधिकारी के खिलाफ प्रतिकूल प्रविष्टि की कार्यवाई की है। अधिकारी कमलजीत सिंह को टीईटी परीक्षा में स्टैटिक मजिस्ट्रेट के तौर पर तैनात किया गया था लेकिन जिलाधिकारी जब परीक्षा का निरीक्षण करने इंद्र बहादुर नेशन इंटर कालेज पहुंचे तो वहां स्टैटिक मजिस्ट्रेट अनुपस्थित मिले और उनके स्थान पर भूमि संरक्षण के वरिष्ठ सहायक ग्रुप बी ज्ञानप्रकाश पाए गए। इस मनमानी पर जिलाधिकारी ने अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि देने का निर्देश दिया। वहीं, काशी नरेश राजकीय महाविद्यालय में टीईटी की प्रथम पाली की परीक्षा के दौरान एक महिला अभ्यर्थी कान में एक डिवाइस लगाए पकड़ायी। इसके बाद डिवाइस सील कर अभ्यर्थी को रिस्टीकेट कर दिया गया।

जिला प्रशासन द्वारा जनपद में शिक्षक पात्रता परीक्षा शान्तिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने का दावा किया गया है। जनपद में कुल सात परीक्षा केन्द्र ज्ञानदेवी बालिका इंटर काॅलेज भदोही, काशी नरेश राजकीय स्नाकोत्तर महाविद्यालय ज्ञानपुर, काशी राज महाविद्यालय इंटर काॅलेज औराई, केशव प्रसाद राजकीय महिला डीग्री काॅलेज औराई, राम सजीवन इंटर काॅलेज खमरियां परीक्षा केन्द्र बनाया गया था। इन परीक्षा केन्द्रों पर कुल 7784 परीक्षार्थियों को शामिल होना था, जिसमें 5933 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए और 1851 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे।

 

प्राथमिक स्तर के पात्रता परीक्षा में 3027 अभ्यर्थी पंजीकृत रहे और 2083 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दिया व 944 अनुपस्थित रहे। वहीं उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में पंजीकृत 4757 में से 3850 परीक्षार्थी शामिल रहे और 907 अनुपस्थित रहे। परीक्षा केंन्द्रों पर तमाम परीक्षार्थी मूल प्रमाण पत्रों के आभाव में गेट के अंदर प्रवेश नहीं कर सके, जबकि एडमिट कार्ड पर निर्देश दिया गया था कि परीक्षा में प्रमाण पत्र के साथ पहुंचना हैं। लेकिन गम्भीरता से एडमिट कार्ड के निर्देश न पढ़ पाने के कारण परीक्षार्थियों को परीक्षा से वंचित होना पड़ा।

 

परीक्षा को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए सभी परीक्षा केन्द्रों पर स्टैटिक मजिस्ट्रेट तैनात किये गये थे। परीक्षा केन्द्र के निरीक्षण के लिए दो सचल दल बनाये गये थे। परीक्षा केन्द्रों पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए पर्याप्त फोर्स तैनात की गयी थी। जिलाधिकारी विशाखजी व पुलिस अधीक्षक सचिन्द्र पटेल परीक्षा पर नजर बनाए हुए थे और केंद्रो का निरीक्षण भी किया।

 

परीक्षा में डिवाइस के साथ पकड़ी गई महिला अभ्यर्थी

शिक्षक पात्रता परीक्षा में एक महिला अभ्यर्थी ने नकल के लिए इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस उपयोग कर नकल विहीन परीक्षा के दावों पर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर दिया। महिला को डिवाइस का प्रयोग करते प्रेक्षकों की टीम ने पकड़ लिया और उसे परीक्षा से वंचित कर दिया। बताया जा रहा है कि काशी नरेश राजकीय महाविद्यालय में टीईटी की प्रथम पाली की परीक्षा में एक महिला ने कान के पास अतिसूक्ष्म डिवाइस लगा रखा था। इस दौरान केंद्र पर धमकी प्रेक्षकों की टीम की नजर उस महिला पर गयी। महिला बार-बार गर्दन टेढ़ा कर रही थी। महिला की गतिविधि सन्दिग्ध थी जिसपर चेकिंग किया गया तो उसके पास से एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पकड़ा गया। इस बारे में प्राचार्य डाॅ. रमेश चन्द्र यादव ने बताया कि महिला अभ्यर्थी को रिस्टीकेट कर दिया गया है और डिवाइस जब्त उसे सील कर दिया गया है।

by Mahesh Jaiswal

 

वाराणसी उत्तर प्रदेश
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned